Connect with us

Exclusive

नये भारत के लिए नये लीडर्स की खोज शुरू, मोदी के सपनों को करेंगे साकार

Published

on

मौजूदा दौर में जितने भी लीडर्स ने स्वयं को प्रमाणित किया है उनमें से ज्यादातर वो लोग है  जिन्होंने परिस्थितियों के अनुरूप खुद को तराशा, खुद संघर्ष किया, और खुद ही अपना लक्ष्य तय किया और फिर उस रास्ते पर बढ़ने के लिए तन, मन और धन सब कुछ झोंक दिया । लेकिन इसके बावजूद लाखों लोग ऐसे थे जिनमें प्रतिभा थी, क्षमता थी, उन्होंने अपना सर्वस्व दांव पर भी लगाया लेकिन वो ना तो खुद का भला कर सके, ना ही समाज और राष्ट्र को उनका लाभ मिल पाया । कहीं कुछ कमी रह गई और गाड़ी पटरी से उतर गई।

वर्तमान दौर में भी अगर आप अपने चारों तरफ नजर दौड़ाएंगे तो पाएंगे कि कई लोग भाषण देने की कला में माहिर होते हैं लेकिन अध्ययन पूरा नहीं होता और वो सीमित हो कर रह जाते हैं । कई लोगों में समाज सेवा की भावना होती है, अच्छे समाजसेवी होते है लेकिन फिर भी दिशाहीन होते हैं उनका दायरा बड़ा ही नहीं हो पाता  और कई तो ऐसे होते है जिसने पास नेतृत्व की सारी खूबियां होती है लेकिन उनके पास संपर्क नहीं होता, जिसकी कमी के चलते  अवसर तैयार नहीं हो पाता और वो हताशा और कुंठा में जीने को मजबूर हो जाते हैं।

लेकिन अब ऐसा नहीं चलेगा क्योंकि भारत विश्व मंच पर हर क्षेत्र में अपनी मौजूदगी एक महाशक्ति के तौर पर स्थापित करने को छटपटा रहा है। इसके लिए उसे देश में मौजूद मानव प्रतिभा का पूरा पूरा इस्तेमाल करना चाहता है ।  भारत के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की विदेश नीति से स्पष्ट झलकता है वो भारत को दुनिया के शीर्ष देशों की श्रेणी में देखना चाहते हैं और उसके लिए उन्हें भविष्य में ऐसे लीडर्स की जरूरत होगी जिनके पास समझ को प्रमाणित करने का आचरण हो । पूरी तरह से  शिक्षित, स्किल्ड और अनुभव से भरे लोग चाहिए जिनमें विजन को हासिल करने का विश्वास हो।

भारत के वर्तमान और भविष्य को इस मांग को मुंबई से संचालित संस्था रामभाऊ म्हालगी ने भांप लिया है और वो जुट गई है ऐसे युवाओं की खोज कर उनका निर्माण करने में । इस दिशा में  नई दिल्ली के कांस्टीट्यूशन क्लब में देश के मानव संसाधन विकास मंत्री प्रकाश जावड़ेकर, आरएमपी संस्थान के अभिनव पाठ्यक्रम “पोस्ट ग्रेजुएट प्रोग्राम इन लीडरशिप, पॉलिटिक्स और गवर्नेंस” को लांच करते हुए खुद को  बेहद रोमांचित महसूस कर रहे थे । उन्होंने अपने युवा दिनों को याद करते हुए कहा कि काश इस तरह शिक्षा उन्हें भी मिल पाती । जावड़ेकर ने कहा कि अब राजनीति में वो दौर आएगा जब लोग आसानी से इस पर ऊंगली नहीं उठा पाएंगे । विश्वास की राजनीति का वातावरण और मजबूत होगा । 

इंडियन इंस्टीट्यूट ऑफ डेमोक्रेटिक लीडरशिप ( आईआईडीएल ) के तले शुरू हो   रहे इस अनूठे पाठ्यक्रम को  राज्यसभा सांसद और आरएमपी के वाइस चेयरमैन विनय सहस्त्रबुद्धे ने पूरी तरह से वैज्ञानिक सम्मत बताया । उन्होंने भरोसा दिलाया कि हम ऐसे युवाओं का निर्माण करने जा रहे हैं  जिनमें राजनीति से लेकर समाज के हर क्षेत्र में काम करने की विशेष दक्षता होगी । उनका व्यापक दृष्टिकोण भारत के आनेवाले को कल को समृद्ध करेगा । 

