Connect with us

National

VIDEO: दो गुना हो गई है भारतीय सेना की ताकत, हथियारों के बड़े में शामिल हुआ M-777 और K-9 आर्टिलरी गन

Published

on

देश के लिए आज बेहद अहम दिन है, हमारी सेना आज से दो गुने ताक़त से लैस हो गया है. आज से भारतीय सेना की ताकत में केंद्रीय रक्षा मंत्री निर्मला सीतारमण ने के9 वज्र और एम777 होवित्जर समेत नई तोपों और उनके उपकरणों को तोपखाने में शामिल कर दिया है. इस ख़ास मौके पर खुद सेना चीफ भी मौजूद रहे. इसका औपचारिक एलान आज महाराष्ट्र के नाशिक स्तिथ देवलाली तोपखाने में आयोजित एक समारोह के दौरान किया गया. इस अवसर पर सेना ने अपने नए हथियार M-777 और K-9 आर्टिलरी गन के साथ अपनी ताक़त का भी प्रदर्शन किया.

रक्षा मंत्रालय के मुताबिक इस अचूक हथियार को नवंबर 2020 तक 4,366 करोड़ रुपये की सौ के9 वज्र तोपों को तोपखाने में शामिल कर लिया जाएगा. इस महीने के अंत तक इसी बैच की दस तोपें तोपखाने तक पहुंच जाएंगी. वहीँ नवंबर 2019 में 40 और नवंबर 2020 में 50 व्रज तोपें मिल जाएंगी. ये पहली बार है जब भारतीय निजी क्षेत्र स्वदेशी के9 वज्र की पहली रेजिमेंट को तैयार कर रहा है. तोपखाने में शामिल इस नए हथियार के अचूक निशाने और मारक क्षमता की बात करें तो ये 28-38 किलोमीटर तक मार करने में सक्षम हैं. ये हथियार महज तीस सेकेंड में अनवरत तीन राउंड की गोलाबारी कर सकती है. इसके इलावा ये तीन मिनट में 15 राउंड की भीषण गोलाबारी कर सकती है और 60 मिनटों में लगातार 60 राउंड की फायरिंग भी कर सकती है.

रक्षा मंत्रालय के मुताबिक इसके अलावा, सेना कुल 145 एम777 होवित्जर तोपों की साथ रेजिमेंट भी बनाएगी, अगस्त 2019 की शुरुआत में पांच तोपें सेना को सौंप दी जाएंगी. जबकि यह प्रक्रिया पूरी होने में 24 महीनों का वक्त लगेगा। पहली रेजिमेंट अगले साल अक्टूबर में पूरी हो जाएगी. 30 किलोमीटर की मारक क्षमता वाली इस तोप को हेलीकॉप्टरों या विमान से एक से दूसरे स्थान पर पहुंचाया जा सकेगा.

Crime

VIDEO:बिल्डर को हमलावरों ने सरेआम गोलियों से छलनी किया, देखिये का हत्या के लाइव सीसीटीवी फुटेज

संदीप अग्रवाल पर एक के बाद एक छह सात फायर किए, जिसमें से चार गोली उसे लगी। एक गोली अग्रवाल के गर्दन, दूसरी पेट और दो गोली पैर में लगी। फायर करने के जाने के बाद एक हमलावर फिर दौड़कर वापस आया और पुनः संदीप पर फायर करके भाग गया।

Published

on

Builder Sandeep Agrawal Murder

इंदौर। विजयनगर थाने से कुछ ही दूरी पर बुधवार देर शाम अज्ञात हमलावरों ने शहर के नामी बिल्डर संदीप अग्रवाल उर्फ संदीप तेल को गोली मारी दी। गम्भीर हालत में उसे बॉम्बे हॉस्पिटल ले गए जहां रात में डॉक्टरों ने उसे मृत घोषित कर दिया। घटना की सूचना मिलते ही पुलिस के आला अधिकारी अस्पताल और मौके पर पहुंचे।

मिली जानकारी के अनुसार विजय नगर थाने से चंद क़दम दूर पर सच्चिदानंद कॉम्पलेक्स है। यहीं पर संदीप का ऑफिस है। संदीप तेल बुधवार शाम साढ़े 6 बजे के करीब अकेले जब कही जाने के लिए ऑफिस से निकला और अपनी कार के पास जैसे ही पहुँचा तभी सड़क के दूसरी तरफ खड़ी एक सफ़ेद रंग की कार से आए चार अज्ञात बदमाश उड़की तरफ बढ़े।

