Connect with us

Crime

EXCLUSIVE: ब्रम्होस मिसाइल का सौदा करने वाला रंगे हाँथ पकड़ा गया, CIAऔर ISI से करता था सौदा

आरोपी निशांत अग्रवाल पिछले एक साल से अमेरिकी ख़ुफ़िया एजेंसी सीआईए और पाकिस्तानी ख़ुफ़िया एजेंसी आईएसआई के पैरोल पर काम कर रहा था. उस पर एक नहीं बल्कि देश की कई ख़ुफ़िया एजेंसियों ने उसे अपने रडार पर रखा था. आज जब वो एन्क्रिप्टेड सन्देश भेज रहा था तभी उसे रंगे हाँथ पकड़ा गया है. सूत्र बताते हैं आरोपी ने आईएसआई को कई संवेदनशील जानकारियां पहुंचाई हैं. ये पूरा ऑपरेशन महाराष्ट्र और उत्तर प्रदेश एटीएस ने संयुक्त रूप से किया है.

Published

on

ख़ुफ़िया एजेंसी और मिलिटरी इंटेलिजेंस के इनपुट पर उत्तर प्रदेश ATS ने महाराष्ट्र के नागपुर स्थित डीआरडीओ यूनिट से पाकिस्तान एजेंट को रेंज हाँथ पकड़ा है. गिरताफतार आरोपी पाकिस्तानी खुफिया एजेंसी इंटर सर्विसेज इंटेलिजेंस (आईएसआई) के लिए काम करता था.गिरफ्तार एजेंट का नाम निशांत अग्रवाल हैं और वह ब्रह्मोस यूनिट में ही काम करता था. पकडे जाने से पहले निशांत अग्रवाल को डीआरडीओ यूनिट में बेहतरीन काम करने के लिए कई अवार्ड्स भी मिल चुके हैं.

अगर ख़ुफ़िया सूत्रों की मानें तो आरोपी निशांत अग्रवाल पिछले एक साल से अमेरिकी ख़ुफ़िया एजेंसी सीआईए और पाकिस्तानी ख़ुफ़िया एजेंसी आईएसआई के पैरोल पर काम कर रहा था. उस पर एक नहीं बल्कि देश की कई ख़ुफ़िया एजेंसियों ने उसे अपने रडार पर रखा था. आज जब वो एन्क्रिप्टेड सन्देश भेज रहा था तभी उसे रंगे हाँथ पकड़ा गया है. सूत्र बताते हैं आरोपी ने आईएसआई को कई संवेदनशील जानकारियां पहुंचाई हैं. ये पूरा ऑपरेशन महाराष्ट्र और उत्तर प्रदेश एटीएस ने संयुक्त रूप से किया है.

गेम के चैट जोन से करता था बात

पकडे गए आईएसआई एजेंट निशांत अग्रवाल पर आरोप है की उसने मिसाइल से जुडी कई जानकरियां दिल्ली और पाकिस्तान में बैठे अपने हैंडलर तक पहुंचाई है. वो ये सारी जानकारियां सोशल मीडिया के ज़रिये इन्क्रिप्टेड और कोड वर्ड में पहुंचता था. दोनों एक समय पर लड़कियों की आईडी के ज़रिये एक दूसरे से बात करते थे. कई बार अहम जानकारियां गेम के चैट जोन के ज़रिये भी पहुँचाया जाता था.

CIA ने हनी ट्रैप किया

निशांत अग्रवाल नागपुर में रक्षा अनुसंधान एवं विकास संगठन (DRDO) की ब्रह्मोस यूनिट में कार्यरत था. इस डिपार्टमेंट में भारत की सबसे महत्वपूर्ण ‘ब्रह्मोस’ मिसाइल से जुड़ी जानकारियां होती हैं. आरोप है की निशांत वहीँ से ये सारी टेक्निकल इन्फॉर्मेशन चोरी कर अमेरिकी और पाकिस्तानी एजेंसी के साथ साझा की है. निशांत अग्रवाल उत्तराखंड के रहने वाले हैं और पिछले 4 साल से DRDO की नागपुर यूनिट में काम कर रहे हैं. और उसकी महिला हैंडलर सीआईए ऑपरेटिव है जो दिल्ली से उसे ऑपरेट कर रही थी. इससे पहले रविवार रात को भी इसी टीम ने कानपुर से एक महिला को गिरफ्तार किया था. हालांकि, उसके पास से कुछ नहीं मिला था.