आरएमपी के कार्यकारी निदेशक रवींद्र साठे ने बातचीत के दौरान बताया कि पिछले 35 सालों से हम नेतृत्व साधना जैसे साप्ताहिक कार्यक्रमों के जरिए प्रतिभावान युवाओं को तराशने का काम कर रहे थे और उसके नतीजे से उत्साहित होकर ही हमने नौ महीने के व्यापक पाठ्यक्रम को युवाओं को देने का संकल्प लिया है, साठे को उम्मीद है कि काबिल लोगों की आवश्यकताओं की पूर्ति की दिशा में हमारा ये पाठ्यक्रम आशा का केंद्र साबित होगा ।

कोर्स के प्रमुख देवेंद्र का दावा है कि हमने “पोस्ट ग्रेजुएट प्रोग्राम इन लीडरशिप, पॉलिटिक्स और गवर्नेंस” को इस तरह से डिजाइन किया है कि युवा को जितना पुस्तकीय ज्ञान होगा उससे ज्यादा हम उसे व्यवहारिक बनाने पर जोर देंगे ।

कार्यक्रम में मौजूद देश के पूर्व चुनाव आयुक्त एस वाई कुरैशी , बीजेपी के राष्ट्रीय महासचिव पी मुरलीधर राव और जेएनयू की प्रोफेसर अमिता सिंह ने भी संस्थान के इस प्रयास की सराहना कर बधाई दी । 

तो जिन युवाओं को अपने विज़न को व्यहारिकता में अपनाने की ललक है और वो इस पाठ्यक्रम को अपनाना चाहते हैं तो आईआईडील के इस बेवसाइट  – www.iidl.org.in;  आरएमपी वेबसाइट – www.rmponweb.org पर जाकर विस्तृत जानकारी ले सकते हैं ।

Crime

EXCLUSIVE VIDEO: चलती ट्रेन में स्कूली बच्चे कर रहे हैं जानलेवा स्टंट, देखिये का स्टंट एक दर्जन वीडियो

ये बच्चे डाकयार्ड रोड रेलवे स्टेशन पर रोज़ाना 12noon to 1.30pm के बीच स्टंट करते हैं और इसकी जानकारी रेलवे पुलिस को भी है. लेकिन कभी भी इन्हें रोकने या पकड़ने की कोशिश नहीं हुई.

Published

on

मुंबई में हर दूसरे दिन एक नया चलती ट्रेन में स्टंट का वीडियो वायरल होने लगता है. हर बार वीडियो वायरल होने के बाद कहा जाता है की कुछ असामाजिक तत्वा इस तरह की हरकत करते हैं और जान लेवा स्टंट करके उसे वायरल करते हैं. लेकिन पहली बार आप अपनी आँखों से देखेंगे की स्टंट करने वाले सिर्फ कुछ असामाजिक तत्व नहीं हैं. बल्कि मुंबई में इन दिनों स्कूल जाने वाले छोटे छोटे बच्चे भी अपनी ज़िंदगी से खिलवाड़ कर रहे हैं. स्टंट करने वाले ये सभी बच्ची स्कूलों में पढ़ाई करते हैं जिनकी उम्र 9 से 12 साल ही है. और रोज़ इसी तरह ये बच्चे स्कूल जाते समय और लौटते वक़्त को खुलेआम चुनौती देते हैं.

पहली बार हमने इन बच्चो को ट्रेन में इस तरह स्टंट करते हुए कैमरे में क़ैद किया है. हमने एक नहीं दो नहीं बल्कि आधे दर्जन बच्चों को इस तरह से स्टंट करते हुए देखा है. सभी बच्चों के कंधे पर स्कूल का बस्ता और सिर पर मंडरा रही मौत के स्टंट का वीडियो आपको भी हैरान कर देगा. इस वीडियो को मुंबई के डॉकयार्ड स्टेशन पर शूट किया गया है. जिसमे ये बच्चे इस तरह से स्टंट करते हुए दिखाई दे रहे हैं. रोज़ यात्रा करने वाले लोगों ने बताया की ये कोई एक दिन की बात नहीं है बल्कि हर रोज़ इसी तरह ये बच्चे डाकयार्ड रोड रेलवे स्टेशन पर रोज़ाना 12noon to 1.30pm के बीच स्टंट करते हैं और इसकी जानकारी रेलवे पुलिस को भी है. लेकिन कभी भी इन्हें रोकने या पकड़ने की कोशिश नहीं हुई.

