What's In The News
Sunday, December 2018
Now Reading:
मौत का आंकड़ा 17 पंहुचा, इमारत से छेड़छाड़ करने वाला शिवसेना नेता हिरासत में
Full Article 3 minutes read

मौत का आंकड़ा 17 पंहुचा, इमारत से छेड़छाड़ करने वाला शिवसेना नेता हिरासत में

मुंबई के घाटकोपर इलाके में ज़मींदोज़ हुई इमारत में मरनेवालों का आंकड़ा बढ़कर 17 पहुँच गया है। मुंबई के अलग अलग अस्पतालों में 11 घायलों का इलाज चल रहा है। फायर ब्रिगेड के मुताबिक़ मलबा अब तक पूरी तरह से हटा नहीं है और हो सकता है इसमें कुछ और लोग फंसे हो। हादसे के 15 घंटे बाद देर रात एक बजे एक शख्स को ज़िंदा निकाला गया है। फिलहाल डिसास्टर मैनेजमेंट की मदद से रेस्क्यू ऑपरेशन जारी है। रहत और बचाव के दौरान दो दमकलकर्मी भी घायल हुए हैं। मौके पर एनडीआरएफ़ और एसडीआरएफ़ की टीमें राहत और बचाव कार्य में लगी हैं। 

वहीँ दूसरी शुरूआती जांच के बाद पुलिस ने स्थानीय शिवसेना नेता सुनील शिताप को पुलिस ने गिरफ़्तार कर लिया है। गिरफ्तार नेता पर आरोप है कि, लोगों के मना करने के बाद भी शिवसेना नेता सुनील शिताप ने बिल्डिंग के निर्माण के साथ छेड़ छाड़ करते हुए ग्राउंड फ्लोर पर अवैध निर्माण करा रहा था। लोगों का आरोप है की उन्होंने इसकी कई बार शिकायत भी की थी लेकिन BMC ने उसपर कोई भी कारवाही नहीं की। नतीजा सामने है, कहा जा रहा है की गिरफ्तार नेता की कई बड़े राजनेताओं से सम्बन्ध थे और इसी का फायदा उठाकर उसने इमारत के नींव के साथ छेड़छाड़ की है।

घटना कि खबर मिलते ही खुद मुख्यमंत्री देर रात घटनास्तहल पर पहुंचे। मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस ने भरोसा दिलाया है कि प्रभावित लोगों की हर संभव मदद सरकार करगी। और जो कि भी दोषी पाया जाएगा उसके साथ सख्त से सख्त कार्रवाई होगी। उन्होंने भरोसा दिलाया कि, खुद बीएमसी कमिश्नर इस पूरे मामले की तहकीकात करेंगे और 15 दिन में रिपोर्ट सौंप देंगे।

चश्मदीदों के मुताबिक, सुबह 10.43 बजे के आस-पास इमारत ज़ोर से एक आवाज़ आई है अचानक ढह गई। देखते ही देखते धूल के गुबार के बीच कराहने व मदद के लिए चिल्लाने की आवाजें आने लगीं। तत्काल इसकी जानकारी स्थानीय प्रशासन के साथ साथ अग्निशमन विभाग को दी गयी। जिसके बाद बीएमसी बचाव दल, राष्ट्रीय आपदा प्रतिक्रिया बल (एनडीआरएफ),राज्य आपदा प्रतिक्रिया बल (एसडीआरएफ) के साथ अग्निशमन विभाग14 दमकलों, बचाव वाहनों, एंबुलेंस, जेसीबी तथा मेटल कटर के साथ मौके पर पहुंचे। 

इमारत सन 1980 की बानी हुई थी और वहां करीब 12 परिवार रह रहे थे और  निचले तल पर एक अस्पताल भी था। 

हादसे की तस्वीर: ​

Image result for Ghatkopar Building collapse

Image result for Ghatkopar Building collapse

Image result for Ghatkopar Building collapse

Image result for Ghatkopar Building collapse

Image result for Ghatkopar Building collapse

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Input your search keywords and press Enter.
%d bloggers like this:
Bitnami