Connect with us

Exclusive

कृपया गाय को कलंकित ना करें !

Published

on

दादरी से लेकर अलवर तक जो मनुष्य की कथित हत्या का जो मामला सामने आया है उसकी वजह गाय है, जिसे हम श्रद्दा से गौमाता कहते हैं । गौमाता को लेकर गौरक्षकों की सेना पता नहीं हाल- फिलहाल के दिनों में कहां से खड़ी हो गई? प्रधानमंत्री ने भी इस बात को भांप लिया है और उन्होंने ये कहने में देर नहीं कि इस देश में गौरक्षा के नाम पर हो रहा गोरखधंधा बन्द होना चाहिए । बंद तो अवैध बूचड़खाने भी होने चाहिए सो यूपी के सीएम ने सबसे पहले रातों- रात अवैध बूचड़खाने बंद करा दिये ।  तो एक तरफ हजारों लोगों के बेरोजगार होने का मुद्दा उठा कर सड़क से लेकर सोशल-नेटवर्किंग साइट तक लोगों ने आंदोलन छेड़ रखा है । एक तरफ गाय के नाम पर हो रही हत्या को लेकर राजनीतिक दल अपनी रोटियां सेंकने का कोई मौका नहीं जाने देना चाहती । इसके समाधान से किसी को कोई मतलब नहीं है बस समस्या बनी रहे । इससे बहाने मीडिया को भी मसाला मिल रहा है उसके एंकर चीख -चीख कर टीआरपी बटोर रहे हैं ।

अब जो देश का आम आदमी है उसकी चिंता ये है करें तो करें क्या ? एक वर्ग कहता है बीफ के नाम पर गायों का कत्लेआम बंद होना चाहिए  । एक वर्ग कहता है कि बीफ के कारोबार बंद हो गया तो उनकी रोजी -रोटी का क्या होगा । कहीं  बीफ के नाम पर एक वर्ग विशेष का टारगेट किया जा रहा है तो कहीं बीफ के धंधे में उस संप्रदाय के लोग शामिल है जिनके धर्म में गाय का माता का दर्जा हासिल है । इस बीच कुछ पाश्चात्य  विद्वानों ने ये मत रख दिया की जुगाली करने के दौरान गायें जो डकार छोड़ती है उससे मीथेन गैस निकलती है जिसके कारण सबसे ज्यादा नुकसान ओजोन परत को होता है ।

Related image

इन सब बातों से बेखर गौ-माता दूध लगातार दे रही हैं लोगों का स्वास्थ्य बन रहा है । गौमाता के गोबर से भूमि उर्वरा हो रही है । गोबर का इस्तेमाल ईधन में भी हो रहा है । गोमूत्र  से दवाईंयां भी बन रही है । गाय की मृत्यु के बाद उसके चमड़े का भी इस्तेमाल हो रहा है । गाय की तरफ से ऐसी कोई बंदिश नहीं है कि उसका इस्तेमाल सिर्फ हिंदू करेगा या फिर सिर्फ मुसलमान करेगा या फिर फला जाति के लोग ही करेंगे  । हर संप्रदाय के लोग गाय के गुणों क लाभ ले रहे हैं ।

अब आइये गाय के पौराणिक महत्व को भी समझ लेते हैं । हिंदुओं की मान्यता है कि गाय के शरीर में 33 करो़ड़ देवी -देवताओं का वास है । कुछ हिंदु विद्वान इसे अनंत गुणों के जोड़ कर देखते हैं । हिंदु पौराणिक मान्यताओं के अनुसार इस धरती पर गाय अमृत मंथन से प्रगट हुई थी । जिसे कामधेनु के नाम से जाना गया ।  भगवान राम के गुरू वशिष्ट के आश्रम में रहती थी कामधेनु । जिसे प्राप्त करने के लिए राजा विश्वामित्र ने बलपूर्वक  प्रयास किया लेकिन कामधेनु को वो हासिल ना सकें । कामधेनु के सामने अपने सारे वैभव को बौना पाकर कर विश्वामित्र राजा से ऋषि बन गये । यानी एक गाय ने अहंकारी मनुष्य को संत बनने पर मजबूर कर दिया ।

 

Image result for gau raksha attacks

फिर एक पौराणिक कथा है देश के सबसे प्रसिद्द तिरूपति बालाजी की । जहां भगवान विष्णु एक अंधेरी गुफा में अज्ञातवास कर रहे थे । तब शिव और ब्रम्हा धऱती पर गाय औऱ बछड़े के रूप में वहां रह कर भगवान को अपना दूध पिलाने लगे । जब उनके ग्वाले ने देखा की गाय अपना सारा दूध रोज उस गुफा पर उतार देती है तो गुस्से से आग बबूला हो ग्वाले ने अपनी कुल्हाड़ी शिव रुप धारी गाय पर दे मारी । तब ध्यान में मग्न विष्णु , गाय और कुल्हाड़ी के बीच आ गये और उनके माथे पर घाव बन गया । तब लेकर अब तक तिरुपति बालाजी के माथे पर चंदन का लेप लगाने की  परंपरा बन गई ।  भगवान चाहते तो ग्वाले को मार सकते थे लेकिन ग्वाले के गुस्से और अज्ञानता को उन्होंने अपने ऊपर ले लिया ।  गाय के नाम पर तो मौका पाकर भी भगवान ने नर संहार नहीं किया ।

