Connect with us

Crime

Exclusive- आरोपी बेटे का माँ के क़त्ल का पूरा कुबूलनामा !

Published

on

अपनी माँ की हत्या के आरोप मैं गिरफ्तार सिद्धांत ने अपने कुबूलनामे में कई ऐसी बातें बताएं हैं जो इस हत्या की वजह बनी है। पूछताछ करने वाले अधिकारी की मानें, तो ”

सिद्धांत ने बताया की उसकी माँ की शक की वजह से सिर्फ वही परेशान नहीं था बल्कि खुद उसके पिता भी तंग आ चुके थे।
उन्हें उसके डैड यानी इंस्पेक्टर ज्ञानेश्वर की कैरेक्टर पर शक था। वो दिन भर में  कम से कम 50 बार पापा को फोन करती थी। हर रात उनका इसी बात को लेकर झगड़ा होता था की उनका किसी के साथ अफेयर है।

सिद्धांत गनोरे के वो काफी इंटेलीजेंट था। माँ के कीच कीच की वजह से वो परेशान रहने लगा। उसे 10वीं में उसे 90% मार्क्स मिले थे। 10वीं तक वह पुणे के हॉस्टल में पढ़ा। जब वो पुणे में पढ़ाई कर रहा था तभी उसके पिता ने उसकी माँ की ज़िद्द की वजह से उन्हें पढने के लिए लंदन भेजा था। लंदन में दीपाली गनोरे यानी उसकी मां को एलएलएम करने गयीं थी। लंदन से लौटने के बाद उन्होंने कुछ वक्त तक कोर्ट में प्रैक्टिस की फिर काम छोड़ दिया।

पूरे दिन सिर्फ और सिर्फ मेरी और पापा की जांच पड़ताल करते थीं। पापा की तरह ही वो दिन भर में मुझे भी फ़ोन करती । न तो उसे फेसबुक इस्तेमाल की आज़ादी थी और न ही वाट्सऐप का इस्तेमाल नहीं करने देती थी। उसे गिनकर उतना ही पैसा देती थी जितना उसे कॉलेज आने जाने में लगता था। इन्हें सब कारणों से उसका पढ़ाई में मन नहीं लगता था और वो इंजीनियरिंग के सेकंड सेमेस्टर फेल हो गया। इसके बाद उन्होंने मेरे एडमिशन ज़बरदस्ती बीएससी में करवा दिया था। पापा ने भी मन किया था लेकिन वो नहीं मानीं। मैं ऊब गया था मुझे इन सबसे बहार आना था और  इन्हीं बातों से तंग आकर उसने मां का कत्ल कर दिया”।

Mother murder

सिद्धांत ने बताया है की आखिर वारदात वाले दिन ऐसा क्या हुआ की वो इतना ज़्यादा आक्रामक हो गया और की हत्या चाकुओं से गोद कर दी।

“पापा दिन भर बहार रहते थे उनपर बहुत प्रेशर रहता था। वो मेरा साथ चाह कर भी नहीं दे पा रहे थे, वो जानते थे की अगर उन्होंने कुछ बोला तो घर में और ज़यादा हंगामा होगा। पापा मम्मी दोनों दिन भर घर से बहार रहते थे। उस शाम मां ने पापा को फ़ोन कर बताया की वो हिंदी मीडियम फिल्म देखने जा रही है और रात को वो फिल्म देखकर रात तक घर लौटेगी। पापा भी 9 बजे तक ही घर आने वाले थे। लेकिन मम्मी करीब 8 बजे घर आ गई और आते ही सीधा उसके कमरे में आयी और उससे बीएससी की मार्कशीट दिखाने की जिद पर अड़ गई।