Builder Sandeep Agrawal

Builder Sandeep Agrawal

इन्होंने संदीप अग्रवाल पर एक के बाद एक छह सात फायर किए, जिसमें से चार गोली उसे लगी। एक गोली अग्रवाल के गर्दन, दूसरी पेट और दो गोली पैर में लगी। फायर करने के जाने के बाद एक हमलावर फिर दौड़कर वापस आया और पुनः संदीप पर फायर करके भाग गया। हमलावरों की संख्या चार बताई गई है। यह नज़ारा देख मौके पर भगदड़ मच गई। काफी देर तक संदीप सड़क पर तड़फता रहा। बाद में उसका एक साथी बॉम्बे हॉस्पिटल ले गया, जहां बाद में मौत हो गई।।
मृतक का पूरा नाम संदीप पिता बालकृष्ण अग्रवाल निवासी पालीवाल नगर था।

मिले कई सीसीटीवी फुटेज

पुलिस को मौके से कई तरह के सीसीटीवी फुटेज मिले हैं, जिनके आधार पर हमलावरों के बारे में पता लगाने की कोशिश की जा रही है। संदीप जमीन व बिल्डर लाइन के अलावा डब्बा कारोबार और ब्याज पर पैसे देने आदि से जुड़ा था। कई मामले भी उस पर चले।

प्रोफेशनल हो सकते हैं हत्यारे

फिलहाल आरोपियों के बारे में कोई सुराग नहीं मिला है और न ही घटना के कारणों का खुलासा हो पाया है। सीसीटीवी कैमरे में जिस तरह से और गोली चलाते हुए दिख रहा है उससे पुलिस को आशंका है कि इस वारदात को प्रोफेशनल बदमाश द्वारा अंजाम दिया गया है। इस आशंका को नहीं लगाया जाता की सुपारी देकर यह हमला कराया गया हो।

कुछ दिन पहले हुआ था विवाद

बताते है संदीप का कुछ दिन पहले किसी से विवाद भी हुआ था। मामला पलासिया पुलिस तक पहुंचा था। केबल टीवी से जुड़े कारोबार को लेकर भी विवाद की बात सामने आई है। प्रारंभिक तौर पर पुलिस को व्यावसायिक प्रतिद्वंद्विता के चलते यह हत्या होने की आशंका है।

Continue Reading

National

नौसेना को अवैध कोयला खदान से मिला मजदूर का शव, सर्च ऑपरेशन जारी

ससे पहले नौसेना खनिकों को खोजने के लिए अंदर पानी में फंसे उपकरण को निकालने में लगी रही। अधिकारियों ने बताया कि नौसेना की पूरे दिन की मेहनत रंग लाई। सोमवार को अभियान खत्म करने से पहले सैन्यकर्मी पूर्वी जयंतिया हिल्स जिले की 370 फुट गहरी कोयले की खदान से अपना उपकरण निकालने में कामयाब रहे।

Published

on

मेघालय (Meghalaya) की अवैध कोयला खदान (Meghalaya Mine) के भीतर मजदूरों को खोजने के लिए चलाया जा रहा रेस्क्यू ऑपरेशन जारी है। नौसेना ने खदान के 200 फीट अंदर से पहला शव (Dead Body) निकाला है। बता दें कि इस अवैध कोयला खदान में 15 मजदूर फंस गए थे।

मेघालय के पूर्वी जयंतिया जिले में स्थित अवैध खदान में 13 दिसंबर से खनिकों को निकालने के लिए एनडीआरएफ, स्थानीय लोगों और नौसेना का रेस्क्यू ऑपरेशन चल रहा है। इस बारे में बात करते हुए जिले के अतिरिक्त उपायुक्त एसएस सियामीलीह ने बताया कि नौसेना को एक शव मिला है।

Meghalaya Coal Mine

Meghalaya Coal Mine

Meghalaya Coal Mine

Meghalaya Coal Mine

इससे पहले नौसेना खनिकों को खोजने के लिए अंदर पानी में फंसे उपकरण को निकालने में लगी रही। अधिकारियों ने बताया कि नौसेना की पूरे दिन की मेहनत रंग लाई। सोमवार को अभियान खत्म करने से पहले सैन्यकर्मी पूर्वी जयंतिया हिल्स जिले की 370 फुट गहरी कोयले की खदान से अपना उपकरण निकालने में कामयाब रहे।

