What's In The News
Sunday, November 2018
Now Reading:
VIDEO: दो गुना हो गई है भारतीय सेना की ताकत, हथियारों के बड़े में शामिल हुआ M-777 और K-9 आर्टिलरी गन
Full Article 2 minutes read

VIDEO: दो गुना हो गई है भारतीय सेना की ताकत, हथियारों के बड़े में शामिल हुआ M-777 और K-9 आर्टिलरी गन

देश के लिए आज बेहद अहम दिन है, हमारी सेना आज से दो गुने ताक़त से लैस हो गया है. आज से भारतीय सेना की ताकत में केंद्रीय रक्षा मंत्री निर्मला सीतारमण ने के9 वज्र और एम777 होवित्जर समेत नई तोपों और उनके उपकरणों को तोपखाने में शामिल कर दिया है. इस ख़ास मौके पर खुद सेना चीफ भी मौजूद रहे. इसका औपचारिक एलान आज महाराष्ट्र के नाशिक स्तिथ देवलाली तोपखाने में आयोजित एक समारोह के दौरान किया गया. इस अवसर पर सेना ने अपने नए हथियार M-777 और K-9 आर्टिलरी गन के साथ अपनी ताक़त का भी प्रदर्शन किया.

रक्षा मंत्रालय के मुताबिक इस अचूक हथियार को नवंबर 2020 तक 4,366 करोड़ रुपये की सौ के9 वज्र तोपों को तोपखाने में शामिल कर लिया जाएगा. इस महीने के अंत तक इसी बैच की दस तोपें तोपखाने तक पहुंच जाएंगी. वहीँ नवंबर 2019 में 40 और नवंबर 2020 में 50 व्रज तोपें मिल जाएंगी. ये पहली बार है जब भारतीय निजी क्षेत्र स्वदेशी के9 वज्र की पहली रेजिमेंट को तैयार कर रहा है. तोपखाने में शामिल इस नए हथियार के अचूक निशाने और मारक क्षमता की बात करें तो ये 28-38 किलोमीटर तक मार करने में सक्षम हैं. ये हथियार महज तीस सेकेंड में अनवरत तीन राउंड की गोलाबारी कर सकती है. इसके इलावा ये तीन मिनट में 15 राउंड की भीषण गोलाबारी कर सकती है और 60 मिनटों में लगातार 60 राउंड की फायरिंग भी कर सकती है.

रक्षा मंत्रालय के मुताबिक इसके अलावा, सेना कुल 145 एम777 होवित्जर तोपों की साथ रेजिमेंट भी बनाएगी, अगस्त 2019 की शुरुआत में पांच तोपें सेना को सौंप दी जाएंगी. जबकि यह प्रक्रिया पूरी होने में 24 महीनों का वक्त लगेगा। पहली रेजिमेंट अगले साल अक्टूबर में पूरी हो जाएगी. 30 किलोमीटर की मारक क्षमता वाली इस तोप को हेलीकॉप्टरों या विमान से एक से दूसरे स्थान पर पहुंचाया जा सकेगा.

Input your search keywords and press Enter.
%d bloggers like this:
Bitnami