कुछ देर में जब मम्मी अपने कमरे में चेंज करने गयी तो मैंने किचेन से छुरी ली और सीधा अपने कमरे में आ गया। कमरा बंद कर वो अपनी नसें काटने की कोशिश करने लगा। मैं नस नहीं काट पाया, मैंने पापा को फ़ोन भी लगाया की सब बताने को पर पापा ने फ़ोन नहीं उठाया। मैं फिर से अपनी नसें काटने की कोशिश करने लगा तब तक मम्मी फिर आ गयी और आकर ज़ोर ज़ोर से चिल्लाने लगी। मैं घबरा गया और गुस्से में आ गया, तुरंत मैंने दरवाज़ा खोला और पीछे से मम्मी पर ही हमला कर दिया। मां पर मैंने 6 बार वार किया। वो वहीँ ज़मीन पर गिर गयी थी और मौके पर ही दम तोड़ दिया।

उसके बाद मैंने वहीँ बैठकर मरी हुई मां से हुई से बातें की और फिर नहाने चला गया। कमरे से पैसे निकाले और रात को करीब 8 बजे घर से निकल गया। उसने पहले लोकल ट्रेन पकड़ी और बोरीवली गया। वहां से सूरत जाने वाली ट्रेन में बैठ गया। रात तीन बजे मैं सूरत पहुंच गया। स्टेशन पर कुछ घंटे बिताने के बाद वह एक और ट्रेन पकड़कर जोधपुर आ गया। जोधपुर पहुंचकर ध्रुव होटल में कमरा लिया और सो गया। “मैं हर दिशा में भागना चाहता था इसलिए जो भी ट्रेन मिल रही थी, उस दिशा में चला जा रहा था।”

कैसे पकड़ा गया सिद्धांत ?

तफ्तीश टीम ने सबसे  पहले उसके घर से निकलने का सीसीटीवी फुटेज देखा। उसी टाइमिंग के हिसाब से सांताक्रूज़ स्टेशन पर सिद्धांत दिखाई दिया वो बोरीवली की ट्रेन पकड़ते दिखा और बोरीवली से सूरत की इसके बाद वो सूरत से जोधपुर की तरफ निकलती दिखाई दिया। इसके बाद फ़ौरन जोधपुर पुलिस को सूचित किया गया और सभी होटलों तलाशी शुरू हुई। इस बीच मुंबई क्राइम ब्रांच ने वाट्सएेप पर सिद्धांत का फोटो भी भेज दिया गया था। जोधपुर पुलिस फोटो लेकर होटलों का हर कमरा तलाशने लगी। और वो पकड़ा  गया।

Continue Reading
Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Crime

बदले के लिए नाबालिग लड़की ने किया 2 साल की मासूम का किया कत्ल, अपने कमरे में छुपा राखी थी लाश

पुलिस ने गांव और परिवार के कई लोगों से पूछताछ की, कई पड़ोसियों से भी पूछताछ की। तफ्तीश में उन्हें ये पता चला की बच्ची मनिष्का के माँ का किसी बात को लेकर पड़ोस में रहने वाली 16 वर्षीय छात्रा से कुछ कहा सुनी हुई थी।

Published

on

baby Manishka

मुंबई के पास ठाणे सहर से एक दिल दहला देने वाली घटना सामने आई है। जहाँ एक 16 साल की एक लड़नी ने एक दो साल की मासूम बच्ची का क़त्ल कर दिया। वो भी सिर्फ इस लिए की उस मासूम की मां ने आरोपी छात्रा को कुछ दिन पहले डांट दिया था। बस क्या था उसकी दिल में बदले की भावना घर कर गई और उसी का बदला लेने के लिए उस लड़की ने कत्ल की इस दिल दहला देने वाली वारदात को अंजाम दे डाला।