भगवान कृष्ण ग्वाल बाल थे । गौ के सबसे बड़े रक्षक । गायों को सुरक्षित जंगल लेकर जाना और  लेकर आना उनका कतर्व्य था । लेकिन इस दौरान कभी ऐसी कोई कथा नहीं आती कि उन्होंने गाय के नाम पर किसी की हत्या की हो  । दूध देनवाली गाय भारत में कभी भी रक्त  पिपासु जीव नहीं रही । लेकिन मौजूदा दौर में नफरत की  हवा कुछ ऐसी चली है कि निर्दोष गाय पर मानव रक्त के दाग लग गये हैं ।

Image result for Cow Lynching India

कोई इन  गौ -रक्षकों समझाएं कि कि गौ की रक्षा ही करनी है कि  कृष्ण की तरह करें ।  ये चिंता करें की भूख के बिलबिलाती हमारी गौ-माता कैसे विषाक्त पोलीथीन को खा रही है । ये उनके साथ- साथ हमारे जीवन के लिए कितना ज्यादा खतरनाक है । कैसे गायें आवारा  सड़कों पर घूमती है और कोई भी वाहन उन्हें ठोकर मार कर निकल जाते हैं । कैसे इस देश में दर्जनों गायें रोज ट्रेनों के नीचे आकर और भारी वाहनों से टकरा कर मर जाती है । गायें जब दूध देना बंद कर देती है तो उनके मालिक उन्हें सड़कों पर खुला छोड़ देते हैं औऱ वो भूख- प्यास से  मर जाती हैं । अगर आप सच्चे गौ-रक्षक है  तो पहले उन भूखे- प्यास से तड़पती  गायों की चिंता करिये  ।

Image result for gau raksha attacks

इन कथित गौरक्षकों को कोई ये बताओं की जिस गाय को बचाने लिए भगवान विष्णु ने कुल्हाड़ी की मार सह ली थी उस गौ के नाम पर तुम किसी जान कैसे ले सकते हो? गाय कि रक्षा ही करनी है तो मथुरा के कृष्ण की तरह उसके भोजन का प्रबंध करो. उसके लिए पानी का प्रबंध करो, उसके लिए छाया का प्रबंध करों । एक गाय अहंकारी राजा विश्वामित्र को ऋषि बना सकती है तो उस गाय के नाम पर आप कैसे असुरों का व्यवहार कर सकते हो ?

अगर ये मानते हो कि गाय ये देवता वास करते हैं फिर उसके नाम पर दया और करूणा का प्रदर्शन करो । दादरी और अलवर की सच्चाई मुझे नहीं पता लेकिन लेकिन इतना पता है गाय इस धरती पर कभी भी मनुष्य के मृत्यु का कारण नहीं रही वो तो सदा सनातन से मानव की अमरता का, उसके अमृत्व का कारण रही है इसलिए सच्चे गौरक्षक बनो उसे नरसंहार के कथित कलंक से बचाओं । तभी बचेगी हमारी महान संस्कृति हमारी महान सभ्यता ।

 

Continue Reading
Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Crime

EXCLUSIVE VIDEO: चलती ट्रेन में स्कूली बच्चे कर रहे हैं जानलेवा स्टंट, देखिये का स्टंट एक दर्जन वीडियो

ये बच्चे डाकयार्ड रोड रेलवे स्टेशन पर रोज़ाना 12noon to 1.30pm के बीच स्टंट करते हैं और इसकी जानकारी रेलवे पुलिस को भी है. लेकिन कभी भी इन्हें रोकने या पकड़ने की कोशिश नहीं हुई.

Published

on

मुंबई में हर दूसरे दिन एक नया चलती ट्रेन में स्टंट का वीडियो वायरल होने लगता है. हर बार वीडियो वायरल होने के बाद कहा जाता है की कुछ असामाजिक तत्वा इस तरह की हरकत करते हैं और जान लेवा स्टंट करके उसे वायरल करते हैं. लेकिन पहली बार आप अपनी आँखों से देखेंगे की स्टंट करने वाले सिर्फ कुछ असामाजिक तत्व नहीं हैं. बल्कि मुंबई में इन दिनों स्कूल जाने वाले छोटे छोटे बच्चे भी अपनी ज़िंदगी से खिलवाड़ कर रहे हैं. स्टंट करने वाले ये सभी बच्ची स्कूलों में पढ़ाई करते हैं जिनकी उम्र 9 से 12 साल ही है. और रोज़ इसी तरह ये बच्चे स्कूल जाते समय और लौटते वक़्त को खुलेआम चुनौती देते हैं.

