0

उत्तर प्रदेश महाराजगंज से एक चौकाने वाला मामला सामने आया है। जहां भारतीय जनता पार्टी के युवा मोर्चा के एक नेता ने बहुत जल्द सुर्खियों में आने के लिए खुद के ऊपर गोली चलवाई ताकि सरकार उसकी सुरक्षा के लिए गनर उपलब्ध करवा दे। जिसकी धौंस के सहारे वह अपनी राजनीति चमका सके।

महराजंगज जनपद के कोतवाली थाना क्षेत्र में 2 अगस्त को एक मिठाई की दुकान पर दो राउंड गोलियां चली थी। जिसके बाद अपने ऊपर जानलेवा हमला किए जाने की बात कहकर युवा बीजेपी नेता शिवभूषण चौबे उर्फ चंचल चौबे ने पुलिस अधिकारियों और मीडिया को घटना की जानकारी दी थी। इस मामले को सुलझाने के लिए एसपी से लेकर कोतवाल 10 दिन तक परेशान रहे।

Related Post:  मेरठ पुलिस की मर्दानगी: किन्नरों पर जमकर बरसाई लाठी, वीडियो हुआ वायरल

आखिर में जब मामले का खुलासा हुआ तो पूरी कहानी समझ में आ गयी। जानकारी के मुताबिक गनर की चाहत में बीजेपी नेता ने खुद पर फायरिंग कराई थी। राज खुलने के बाद पुलिस ने उसे जेल दिया। बतादें कि चंचल चौबे नामक युवक जो बीजेपी युवा मोर्चा का तेजी से उभरता हुआ नेता था। उसकी ख्वाहिश थी कि वह एक लाइसेंसी असलहा हासिल कर ले और जब सड़क पर निकले तो उसके आगे पीछे सरकारी गनर चले।

Related Post:  उत्तर प्रदेश : ताजमहल देखने जा रहे एक ही परिवार के आठ लोगों की सड़क हादसे में मौत

इसी के चक्कर में बीजेपी नेता ने खुद पर फायरिंग कराई थी। राज खुलने के बाद उसे पुलिस ने तो गया जेल भेज दिया है। मामला खुलने के बाद उसे पार्टी से भी निकाल दिया गया है। पुलिस पर दबाव बनाने के लिए युवा मोर्चा के नेताओं ने मुख्यमंत्री को भी पत्रक सौंपा था जिसके बाद पुलिस पर इस मामले का खुलासा करना अनिवार्य हो गया था लिहाजा एक टीम बनाकर इस मामले की जांच की जा रही थी।

Related Post:  शाहजहांपुर: नाली के विवाद में दिव्यांग की पीट पीटकर हत्या , आरोपी फरार
abhi

बाल्की नहीं बना रहे पर्वतारोही अरुणिमा सिन्हा की बायोपिक, जाह्नवी ने जॉर्जिया में पूरी की कारगिल की शूटिंग

Previous article

पाकिस्तान में टमाटर 300/Kg और दूध 100 रुपए लीटर, अभी और होगा नुकसान

Next article

You may also like

More in Top Stories

Comments

Comments are closed.