वारदात ठाणे के तुलाई गांव की है। आरोपी छात्रा की उम्र सिर्फ 16 साल है और वह दसवीं कक्षा की छात्र है। अब तक जो जानकारी सामने आई है उसके मुताबिक, शनिवार को तुलाई गांव में रहने वाली एक 2 साल की बच्ची मनिष्का अपने घर के बाहर खेलते खेलते लापता हो गई। बच्ची को उसके परिवार के साथ साथ पूरे गांववालों ने ढूंढा, लेकिन उसका कोई अता पता नहीं चल पाया। हारकर इसकी खबर पुलिस को दी गई।

तफ्तीश कर रही पुलिस ने गांव और परिवार के कई लोगों से पूछताछ की, कई पड़ोसियों से भी पूछताछ की। तफ्तीश में उन्हें ये पता चला की बच्ची मनिष्का के माँ का किसी बात को लेकर पड़ोस में रहने वाली 16 वर्षीय छात्रा से कुछ कहा सुनी हुई थी। पुलिस को ये अहम लीड लगी और फ़ौरन उस लड़की के घर की तलाशी ली। तब जाकर पुलिस को लड़की के घर के एक कोने में बच्ची की लाश बरामद हो गई।

पुलिस ने फौरन आरोपी लड़की को हिरासत में ले लिया। पूछताछ करने पर आरोपी छात्रा ने खुलासा किया कि, कुछ दिन पहले मनिष्का की मां किसी बात को लेकर उसे डांट दिया था। वो बात उस लड़की को बहुत नागवार गुजरी। तभी उसने अपनी पड़ोसी महिला से बदला लेने का मन बना लिया था। वो मनिष्का को कहीं और ले जाकर मारना चाहती थी, लेकिन उसे मौका नहीं मिल पाया और वो पकड़ी गई। आरोपी लड़की को आईपीसी की धारा 302 के तहत हत्या का मामला दर्ज कर लिया है। आरोपी लड़की को कोर्ट में पेशी करने के बाद बालिका गृह भेजा गया है।

Continue Reading

Bollywood Crime

वर्सोवा थाने में एक्टर आदित्य पंचोली पर FIR, कार मैकेनिक को जान से मारने की धमकी देने का आरोप

कार मैकेनिक का आरोप है कि ऐक्टर आदित्य पंचोली ने अपनी कार का काम उससे कराया था, जिसका मेहनताना क़रीब ठीक 2 लाख 82 हजार 158 रुपए हुए थे। कार का काम शुरू करने से पहले ही मेकैनिक ने उन्हें ख़र्च बता दिया था। जिस पर आदित्य ने हामी दी थी तब उसने काम शुरू किया था। लेकिन जब कार बन गई तो आदित्य ने पैसे देने इंकार कर दिया।

Published

on

बॉलीवुड ऐक्टर आदित्य पंचोली एक बार फिर विवादों में है। आदित्य पंचोली के खिलाफ मुंबई के वर्सोवा पुलिस ने एफआईआर दर्ज की है। आदित्य पर आरोप है कि उन्होंने एक कार मैकेनिक को जान से मारने की धमकी दी है। शिकायत दर्ज होने के बाद मुंबई पुलिस तफ़तीश में जुट गई है। 

आदित्य पंचोली के खिलाफ मुंबई के वर्सोवा पुलिस स्टेशन में जो एफआईआर दर्ज कराई गई है, उसके मुताबिक़ उन्होंने एक कार मैकेनिक से काम तो कराया लेकिन उसका पैसा नहीं दिया । जब कार ने मैकेनिक ने अपना पैसा माँगा तो ऐक्टर ने उसे जान से मारने तक की धमकी दे डाली।

कार मैकेनिक का आरोप है कि ऐक्टर आदित्य पंचोली ने अपनी कार का काम उससे कराया था, जिसका मेहनताना क़रीब ठीक 2 लाख 82 हजार 158 रुपए हुए थे। कार का काम शुरू करने से पहले ही मेकैनिक ने उन्हें ख़र्च बता दिया था। जिस पर आदित्य ने हामी दी थी तब उसने काम शुरू किया था। लेकिन जब कार बन गई तो आदित्य ने पैसे देने इंकार कर दिया। 