Crime

VIDEO: पुणे फ़िल्मी स्टाइल में हुई लूटपाट, 4 घंटे तक वृद्ध दंपति सहित 5 लोगों को बंधक बनकरी की लूटपाट

मुंबई के व्यवसाई और उनके परिवार को हथियार के बल पर बंधक बनाकर घंटों की गई लूटपाट. पैसों के लिए गुलाबचंद छेड़ा को लेकर मुंबई भी आए थे लूटेरे

Published

on

Pune Armed robbers looted Aged couple at gunpoint in 4-hour ordeal on apte road

फिल्मों में लोगों ने कई लूटपाट की सीन देखे होंगे, जहाँ नक़ाब अपराधी हथियारों से लैस होकर घर में घुसते हैं और लोगों को बंधक बनाकर लूटपाट करके आसानी से निकल जाते हैं. बाद में मौके पर पुलिस वारदात हो जाने के बाद पहुँचती है. ये सब हो रहा था पुणे के आप्टे रोड, डेक्कन जिमखाना के पास बने सरोज सदन में. जहाँ मुंबई के मशहूर कॉटन व्यवसाई 80 साल के गुलाबचंद छेड़ा, उनके साले हंसकुमार खिमजी, उनकी पत्नी हेमाजी छेड़ा अपने दो नौकरों के साथ घर पर ही मौजूद थे.

सुबह 9 बजे जब दरवाज़े पर दस्तक हुई तो उन्हें लगा दूध वाला हमेशा की तरह देर से आया. लेकिन नौकर अनंत ने जैसे ही दरवाज़ा खोला हांथों में हथियार लिए पांच नकाबपोश घर में घुस आए. फिर घर में मौजूद सभी लोगों को एक कमरे में रस्सी से कुर्सियों पर बाँध दिया गया. बुज़ुर्गों के मुताबिक ऐसा लग रहा था मानों उन्हें सब पहले से जानकारी थी. इसके बाद लूटेरों ने घर में लूटपाट शुरू की,हथियार के बल पर घर से 6 लाख कैश, सोना चांदी और घडी मोबाइल सब लूट लिया.

लेकिन बुज़ुर्गों परेशानी तब शुरू हुई जब लूटेरे उनके साथ मारपीट करने लगे. उन्हें इस बात का यक़ीन नहीं हो रहा था की घर में सिर्फ इतने ही कैश और गहने हैं. जब लूटेरों को गुलाबचंद छेड़ा ने ये बताया की वो इससे ज़्यादा कैश तभी इंतज़ाम कर सकते हैं जब वो अपने मुंबई के कुर्ला स्तिथ दफ्तर पहुंचेंगे.

इसके बाद दो लूटेरों ने गुलाबचंद छेड़ा को कार में बिठाकर मुंबई की तरफ निकले जबकि बाकी तीन लूटेरों ने हथियार के बल पर बाकियों को घर में बंधक बनाया रखा. लेकिन इसी बीच घर में बंधक बने लोगों ने शोर मचाना शुरू कर दिया. जिससे लूटेरे डर गए और वहां से भाग खड़े हुए. उन्होंने जाते जाते अपने साथियों को भी गुलाबचंद को छोड़कर भागने को कहा.

पुलिस के मुताबिक गुलाबचंद मुंबई पहुँच भी चुके थे और उन्होंने अपने ड्राइवर को पैसा भी लेने भेजा था लेकिन साथियों के फोन आते ही वो भी भाग गए.

Continue Reading

Bollywood Crime

TV एक्टर पर बीयर की बोतल से हमला, एक्टर का आरोप पुलिस ने आरोपियों को बचने की कोशिश

रदात 12 जनवरी की रात की है. वो अपने एक दोस्त मेहँदी हसन के साथ एक पार्टी में वर्सोवा गए थे. वहीँ उनकी मुलाक़ात जीत चौधरी नाम के शख्स से हुई. लेकिन रात 1 बजे के करीब जीत चौधरी नशे में मेहँदी से झगड़ा करने लगा. जब बात बढ़ गई तो उसने बीच बचाव करने की कोशिश की, लेकिन तभी जीत चौधरी ने बीयर की बोतल से उसपर हमला कर दिया. जिससे उसकी नाक पर गंभीर चोट आई.