पहली बार हमने इन बच्चो को ट्रेन में इस तरह स्टंट करते हुए कैमरे में क़ैद किया है. हमने एक नहीं दो नहीं बल्कि आधे दर्जन बच्चों को इस तरह से स्टंट करते हुए देखा है. सभी बच्चों के कंधे पर स्कूल का बस्ता और सिर पर मंडरा रही मौत के स्टंट का वीडियो आपको भी हैरान कर देगा. इस वीडियो को मुंबई के डॉकयार्ड स्टेशन पर शूट किया गया है. जिसमे ये बच्चे इस तरह से स्टंट करते हुए दिखाई दे रहे हैं. रोज़ यात्रा करने वाले लोगों ने बताया की ये कोई एक दिन की बात नहीं है बल्कि हर रोज़ इसी तरह ये बच्चे डाकयार्ड रोड रेलवे स्टेशन पर रोज़ाना 12noon to 1.30pm के बीच स्टंट करते हैं और इसकी जानकारी रेलवे पुलिस को भी है. लेकिन कभी भी इन्हें रोकने या पकड़ने की कोशिश नहीं हुई.

दो दिन पहले भी लोकल ट्रेन में एक लड़के के जानलेवा स्टंट का वीडियो वायरल हुआ था. वीडियो हार्बर लाइन के सैंडहर्स्ट स्टेशन पर शूट किया गया था. मोबाइल से बनाए गए इस वीडियो में साफ दिखाई दे रहा है कि ट्रेन प्लेटफॉर्म से रवाना हो रही है और ये लड़का अपनी जान को जोखिम में डालकर स्टंट कर रहा है. चलती ट्रेन के साथ इस लड़के ने एक हाथ और एक पैर बाहर प्लेटफॉर्म पर लटका रखा था. ट्रेन आगे बढ़ती रही और ये लड़का जानलेवा स्टंट करता रहा. जब प्लेटफॉर्म से ट्रेन निकली तब जाकर ये ट्रेन के अन्दर चढ़ा. हालांकि स्टंट के दौरान जरा सी चूक से इस लड़के की जान जा सकती थी. उस वक़्त एक दूसरा आदमी मोबाइल से वीडियो बनाता रहा हालांकि वो विडियो में कहीं भी दिखाई नहीं दिया. ये पूरी घटना मंगलवार दोपहर की बताई जा रही है. वीडियो के सामने आने के बाद GRP और RPF ने लड़के की तलाश तेज़ कर दी है.

Continue Reading

Bollywood/Fashion

EXCLUSIVE: साजिद के बाद #Housefull4 से नाना पाटेकर की विदाई, तनुश्री मामले को लेकर प्रोड्यूसर पर था दबाव

बताया जा रहा है इस बाबत नाना पाटेकर को जानकारी दे दी गयी है. नाना चाहते थे की उन्हें भी पानी बात रखने का मौका मिले लेकिन ऐसा संभव नहीं हुआ. फिल्म के पूरे स्टारकास्ट ने इसके लिए साजिद नाडियाडवाला पर ज़बरदस्त दबाव बनाया था.

Published

on

फिल्ममेकर साजिद नाडियाडवाला की कॉमेडी सीक्वल फिल्म हाउसफुल 4 अचानक से मुश्किलों में फंसती नजर आ रही है. जिस सुबह फ्रेंचाइजी के डायरेक्टर साजिद खान, जिनके खिलाफ #MeToo मूवमेंट के तहत यौन उत्पीड़न का आरोप था उनके बाद एक और बड़े नाम की विदाई तय हो है.

सूत्र बताते हैं की फिल्म से नाना पाटेकर को भी बाहर कर दिया गया है. जिसकी बड़ी वजह तनुश्री दत्ता मामला है. फिल्म के एक बड़े लीड ने प्रोड्यूसर पर इसके लिए डब्बाव बनाया था. उन्होंने साफ़ कर दिया था की अगर फिल्म से ये लोग बाहर नहीं जाते हैं तो वो बाहर जाने को तैयार हैं. हालंकि प्रोड्यूसर थोड़ा समय चाहते थे, लेकिन इस बड़े स्टार ने साफ़ मना कर दिया था.

बताया जा रहा है इस बाबत नाना पाटेकर को जानकारी दे दी गयी है. नाना चाहते थे की उन्हें भी पानी बात रखने का मौका मिले लेकिन ऐसा संभव नहीं हुआ. फिल्म के पूरे स्टारकास्ट ने इसके लिए साजिद नाडियाडवाला पर ज़बरदस्त दबाव बनाया था.