Bमेकैनिक का आरोप है पैसे देने की जगह पंचोली ने मैकेनिक को जान से मारने की धमकी दे डाली। इसके बाद मैकेनिक की शिकायत पर पुलिस ने मामला दर्ज कर लिया है और इसकी जांच में जुट गई है।

Continue Reading

Crime

VIDEO: पुणे फ़िल्मी स्टाइल में हुई लूटपाट, 4 घंटे तक वृद्ध दंपति सहित 5 लोगों को बंधक बनकरी की लूटपाट

मुंबई के व्यवसाई और उनके परिवार को हथियार के बल पर बंधक बनाकर घंटों की गई लूटपाट. पैसों के लिए गुलाबचंद छेड़ा को लेकर मुंबई भी आए थे लूटेरे

Published

on

Pune Armed robbers looted Aged couple at gunpoint in 4-hour ordeal on apte road

फिल्मों में लोगों ने कई लूटपाट की सीन देखे होंगे, जहाँ नक़ाब अपराधी हथियारों से लैस होकर घर में घुसते हैं और लोगों को बंधक बनाकर लूटपाट करके आसानी से निकल जाते हैं. बाद में मौके पर पुलिस वारदात हो जाने के बाद पहुँचती है. ये सब हो रहा था पुणे के आप्टे रोड, डेक्कन जिमखाना के पास बने सरोज सदन में. जहाँ मुंबई के मशहूर कॉटन व्यवसाई 80 साल के गुलाबचंद छेड़ा, उनके साले हंसकुमार खिमजी, उनकी पत्नी हेमाजी छेड़ा अपने दो नौकरों के साथ घर पर ही मौजूद थे.

सुबह 9 बजे जब दरवाज़े पर दस्तक हुई तो उन्हें लगा दूध वाला हमेशा की तरह देर से आया. लेकिन नौकर अनंत ने जैसे ही दरवाज़ा खोला हांथों में हथियार लिए पांच नकाबपोश घर में घुस आए. फिर घर में मौजूद सभी लोगों को एक कमरे में रस्सी से कुर्सियों पर बाँध दिया गया. बुज़ुर्गों के मुताबिक ऐसा लग रहा था मानों उन्हें सब पहले से जानकारी थी. इसके बाद लूटेरों ने घर में लूटपाट शुरू की,हथियार के बल पर घर से 6 लाख कैश, सोना चांदी और घडी मोबाइल सब लूट लिया.

लेकिन बुज़ुर्गों परेशानी तब शुरू हुई जब लूटेरे उनके साथ मारपीट करने लगे. उन्हें इस बात का यक़ीन नहीं हो रहा था की घर में सिर्फ इतने ही कैश और गहने हैं. जब लूटेरों को गुलाबचंद छेड़ा ने ये बताया की वो इससे ज़्यादा कैश तभी इंतज़ाम कर सकते हैं जब वो अपने मुंबई के कुर्ला स्तिथ दफ्तर पहुंचेंगे.

इसके बाद दो लूटेरों ने गुलाबचंद छेड़ा को कार में बिठाकर मुंबई की तरफ निकले जबकि बाकी तीन लूटेरों ने हथियार के बल पर बाकियों को घर में बंधक बनाया रखा. लेकिन इसी बीच घर में बंधक बने लोगों ने शोर मचाना शुरू कर दिया. जिससे लूटेरे डर गए और वहां से भाग खड़े हुए. उन्होंने जाते जाते अपने साथियों को भी गुलाबचंद को छोड़कर भागने को कहा.

पुलिस के मुताबिक गुलाबचंद मुंबई पहुँच भी चुके थे और उन्होंने अपने ड्राइवर को पैसा भी लेने भेजा था लेकिन साथियों के फोन आते ही वो भी भाग गए.

Continue Reading

Latest

%d bloggers like this:
Bitnami