Published

on

Siddharth Munshi

कास्टिंग डायरेक्टर और टीवी एक्टर सिद्धार्थ मुंशी (26) पर एक शख्स ने मामूली सी बात पर बीयर की बोतल से हमला कर दिया था. जिसके बाद सिद्धार्थ ने आरोपी के खिलाफ वर्सोवा थाने में शिकायत दर्ज कराई. लेकिन एक्टर का आरोप है की पुलिस उसे कई दिन तक घुमाती रही. जबकि खुद पुलिस ने उसका मेडिकल जांच तक कराया था, जिसमे उसके नानक की हड्डी टूटने तक की पुष्टि हुई थी. सिद्धार्थ पेशे से कास्टिंग डायरेक्टर के साथ कई सीरियलों में काम कर चुके हैं. अब तक वो सावधान इंडिया, सीक्रेट डायरीज और क्राइम पैट्रॉल जैसे सीरीज़ में नज़र आ चुके हैं.

एक्टर ने बताया की वारदात 12 जनवरी की रात की है. वो अपने एक दोस्त मेहँदी हसन के साथ एक पार्टी में वर्सोवा गए थे. वहीँ उनकी मुलाक़ात जीत चौधरी नाम के शख्स से हुई. लेकिन रात 1 बजे के करीब जीत चौधरी नशे में मेहँदी से झगड़ा करने लगा. जब बात बढ़ गई तो उसने बीच बचाव करने की कोशिश की, लेकिन तभी जीत चौधरी ने बीयर की बोतल से उसपर हमला कर दिया. जिससे उसकी नाक पर गंभीर चोट आई.

सिद्धार्थ मुंशी के मुताबिक उसने फ़ौरन वर्सोवा पुलिस से फोन कर मदद मांगी और पुलिस की टीम भी वहां फ़ौरन पहुँच गई. उसकी नानक से खून बह रहा था, जिसे देखकर पुलिस उसे कूपर अस्पताल लेकर गई. लेकिन पुलिस ने मेडिकल रिपोर्ट आने के बाद भी आरोपी के खिलाफ कोई मामला दर्ज नहीं किया. उसकी शिकायत दर्ज कराने के लिए कई दिनों तक यहाँ से वहां दौड़ाया गया. तब जा कार 16 जनवरी को पुलिस ने मामला दर्ज किया.

वर्सोवा पुलिस ने आरोपी के खिलाफ IPC sections 323 (hurt), 326 (causing grievous hurt by dangerous weapons or means) and 504 (intentional insult) के तहत आरोपीजीत चौधरी के खिलाफ मामला दर्ज किया है. मगर अब तक आरोपी को गिरफ्तार नहीं किया है.

Continue Reading

Crime

बिल्डर हत्याकांड का मुंबई कनेक्शन- बुलाये गए थे अंडरवर्ल्ड के शार्प शूटर, इनाम घोषित

हत्या में सुराग देने वाले पर 20 हजार का इनाम घोषित किया था। इसे एडीजी ने तीस हजार कर दिया। इनाम की राशि 50 हजार रुपए करने के लिए पुलिस मुख्यालय पर प्रस्ताव भेजा है।

Published

on

Builder Sandeep Agrawal Murder

ब्बा कारोबारी संदीप अग्रवाल (तेल) की हत्या के तार मुंबई से भी जुड़ते दिख रहे हैं। पुलिस ने संदेही से पूछताछ के बाद देर रात मुंबई की एक महिला से बात की। महिला ने बताया, हत्याकांड में मुंबई के एक व्यापारी का हाथ हो सकता है। पुलिस अब व्यापारी का पता लगाने में जुटी है। जानकारी के अनुसार पुलिस ने एक संदेही को भी हिरासत में लिया है। वहीं महालक्ष्मी नगर में एक फ्लैट को लेकर विवाद की बात भी सामने आई है।

हत्या में इस्तेमाल कार पर फर्जी नंबर प्लेट लगाई गई थी। इस सिलसिले में इंदौर व आसपास नंबर प्लेट बनाने वालों से पूछताछ की जा रही है। सूत्रों के अनुसार इसमें कई गैंगस्टर की भूमिका भी आ रही है, जिसे लेकर एटीएस ने भी जानकारी ली है। गुरुवार रात 12 से 2 बजे तक पुलिस कंट्रोल रूम पर डीआइजी ने सभी अफसर, टीआइ की बैठक ली।

50 हजार होगा इनाम
हत्या में सुराग देने वाले पर 20 हजार का इनाम घोषित किया था। इसे एडीजी ने तीस हजार कर दिया। इनाम की राशि 50 हजार रुपए करने के लिए पुलिस मुख्यालय पर प्रस्ताव भेजा है। विजय नगर पुलिस, क्राइम ब्रांच की सात टीमें मामले की जांच में लगी है। एसटीएफ की भी एक टीम मामले की जांच कर रही है।
हरिनारायणाचारी मिश्र, डीआइजी

Continue Reading

Trending

%d bloggers like this:
Bitnami