अभियान के प्रवक्ता आर सुसंगी ने पीटीआई-भाषा को जानकारी दी थी कि दिन में, सबमरसिबल रोबॉटिक निरीक्षण में माहिर चेन्नई की एक कंपनी की टीम ने अपने छोटे रोबोट वाहनों का उपयोग करके पास की खाली पड़ी खदान से पानी के अंदर अपना खोज अभियान शुरू किया।

प्रवक्ता ने कहा कि उन्हें इन छोटे प्रवेश द्वार वाली खदानों का नक्शा तैयार करने की जिम्मेदारी देने के साथ-साथ यह भी देखने को कहा गया है कि क्या फंसे हुए खनिकों का कोई सुराग है।

Continue Reading

National

VIDEO: जो भी सामने आया उन्हें मारते चले गए ये आतंकी, अब तक का सबसे बड़ा हमला

सोमालिया के चरमपंथी समूह अल शबाब ने इस हमले की जिम्मेदारी ली. शहर के बिज़नेस सेंटर के बेहद पास स्थित इस होटल में स्पा और कई रेस्त्रां भी

Published

on

Nairobi attack

नैरोबी. केन्या की राजधानी नैरोबी के वेस्टलैंड्स इलाके में स्थित पांच सितारा होटल और कार्यालय परिसर में मंगलवार को हुए आतंकी हमले में 11 लोगों के मारे जाने की खबर है, जबकि कई घायल हैं। सोमालिया के चरमपंथी समूह अल शबाब ने इस हमले की जिम्मेदारी ली है। हालांकि, समूह ने इसके अलावा कोई जानकारी नहीं दी।

पांच सितारा दुसित होटल में 101 कमरे हैं। शहर के बिज़नेस सेंटर के बेहद पास स्थित इस होटल में स्पा और कई रेस्त्रां भी हैंं। बैंक और दफ्तर भी हैं। स्थानीय समयानुसार दोपहर 3 बजे हमला शुरू हुआ था। आतंकियों ने अफरातफरी पैदा करने के लिए पहले पार्किंग में खड़ी कारों को विस्फोटक से उड़ा दिया। चश्मदीदों के मुताबिक, इसके बाद हथियारों से लैस चार लोग होटल में दाखिल हुए और गोलीबारी शुरू कर दी। हमले के बाद लोग दहशत में आए गए और जान बचाने के लिए इधर-उधर भागने लगे। हमलावरों ने हरे रंग के कपड़े पहने हुए थे और उसपर गोला-बारूद लिपटा था। परिसर के गलियारे में एक ग्रेनेड भी देखा गया, जिसमें विस्फोट नहीं हुआ।

Nairobi terror attack: gunfire heard hours after minister declares scene secure

Nairobi terror attack: gunfire heard hours after minister declares scene secure

पुलिस प्रवक्ता चार्ल्स ओविनो ने बताया कि उन्होंने आतंकवाद रोधी इकाई के अधिकारियों समेत अन्य बलों को मौके पर पहुंचाकर राहत कार्य शुरू कराया। सुरक्षा बलों ने लोगों को तेजी से बाहर निकाला। एंबुलेंस, सुरक्षा बल और दमकल कर्मी घटनास्थल पर पहुंचे और बचाव कार्य शुरू किया गया। बॉम्ब स्कवॉड ने गाड़ियों में विस्फोटक होने के अंदेशे के मद्देनजर घेराबंदी की है। हमले में पार्किंग में खड़े वाहनों में आग भी लग गई। परिसर से काले धुएं का गुबार निकल रहा था।

सोमालिया के चरमपंथी संगठन अल-शबाब ने हमले की जिम्मेदारी लेते हुए कहा कि उसके सदस्य अंदर लड़ रहे हैं। इस संगठन ने 2013 में वेस्टगेट मॉल पर हमला किया था, जिसमें 67 लोगों की मौत हुई थी। अल शबाब ने 2011 में केन्या द्वारा सोमालिया में सैनिक भेजने के खिलाफ बदला लेने का संकल्प लिया हुआ है। अल कायदा से संबद्ध समूह केन्या में सैकड़ों लोगों की जान ले चुका है।

होटल के पास की इमारत में काम करने वाली एक महिला ने एक समाचार एजेंसी से कहा, “मैंने गोलियां चलने की आवाज़ सुनी, फिर हाथ ऊपर उठाए लोगों को भागते हुए देखा, कुछ लोग अपनी जान बचाने के लिए बैंक में घुस रहे थे।”

Continue Reading

Trending

%d bloggers like this:
Bitnami