सूत्रों की मानें तो इससे हाउसफुल के प्रोड्यूसर साजिद नाडियाडवाला को बेहद नुकसान पहुंचता नजर आ रहा है. सूत्रों के मुताबिक हाउसफुल 4 फिल्म की शूटिंग अपने 3 शेड्यूल में लगभग 60 प्रतिशत खत्म हो चुकी है. वहीं फिल्म के चौथे शेड्यूल की शूटिंग मुंबई में आज से लोखंडवाला में शुरू हो चुकी है. जिसकी लगभग कीमत 14 करोड़ है.

वहीँ तनुश्री दत्ता भी नाना पाटेकर को हर तरफ से घेर रहीं हैं. उन्होंने मुंबई पुलिस में शिकायत दर्ज कराने के बाद सिंटा को भी एक लेटर लिखा है. तनुश्री ने सिंटा से पुछा है की आखिर वो नाना पाटेकर के खिलाफ क्या कार्यवाही कर रहे हैं. अब जब पुलिस में FIR हो गया है तो सिंटा ने एक्टर के खिलाफ कोई भी कार्यवाही शुरू क्यों नहीं की, साथ ही एक्ट्रेस ने ये भी पुछा है की उनकी उनकी पुरानी शिकायत पर एक्शन का क्या हुआ जो उन्होंने मार्च 2008 में नाना पाटेकर के खिलाफ सिंटा में शिकायत की थी.

Continue Reading

Bollywood/Fashion

Exclusive: पढ़िए तनुश्री दत्ता का नाना पाटेकर के खिलाफ दिया गया पूरा बयान

शाम ठीक सात बजे बॉलीवुड एक्ट्रेस तनुश्री दत्ता अपने वकील के साथ ओशिवारा थाने पहुंच गयीं थी. जिसके बाद मुंबई पुलिस के दो बड़े अफसरों ने करीब पांच घंटे तक तनुश्री दत्ता का बयान दर्ज किया है. जिसके बाद उन्हें रात 12 बजे के करीब जाने की अनुमति मिली. इस दरम्यान एक्ट्रेस के वकील नितिन सातपुते भी उनके साथ रहे. जल्द ही इस मामले में पुलिस कुछ गवाहों का बयान भी दर्ज करेगी और कल इस मामले में आरोपी बनाए गए सभी आरोपियों को नोटिस भी भेजेगी.

Published

on

नाना पाटेकर पर यौन शोषण का आरोप लगाने और उनके खिलाफ पुलिस में शिकायत दर्ज करवाने के बाद बुधवार को ऐक्ट्रेस तनुश्री दत्ता मुंबई के ओशिवरा पुलिस स्टेशन में अपना बयान दर्ज करवाने पहुंचीं.

तनुश्री ने शिकायत में नाना के साथ ही कोरियॉग्राफर गणेश आचार्य का नाम भी दर्ज करवाया है.

शाम ठीक सात बजे बॉलीवुड एक्ट्रेस तनुश्री दत्ता अपने वकील के साथ ओशिवारा थाने पहुंच गयीं थी. जिसके बाद मुंबई पुलिस के दो बड़े अफसरों ने करीब पांच घंटे तक तनुश्री दत्ता का बयान दर्ज किया है. जिसके बाद उन्हें रात 12 बजे के करीब जाने की अनुमति मिली. इस दरम्यान एक्ट्रेस के वकील नितिन सातपुते भी उनके साथ रहे. जल्द ही इस मामले में पुलिस कुछ गवाहों का बयान भी दर्ज करेगी और कल इस मामले में आरोपी बनाए गए सभी आरोपियों को नोटिस भी भेजेगी.

पुलिस इस मामले में आरोपी बनाए गए सभी आरोपियों का पहले बयान दर्ज करेगी, जिसके बाद इनकी गिरफ्तारी भी हो सकती है.

क्या है पूरा मामला?
तनुश्री ने नाना पाटेकर पर शूटिंग के दौरान बदतमीजी और छेड़छाड़ का आरोप लगाया है. तनुश्री का आरोप है की साल 2008 में जब वो फिल्म ‘हॉर्न ओके’ प्लीज की शूटिंग कर रहीं थी तब नाना ने उनके साथ जोर जबरदस्ती की कोशिश की थी. लेकिन सेट पर मौजूद गाने के कोरियेाग्राफर गणेश आचार्य, डायरेक्‍टर राकेश सारंग और प्रोड्यूसर सामी सिद्दीकी किसी ने उन्हें रोकने की कोशिश नहीं की.

Continue Reading

Trending

%d bloggers like this:
Bitnami