Connect with us

Maharashtra/Goa

मुंबई से रहस्मई तरीके से लापता है अटॉमिक रिसर्च के एक सीनियर साइंटिस्ट का बेटा

12वीं कक्षा में पढ़ने वाले छात्र नमन दत्त को आखिरी बार 23 सितंबर को अपनी बिल्डिंग से निकलते देखा गया था। यही नहीं इसके बाद इस छात्र ने सीएसएमटी बाउंड ट्रेन पकड़ी इसकी जानकारी भी जुटा ली गई, लेकिन इसके बाद से उसका कोई सुराग नहीं है। पुलिस नमन नाम के किशोर का मोबाइल कॉल डेटा जुटाने में लगी है।

Published

on

देश के जाने माने भाभा परमाणु अनुसंधान केंद्र (बीएआरसी) में काम कर रहे एक वैज्ञानिक के बेटे को ढूंढने में मुंबई पुलिस नाकाम नजर आ रही है। दरअसल वैज्ञानिका 17 वर्षीय बेटा पांच दिन पहले गायब हो गया था। इसकी जानकारी उसके माता पिता ने पुलिस को दी। बेटे को गायब हुए पूरे पांच दिन हो गए हैं, लेकिन मुंबई पुलिस अब तक उसका कोई सुराग नहीं लगा पाई है।

मोबाइल कॉल डेटा जुटाने में लगी पुलिस
आपको बता दें कि 12वीं कक्षा में पढ़ने वाले छात्र नमन दत्त को आखिरी बार 23 सितंबर को अपनी बिल्डिंग से निकलते देखा गया था। यही नहीं इसके बाद इस छात्र ने सीएसएमटी बाउंड ट्रेन पकड़ी इसकी जानकारी भी जुटा ली गई, लेकिन इसके बाद से उसका कोई सुराग नहीं है। पुलिस नमन नाम के किशोर का मोबाइल कॉल डेटा जुटाने में लगी है।

 

मानसिक अवसाद का शिकार है नमन
गायब हुए नमन दत्त की मां चंद्र मूर्ति एक मनोचिकित्सक भी हैं। मूर्ति ने बताया कि नमन पिछले कुछ समय से डिप्रेशन (मानसिक अवसाद) का शिकार है, औऱ धीरे-धीरे से इससे उबर रहा था। पिछले हफ्ते परिवार में हुए एक मौत के चलते नमन काफी प्रभावित हुआ था। मूर्ति ने कहा कि पुलिस हमारा साथ जरूर दे रही है, लेकिन अभी तक किसी भी तरह की सफलता नहीं मिली है।

हालांकि मामले के एक अन्य संदिग्ध पहलू भी है वो ये कि अब तक भाभा एटोमिक रिसर्च सेंटर कि कई वैज्ञानिक गायब हुए हैं और संदिग्ध हालातों में मृत पाए गए हैं। साल 2010 में भाभा के ही वैज्ञानिक एम पद्मनाभन की संदिग्ध हालातों में मौत हो गई थी। वहीं साल 2009 में कर्नाटक स्थित कैगा परमाणु रिएक्टर से जुड़े एक सीनियर इंजीनियर लोकनाथन महालिंगम की लाश काली नदी में मिली थी। ऐसे में नमन का लापता होने से किसी साजिश का संदेह भी होता है क्योंकि उसके पिता भी एटोमिक रिसर्च सेंटर में ही वैज्ञानिक थे।

Continue Reading

Crime

बदले के लिए नाबालिग लड़की ने किया 2 साल की मासूम का किया कत्ल, अपने कमरे में छुपा राखी थी लाश

पुलिस ने गांव और परिवार के कई लोगों से पूछताछ की, कई पड़ोसियों से भी पूछताछ की। तफ्तीश में उन्हें ये पता चला की बच्ची मनिष्का के माँ का किसी बात को लेकर पड़ोस में रहने वाली 16 वर्षीय छात्रा से कुछ कहा सुनी हुई थी।