दो दिन पहले भी लोकल ट्रेन में एक लड़के के जानलेवा स्टंट का वीडियो वायरल हुआ था. वीडियो हार्बर लाइन के सैंडहर्स्ट स्टेशन पर शूट किया गया था. मोबाइल से बनाए गए इस वीडियो में साफ दिखाई दे रहा है कि ट्रेन प्लेटफॉर्म से रवाना हो रही है और ये लड़का अपनी जान को जोखिम में डालकर स्टंट कर रहा है. चलती ट्रेन के साथ इस लड़के ने एक हाथ और एक पैर बाहर प्लेटफॉर्म पर लटका रखा था. ट्रेन आगे बढ़ती रही और ये लड़का जानलेवा स्टंट करता रहा. जब प्लेटफॉर्म से ट्रेन निकली तब जाकर ये ट्रेन के अन्दर चढ़ा. हालांकि स्टंट के दौरान जरा सी चूक से इस लड़के की जान जा सकती थी. उस वक़्त एक दूसरा आदमी मोबाइल से वीडियो बनाता रहा हालांकि वो विडियो में कहीं भी दिखाई नहीं दिया. ये पूरी घटना मंगलवार दोपहर की बताई जा रही है. वीडियो के सामने आने के बाद GRP और RPF ने लड़के की तलाश तेज़ कर दी है.

Continue Reading

Bollywood/Fashion

EXCLUSIVE: साजिद के बाद #Housefull4 से नाना पाटेकर की विदाई, तनुश्री मामले को लेकर प्रोड्यूसर पर था दबाव

बताया जा रहा है इस बाबत नाना पाटेकर को जानकारी दे दी गयी है. नाना चाहते थे की उन्हें भी पानी बात रखने का मौका मिले लेकिन ऐसा संभव नहीं हुआ. फिल्म के पूरे स्टारकास्ट ने इसके लिए साजिद नाडियाडवाला पर ज़बरदस्त दबाव बनाया था.

Published

on

फिल्ममेकर साजिद नाडियाडवाला की कॉमेडी सीक्वल फिल्म हाउसफुल 4 अचानक से मुश्किलों में फंसती नजर आ रही है. जिस सुबह फ्रेंचाइजी के डायरेक्टर साजिद खान, जिनके खिलाफ #MeToo मूवमेंट के तहत यौन उत्पीड़न का आरोप था उनके बाद एक और बड़े नाम की विदाई तय हो है.

सूत्र बताते हैं की फिल्म से नाना पाटेकर को भी बाहर कर दिया गया है. जिसकी बड़ी वजह तनुश्री दत्ता मामला है. फिल्म के एक बड़े लीड ने प्रोड्यूसर पर इसके लिए डब्बाव बनाया था. उन्होंने साफ़ कर दिया था की अगर फिल्म से ये लोग बाहर नहीं जाते हैं तो वो बाहर जाने को तैयार हैं. हालंकि प्रोड्यूसर थोड़ा समय चाहते थे, लेकिन इस बड़े स्टार ने साफ़ मना कर दिया था.

बताया जा रहा है इस बाबत नाना पाटेकर को जानकारी दे दी गयी है. नाना चाहते थे की उन्हें भी पानी बात रखने का मौका मिले लेकिन ऐसा संभव नहीं हुआ. फिल्म के पूरे स्टारकास्ट ने इसके लिए साजिद नाडियाडवाला पर ज़बरदस्त दबाव बनाया था.

सूत्रों की मानें तो इससे हाउसफुल के प्रोड्यूसर साजिद नाडियाडवाला को बेहद नुकसान पहुंचता नजर आ रहा है. सूत्रों के मुताबिक हाउसफुल 4 फिल्म की शूटिंग अपने 3 शेड्यूल में लगभग 60 प्रतिशत खत्म हो चुकी है. वहीं फिल्म के चौथे शेड्यूल की शूटिंग मुंबई में आज से लोखंडवाला में शुरू हो चुकी है. जिसकी लगभग कीमत 14 करोड़ है.

