What's In The News
Sunday, November 2018
Now Reading:
गोलियों के बीच फंसे पत्रकार का वो आखिरी संदेश, नक्सली हमले में शहीद हुआ है पत्रकार
Full Article 3 minutes read

गोलियों के बीच फंसे पत्रकार का वो आखिरी संदेश, नक्सली हमले में शहीद हुआ है पत्रकार

छत्तीसगढ़ के दंतेवाड़ा में हुए पुलिस और नक्सलियों के बीच चल रहे मुठभेड़ के दौरान डीडी न्यूज का एक पत्रकार समेत दो जवान शहीद हो गए थे. घने जंगलों में अचानक 100-150 की संख्या में माओवादियों ने CRPF पार्टी पर हमला बोल दिया था. उनके साथ दूरदर्शन की टीम भी थी जो इसकी चपेट में आ गए थे. अब इस हमले के करीब 24 घंटे बाद एक वीडियो सामने आया है. जिसे दूरदर्शन के असिस्टेंट कैमरामेन ने शूट किया था. मोर मुकुट नाम के इस कैमरामेन के इस वीडियो में लगतार गोलियों की आवाज़ सुनी जा सकती है और ज़मीन पर लेटे मोर मौजूदा हालत को बयान कर रहे हैं.

मोर मुकुट ने खुद के बचने की उम्मीद भी छोड़ दी थी और अपनी माँ के नाम एक भावुक संदेश भी रिकॉर्ड किया था. वो इस वीडियो में बेहद डरे हुए और भावुक नज़र आ रहे हैं. वीडियो बनाते वक़्त वो खुद इस बात को कह रहे हैं की इस भीषण गोलीबार में अब उनका बचना काफी मुश्किल है. आपको बता दें, माओवादियों के द्वारा ये हमला तब हुआ था जब पुलिस सर्च ऑपरेशन पर निकली थी.

वीडियो में मोर मुकुट ने क्या कहा-
‘आतंकवादी हमला हो गया है.. हम दंतेवाड़ा में हैं.. हम लोग चुनाव के कवरेज के लिए आए थे. एक रास्ते से जा रहे थे. आर्मी हमारे साथ थी. अचानक नक्सलियों ने घेर लिया.. मम्मी अगर मैं जीवित बचा.. मम्मी मैं तुम्हें बहुत प्यार करता हूं.. ‘

उन्होंने आगे कहा, ”हो सकता है मैं इस हमले में मारा जाऊं.. परिस्थिति सही नहीं है.. पता नहीं क्यों मौत को सामने देखते हुए डर नहीं लग रहा है.. बचना मुश्किल लग रहा है यहां पर 6-7 जवान हैं हमारे साथ में चारों तरफ से घेर लिया गया है.. फिर भी मैं यहीं कहूंगा..”

मंगलवार को छत्तीसगढ़ माओवादियों के द्वारा ये हमला निलवाया गांव के जंगलों के पास किया गया था. मंगलवार सुबह माओवादी और पुलिस के बीच एनकाउंटर हुआ था. ये पूरा हमला जिला प्रशासनिक कार्यालय से लगभग 30 किमी दूर हुआ था. वहीं दंतेवाड़ा के DIG ने मीडिया से बात करते हुए कहा था कि, ‘दो पुलिस के अधिकारी के साथ-साथ दूरदर्शन के एक कैमरामैन अच्युतानंद शहीद हो गए है.’

इसके साथ ही उन्होंने कहा था, ‘ये घटना चुनाव से संबंधी है या नहीं ये जांच के बाद ही पता चलेगा. वो लोग अपनी उपस्थिति दर्ज करने के लिए हमला कर रहे हैं. हमारे पास स्पेशल टीम भी है हम कार्यवाई करेंगे. इन क्षोत्रों में हम सुरक्षा को लेकर पहले से भी सर्तक थे.. 2018 में हमने उनके खिलाफ काफी आक्रामक तरीके से कार्रवाई की थी..घटना की जांच करने के बाद ही पूरा मामला पता चलेगा.’

Input your search keywords and press Enter.
%d bloggers like this:
Bitnami