What's In The News
Sunday, November 2018
Now Reading:
EXCLUSIVE: ब्रम्होस मिसाइल का सौदा करने वाला रंगे हाँथ पकड़ा गया, CIAऔर ISI से करता था सौदा
Full Article 2 minutes read

EXCLUSIVE: ब्रम्होस मिसाइल का सौदा करने वाला रंगे हाँथ पकड़ा गया, CIAऔर ISI से करता था सौदा

ख़ुफ़िया एजेंसी और मिलिटरी इंटेलिजेंस के इनपुट पर उत्तर प्रदेश ATS ने महाराष्ट्र के नागपुर स्थित डीआरडीओ यूनिट से पाकिस्तान एजेंट को रेंज हाँथ पकड़ा है. गिरताफतार आरोपी पाकिस्तानी खुफिया एजेंसी इंटर सर्विसेज इंटेलिजेंस (आईएसआई) के लिए काम करता था.गिरफ्तार एजेंट का नाम निशांत अग्रवाल हैं और वह ब्रह्मोस यूनिट में ही काम करता था. पकडे जाने से पहले निशांत अग्रवाल को डीआरडीओ यूनिट में बेहतरीन काम करने के लिए कई अवार्ड्स भी मिल चुके हैं.

अगर ख़ुफ़िया सूत्रों की मानें तो आरोपी निशांत अग्रवाल पिछले एक साल से अमेरिकी ख़ुफ़िया एजेंसी सीआईए और पाकिस्तानी ख़ुफ़िया एजेंसी आईएसआई के पैरोल पर काम कर रहा था. उस पर एक नहीं बल्कि देश की कई ख़ुफ़िया एजेंसियों ने उसे अपने रडार पर रखा था. आज जब वो एन्क्रिप्टेड सन्देश भेज रहा था तभी उसे रंगे हाँथ पकड़ा गया है. सूत्र बताते हैं आरोपी ने आईएसआई को कई संवेदनशील जानकारियां पहुंचाई हैं. ये पूरा ऑपरेशन महाराष्ट्र और उत्तर प्रदेश एटीएस ने संयुक्त रूप से किया है.

गेम के चैट जोन से करता था बात

पकडे गए आईएसआई एजेंट निशांत अग्रवाल पर आरोप है की उसने मिसाइल से जुडी कई जानकरियां दिल्ली और पाकिस्तान में बैठे अपने हैंडलर तक पहुंचाई है. वो ये सारी जानकारियां सोशल मीडिया के ज़रिये इन्क्रिप्टेड और कोड वर्ड में पहुंचता था. दोनों एक समय पर लड़कियों की आईडी के ज़रिये एक दूसरे से बात करते थे. कई बार अहम जानकारियां गेम के चैट जोन के ज़रिये भी पहुँचाया जाता था.

CIA ने हनी ट्रैप किया

निशांत अग्रवाल नागपुर में रक्षा अनुसंधान एवं विकास संगठन (DRDO) की ब्रह्मोस यूनिट में कार्यरत था. इस डिपार्टमेंट में भारत की सबसे महत्वपूर्ण ‘ब्रह्मोस’ मिसाइल से जुड़ी जानकारियां होती हैं. आरोप है की निशांत वहीँ से ये सारी टेक्निकल इन्फॉर्मेशन चोरी कर अमेरिकी और पाकिस्तानी एजेंसी के साथ साझा की है. निशांत अग्रवाल उत्तराखंड के रहने वाले हैं और पिछले 4 साल से DRDO की नागपुर यूनिट में काम कर रहे हैं. और उसकी महिला हैंडलर सीआईए ऑपरेटिव है जो दिल्ली से उसे ऑपरेट कर रही थी. इससे पहले रविवार रात को भी इसी टीम ने कानपुर से एक महिला को गिरफ्तार किया था. हालांकि, उसके पास से कुछ नहीं मिला था.

Input your search keywords and press Enter.
%d bloggers like this:
Bitnami