वहीँ तनुश्री दत्ता भी नाना पाटेकर को हर तरफ से घेर रहीं हैं. उन्होंने मुंबई पुलिस में शिकायत दर्ज कराने के बाद सिंटा को भी एक लेटर लिखा है. तनुश्री ने सिंटा से पुछा है की आखिर वो नाना पाटेकर के खिलाफ क्या कार्यवाही कर रहे हैं. अब जब पुलिस में FIR हो गया है तो सिंटा ने एक्टर के खिलाफ कोई भी कार्यवाही शुरू क्यों नहीं की, साथ ही एक्ट्रेस ने ये भी पुछा है की उनकी उनकी पुरानी शिकायत पर एक्शन का क्या हुआ जो उन्होंने मार्च 2008 में नाना पाटेकर के खिलाफ सिंटा में शिकायत की थी.

Continue Reading

Bollywood/Fashion

Exclusive: पढ़िए तनुश्री दत्ता का नाना पाटेकर के खिलाफ दिया गया पूरा बयान

शाम ठीक सात बजे बॉलीवुड एक्ट्रेस तनुश्री दत्ता अपने वकील के साथ ओशिवारा थाने पहुंच गयीं थी. जिसके बाद मुंबई पुलिस के दो बड़े अफसरों ने करीब पांच घंटे तक तनुश्री दत्ता का बयान दर्ज किया है. जिसके बाद उन्हें रात 12 बजे के करीब जाने की अनुमति मिली. इस दरम्यान एक्ट्रेस के वकील नितिन सातपुते भी उनके साथ रहे. जल्द ही इस मामले में पुलिस कुछ गवाहों का बयान भी दर्ज करेगी और कल इस मामले में आरोपी बनाए गए सभी आरोपियों को नोटिस भी भेजेगी.

Published

on

नाना पाटेकर पर यौन शोषण का आरोप लगाने और उनके खिलाफ पुलिस में शिकायत दर्ज करवाने के बाद बुधवार को ऐक्ट्रेस तनुश्री दत्ता मुंबई के ओशिवरा पुलिस स्टेशन में अपना बयान दर्ज करवाने पहुंचीं.

तनुश्री ने शिकायत में नाना के साथ ही कोरियॉग्राफर गणेश आचार्य का नाम भी दर्ज करवाया है.

शाम ठीक सात बजे बॉलीवुड एक्ट्रेस तनुश्री दत्ता अपने वकील के साथ ओशिवारा थाने पहुंच गयीं थी. जिसके बाद मुंबई पुलिस के दो बड़े अफसरों ने करीब पांच घंटे तक तनुश्री दत्ता का बयान दर्ज किया है. जिसके बाद उन्हें रात 12 बजे के करीब जाने की अनुमति मिली. इस दरम्यान एक्ट्रेस के वकील नितिन सातपुते भी उनके साथ रहे. जल्द ही इस मामले में पुलिस कुछ गवाहों का बयान भी दर्ज करेगी और कल इस मामले में आरोपी बनाए गए सभी आरोपियों को नोटिस भी भेजेगी.

पुलिस इस मामले में आरोपी बनाए गए सभी आरोपियों का पहले बयान दर्ज करेगी, जिसके बाद इनकी गिरफ्तारी भी हो सकती है.

क्या है पूरा मामला?
तनुश्री ने नाना पाटेकर पर शूटिंग के दौरान बदतमीजी और छेड़छाड़ का आरोप लगाया है. तनुश्री का आरोप है की साल 2008 में जब वो फिल्म ‘हॉर्न ओके’ प्लीज की शूटिंग कर रहीं थी तब नाना ने उनके साथ जोर जबरदस्ती की कोशिश की थी. लेकिन सेट पर मौजूद गाने के कोरियेाग्राफर गणेश आचार्य, डायरेक्‍टर राकेश सारंग और प्रोड्यूसर सामी सिद्दीकी किसी ने उन्हें रोकने की कोशिश नहीं की.

Continue Reading

Trending

%d bloggers like this:
Bitnami