Published

on

baby Manishka

मुंबई के पास ठाणे सहर से एक दिल दहला देने वाली घटना सामने आई है। जहाँ एक 16 साल की एक लड़नी ने एक दो साल की मासूम बच्ची का क़त्ल कर दिया। वो भी सिर्फ इस लिए की उस मासूम की मां ने आरोपी छात्रा को कुछ दिन पहले डांट दिया था। बस क्या था उसकी दिल में बदले की भावना घर कर गई और उसी का बदला लेने के लिए उस लड़की ने कत्ल की इस दिल दहला देने वाली वारदात को अंजाम दे डाला।

वारदात ठाणे के तुलाई गांव की है। आरोपी छात्रा की उम्र सिर्फ 16 साल है और वह दसवीं कक्षा की छात्र है। अब तक जो जानकारी सामने आई है उसके मुताबिक, शनिवार को तुलाई गांव में रहने वाली एक 2 साल की बच्ची मनिष्का अपने घर के बाहर खेलते खेलते लापता हो गई। बच्ची को उसके परिवार के साथ साथ पूरे गांववालों ने ढूंढा, लेकिन उसका कोई अता पता नहीं चल पाया। हारकर इसकी खबर पुलिस को दी गई।

तफ्तीश कर रही पुलिस ने गांव और परिवार के कई लोगों से पूछताछ की, कई पड़ोसियों से भी पूछताछ की। तफ्तीश में उन्हें ये पता चला की बच्ची मनिष्का के माँ का किसी बात को लेकर पड़ोस में रहने वाली 16 वर्षीय छात्रा से कुछ कहा सुनी हुई थी। पुलिस को ये अहम लीड लगी और फ़ौरन उस लड़की के घर की तलाशी ली। तब जाकर पुलिस को लड़की के घर के एक कोने में बच्ची की लाश बरामद हो गई।

पुलिस ने फौरन आरोपी लड़की को हिरासत में ले लिया। पूछताछ करने पर आरोपी छात्रा ने खुलासा किया कि, कुछ दिन पहले मनिष्का की मां किसी बात को लेकर उसे डांट दिया था। वो बात उस लड़की को बहुत नागवार गुजरी। तभी उसने अपनी पड़ोसी महिला से बदला लेने का मन बना लिया था। वो मनिष्का को कहीं और ले जाकर मारना चाहती थी, लेकिन उसे मौका नहीं मिल पाया और वो पकड़ी गई। आरोपी लड़की को आईपीसी की धारा 302 के तहत हत्या का मामला दर्ज कर लिया है। आरोपी लड़की को कोर्ट में पेशी करने के बाद बालिका गृह भेजा गया है।

Continue Reading

Maharashtra/Goa

महाराष्ट्र में किसानों ने शुरू किया अर्धनग्न किसान आंदोलन, किसी तरह मुंबई पहुँचने से रोका सरकार ने

Published

on

जमीन अधिग्रहण और अन्य मांगों को लेकर सतारा से करीब 200 किलोमीटर दूर मुंबई अर्धनग्न अवस्था में पैदल चलकर पहुँचे किसानों ने मिले आश्वासन के बाद अपना आंदोलन खत्म कर दिया है। इससे पहले महाराष्ट्र के सतारा जिले के खंडाला तहसील से अर्धनग्न अवस्था में पैदल चलकर मुम्बई की तरफ बढ़ रहे इन किसानों को मुंबई की सीमा पर ही रोक दिया गया। जिसके बाद इन किसानों ने मानखुर्द इलाके में ही बैठकर अपना प्रदर्शन शुरू कर दिया।

प्रदर्शन को तूल पकड़ता देख राज्य के उद्योग मंत्री ने इन किसानों के एक डेलीगेट को मिलने बुलाया जिसके बाद इनकी मांगों को पूरा करने भरोसा भी दिया गया।किसानों की मांग है कि एमआईडीसी प्रोजेक्ट और डेवलपमेंट के नाम पर जो इनके जमीन का जो अधिग्रहण हुआ है वह रोका जाएपिछले एक दशक में हाईवे कंस्ट्रक्शन, कृष्णा खोरे सिंचाई प्रोजेक्ट के नाम पर सरकार ने इनके जमीन को अधिग्रहण किया है वो जमीन इनको वापस जाए। साथ ही इनके इलाके में बढ़ रहे उद्योग में पहली नौकरी यहां के लोगों को मिले।

