What's In The News
Sunday, December 2018
Now Reading:
भीमा कोरेगांव हिंसा के आरोपी संभा जी भिड़े पर मेहरबान फडणवीस सरकार , भीड़े के खिलाफ 6 केस वापस
Full Article 3 minutes read

भीमा कोरेगांव हिंसा के आरोपी संभा जी भिड़े पर मेहरबान फडणवीस सरकार , भीड़े के खिलाफ 6 केस वापस

भीमा कोरेगांव से सुर्खियों में आये संभा जी भिड़े पर महाराष्ट्र सरकार ने बड़ी मेहरबानी दिखाई है. डेवेबदृ फडणवीस ने भिड़े के खिलाफ दर्ज केसों में से 6 केस सरकार वापस ले चुकी है. ये खुलासा आरटीआई से हुआ है, जिसमे सामने आया है की महाराष्ट्र की देवेंद्र फडणवीस भिड़े की अगुवाई वाले शिव प्रतिष्ठान हिंदुस्तान संगठन के सैकड़ों कार्यकर्ताओं को दंगे के मामले में क्लीन चिट दे दी है. जबकि दर्जनों मामलों में दंगे की धाराओं को हटा दिया गया है. इन मामलों में बीजेपी और शिवसेना के नेता व समर्थक शामिल रहे हैं.

हालांकि पुलिस ने दावा किया है संभाजी भिड़े और अन्य के खिलाफ कोरेगांव भीमा हिंसा के मामले में कोई चार्ज हटाया नहीं गया है. पुणे के एसपी संदीप पाटील के मुताबिक, ”हमारी जांच अभी भी जारी है”. दूसरी तरफ, फिल्म जोधा अकबर की रिलीज के दौरान हुई हिंसा के मामले में भी राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ (आरएसएस) सदस्यों के खिलाफ छह में से तीन मामलों को वापस ले लिया गया है. ये तामाम खुलासे आरटीआई कार्यकर्ता शकील शेख के सवालों के जवाब में आया है.

शकील शेख ने आरटीआई में यह जवाब माँगा था की साल 2008 से कुल कितने राजनेताओं या कार्यकर्ताओ के खिलाफ केस वापस लिए गए हैं. सरकार की तरफ से जो जवाब में दिया गया उसमें कहा गया की जून 2017 में संभाजी भिडे और उनके साथियों के खिलाफ दर्ज 3 केस वापस लिए गए जबकि इसके अलावा भिडे और उनके साथियों के खिलाफ 3 और केस वापस लिए गए हैं.

गौरतलब है कि 2008 से 2014 तक कांग्रेस और एनसीपी की सरकार में कोई भी केस वापस नहीं लिया गया था जबकि 2014 में बीजेपी सरकार आने के बाद जून 2017 से 14 सितंबर 2018 तक 8 शासन फैसले जारी कर कुल 41 केसों में हजारों आरोपियों का केस वापस लिया गया है. RTI से मिली जानकारी के मुताबिक़, महाराष्ट्र सरकार ने बीजेपी और शिवसेना के विधायक और कार्यकर्ताओं या उनके समर्थकों के खिलाफ केस भी वापस लिया. फडणवीस सरकार ने जितने भी 41 केसों को वापस लिया है वो सभी केस दंगा फैलाने, सरकारी काम में बाधा डालने, सरकारी संपत्ति को नुकसान पहुंचाने और सरकारी कर्मचारी पर हमला करने जैसे संगीन अपराध में दर्ज थे.

किन किन नेताओ पर दर्ज थे मामले और लिए गए वापस

1) राजू शेट्टी और अन्य (सांसद शेतकरी पक्ष) 2 केस

2) अनिल राठौड़ (शिवसेना नेता) 2 केस

3) नीलम गोहे (शिवसेना विधायक) और मिलिंद नार्वेकर (उद्धव ठाकरे)

4) संजय (बाला) भेड्गे (बीजेपी नेता)

5)आशीष देशमुख (बीजेपी विधायक)

6) विकास मठकरी (बीजेपी विधायक)

7)संजय घाटगे (पूर्व बीजेपी और शिवसेना नेता)

8) किरन पावसकर (एमएलसी एनसीपी)

9) अभय छाजेड (कांग्रेस नेता)

10) डॉ. दिलीप येलगावकर (बीजेपी विधायक)

11) प्रशांत ठाकुर ( बीजेपी आमदार और सिड्को अध्यक्ष)

12) अजय चौधरी (शिवसेना विधायक)

Input your search keywords and press Enter.
%d bloggers like this:
Bitnami