साथ ही किसानों की मांग है एमआईडीसी प्रोजेक्ट और डेवलपमेंट के नाम पर जो इनके जमीन का अधिग्रहण हुआ है वह रोका जाए। पिछले एक दशक में हाईवे कंस्ट्रक्शन कृष्णा खोरे सिंचाई प्रोजेक्ट के नाम पर सरकार ने इनके जमीन को अधिग्रहण किया है। महाराष्ट्र के उद्योग मंत्री सुभाष देसाई ने किसानों की मांगों को पूरा करने का आश्वासन दिया और कहा कि आने वाले समय में किसानों की मर्जी के खिलाफ उनकी भूमि अधिग्रहण नहीं किया जाएगा।

बता दें कि ये किसान 12 जनवरी की सुबह सातारा से निकले थे और नौवें दिन यानी 20 जनवरी को यह मुंबई पहुंचे।आंदोलन खत्म करने के बाद किसानो ने सरकार को चेतावनी दी है कि अगर उनकी मांगों को आश्वासन देने के बाद भी नही माना गया तो ये बड़ी तादाद में जल समाधि ले लेंगे।

Continue Reading

Maharashtra/Goa

चंद्रपुर गौ-तस्‍करों ने नाकाबंदी पर खड़े पुलिस कांस्टेबल को रौंद डाला, आरोपियों को धर दबोचा गया

गौ तस्कर पुलिसवाले को कुचल कर मौके से भागने के फ़िराक में थे। कॉन्‍स्‍टेबल प्रकाश मेश्राम की मौके पर ही मौत हो गई। इस दौरान मौके पर पहुंचे अन्‍य पुलिसकर्मियों ने भागने की कोशिश करते आरोपियों में से दो को धर दबोचा।

Published

on

Prakash Meshram

महाराष्‍ट्र के चंद्रपुर में गायों को ट्रक में भरकर ले जाते गौ-तस्‍करों ने ड्यूटी कर रहे है पुलिस कॉन्स्टेबल को अपनी गाडी दे रौंद डाला ड्यूटी पर खड़े कांस्टेबल की मौके पर ही मौत हो गई। गौ तस्कर पुलिसवाले को कुचल कर मौके से भागने के फ़िराक में थे। कॉन्‍स्‍टेबल प्रकाश मेश्राम की मौके पर ही मौत हो गई। इस दौरान मौके पर पहुंचे अन्‍य पुलिसकर्मियों ने भागने की कोशिश करते आरोपियों में से दो को धर दबोचा।

वारदात महाराष्ट्र के चंद्रपुर नागपुर हाइवे पर खंबारा चेक पॉइंट का है। पुलिस को खबर मिली थी की एक ट्रक में भरकर गाय की तस्‍करी की जा रही है। बस इसी खबर पर कार्यवाही करते हुए चंद्रपुर पुलिस की एक टीम ने हाइवे पर नाकाबंदी की थी।

इसी बीच उन्हें एक संदिग्ध ट्रक दिखाई दिया, जिसे रोकने के लिए जवान आगे आए। गायों से भरे ट्रक को रोकने के लिए चेक पोस्‍ट पर तैनात कॉन्‍स्‍टेबल ने रोकने के लिए हाथ दिया। लेकिन ट्रक में सवार गे तस्‍करों ने ट्रक को रोकने के बजाय स्‍पीड बढ़ा दी। जब सामने आकर कॉन्‍स्‍टेबल प्रकाश मेश्राम ने ट्रक को रोकने की कोशिश की तो तस्करों ने ट्रक रोकने के बजाय कॉन्‍स्‍टेबल पर ही चढ़ा दिया। कॉन्‍स्‍टेबल की मौके पर ही मौत हो गई।

इतना ही नहीं आरोपी काफी दूर तक कॉन्‍स्‍टेबल को ट्रक से घसीटते हुए ले गए। यह सब देखकर आसपास मौजूद पुलिसकर्मी आरोपियों को पकड़ने के लिए भागे। इस दौरान गौ-तस्‍कर ट्रक को वहीं छोड़कर फरार होने की को‍शिश कर रहे थे कि पुलिस ने उन्‍हें पकड़ लिया। हालांकि अभी सिर्फ दो को पकड़ा गया है। पुलिस जांच कर रही है कि अन्‍य कौन लोग इस घटना में शामिल थे।

Continue Reading

Latest

%d bloggers like this:
Bitnami