Connect with us

Top Stories

‘सावधान इंड‍िया’ के अगले होस्‍ट होंगे जिम्‍मी शेरग‍िल?

Published

on

प‍िछले कई सालों से टीवी में धूम मचा रहा शो ‘सावधान इंड‍िया’ टीआरपी के दौड़ में हमेशा छाया रहा है. इस शो को सुशांत स‍िंह होस्‍ट करते आए हैं. अब खबर आ रही है कि इस शो के लि‍ए अब दूसरा चेहरा मिल गया है. करीबी सूत्रों के मुताब‍िक अब इस शो को होस्‍ट करते नजर आएंगे ज‍िम्‍मी शेरग‍िल. बीते द‍िनों होस्‍ट के लि‍ए आर माधवन, नवाजुद्दीन सिद्दीकी, राजकुमार राव, के.के मेनन जैसे स्‍टार्स की अटकलें लगाई जा रही थी.

जिम्मी की फि‍ल्‍म ‘फेमस’ एक जून को सिनेमाघरों में र‍िलीज हुई है. इसमें जिम्मी के अलावा केके मेनन , पंकज त्रिपाठी , जैकी श्राफ और माही गिल मुख्य भूमिका में नजर आएं हैं. जिम्मी ने अपने करियर की शुरुआत गुलजार के निर्देशन में बनी फिल्म‘ माचिस ’ से की थी. इसके बाद वह आदित्य चोपड़ा की ‘ मोहब्बतें ’ में अमिताभ बच्चन और शाहरूख खान के साथ नजर आए थे. इसके बाद उन्होंने ‘ मेरे यार की शादी है ’, ‘ दिल है तुम्हारा ’ और ‘ दिल विल प्यार व्यार ’ जैसी फिल्मों में काम किया. 2003 के बाद वह ‘ हासिल ’, ‘ यहां ’, ‘ ए वेडनसडे ’, ‘ मुन्ना भाई एमबीबीएस ’, ‘ तनु वेड्स मनु ’ और ‘ साहेब , बीवी और गैंगेस्टर ’ श्रृंखला जैसी फिल्मों में काम किया.

आपको बता दें कि चार सालों से टीवी दर्शकों का पसंदीदा शो बने रहने के बावजूद इस शो को बंद करने का फैसला चौंकाने वाला है. सुशांत स‍िंह के अलावा शो को मोहनीश बहल, पूजा गौर, सौरभ राज जैन, शिवानी तोमर, हितेन तेजवानी, दिव्या दत्ता और सिद्धार्थ शुक्ला जैसे एक्टर्स ने भी होस्ट किया था.

गौरतलब है क‍ि मार्च में इस शो को अचानक बंद कर द‍िया था. खबरों के मुताबिक शो की कहानियों को दिखाए जाने के तरीके को लेकर शिकायतें बार-बार आ रही थीं. ऐसा कहा जा रहा है कि जिस तरह से क्राइम की सच्ची कहानियों को दिखाया जाता था, वो गलत था.

आपको बता दें कि स्टार समूह ने पिछले साल ही लाइफ-ओके को स्टार भारत के तौर पर रीलॉन्च किया. स्टार भारत में टीवी शोज को लेकर एक नई पॉलिसी का चुनाव किया गया.

Crime

VIDEO : 100 फ़ीट नीचे कुएं में उतरने पर मिल रहा है सिर्फ एक मटका पानी, पताल से पानी निकालने की जद्दोजहत

गर्मी ने ठीक से अपनी तपिश भी नहीं दिखाई है और महाराष्ट्र के ग्रामीण इलाकों में पानी सैंकड़ों फ़ीट नीचे पाताल में नहीं मिल रहा है

Published

on

गर्मी ने ठीक से अपनी तपिश भी नहीं दिखाई है और महाराष्ट्र के ग्रामीण इलाकों में पानी सैंकड़ों फ़ीट नीचे पाताल में नहीं मिल रहा है। अप्रैल महीने में ही गर्मी के सितम बढ़ने के साथ ही नहर, नाले और कुएं तक साथ छोड़ने लगे हैं। इसका असर अब ग्रामीण क्षेत्रों में नजर भी आने लगा है। महाराष्ट्र के नासिक जिले का बर्डेवाड़ी गांव दो भागों में बंटा है, इस गांव में करीब 500 आदिवासी परिवार के घर हैं। गर्मी और सूरज की तपीश से जमीन में दरार पड़ गई है। बस्ती के सामने 10 फीट गहरा एक कुआं है। लेकिन पानी का एक बून्द मैयस्सर नहीं, पानी के आस में लोगों ने उस कुएं को खोद खोद कर 100 फ़ीट गहरा कर दिया है।

हालत इतनी बुरी हो गई है परिवार का प्यास बुझाने के लिए महिलाएं और बच्चियां अपनी ज़िन्दगी दाव पर लगाकर हर रोज़ कुएं में उतरती हैं लेकिन मिलता है सिर्फ एक ग्लास से गंदा पानी । हर रोज़ एक मटका पानी भरने में करीब 2 से 3 घंटा लगता है। बस्ती के हर घर की यही कहानी है। यह क्रम पूरे दिन चलता रहता है।

गर्मी शुरू हो चुकी है। ऐसे में पानी की कहानी के कई किस्से आपको पढऩे को मिल जाएंगे। पर, आज हम एक ऐसे गांव की कहानी आपको बता रहे हैं, जहां प्यास बुझाने के लिए हर रोज कई जिंदगियां मौत से लड़ती हैं। 3286 लोगों की आबादी वाला ये गांव नाशिक के बर्डेवाड़ी गांव की कहानी है।

पाताल में पानी होता तो वहां से भी निकाल लाते
पूरे इलाके में पानी का भीषण संकट है। गाँव के आस पास के पांच किलोमीटर के दायरे में सिर्फ दो कुएं हैं जिनमें से दोनों सूख चुके हैं। पीने के पानी का दूसरा स्रोत गांव से 14 किलोमीटर दूर एक कुआं हैं, जहां से पानी निकालना मौत को दावत देने जैसा है। पर, जिंदा रहने के लिए यहां के ग्रामीण इतने कठोर हो चुके हैं कि यदि पाताल में भी पानी होता तो वे वहां से भी निकाल लाते हैं।

जानलेवा है ये कुआं
जो कुआं इस पूरी ग्राम पंचायत की प्यास बुझाता है, उसमें पानी जमीन से करीब 100 फीट नीचे है। पानी दूषित है, फिर भी गांव वाले कुएं में नीचे उतरकर पानी लाते हैं और पीते हैं। महिला और बच्चों को पानी भरने के लिए खुद कुएं में उतरना पड़ता है। इस कुएं पर घाट नहीं है, ऐसे में कुएं में झांकने पर भी इसमें गिरने का डर बना रहता है

Continue Reading

Bollywood/Fashion

पीएम नरेंद्र मोदी के लिए अक्षय कुमार बने पत्रकार, लिया इंटरव्यू

बॉलीवुड के खिलाडी यानी अक्षय कुमार उन स्टार्स में से हैं, जो देश से अपना जुड़ाव दिल से महसूस करते हैं.

Published

on

बॉलीवुड के खिलाडी यानी अक्षय कुमार उन स्टार्स में से हैं, जो देश से अपना जुड़ाव दिल से महसूस करते हैं. ऐसे में अक्षय एक एक्टर होने के अलावा अब एक पत्रकार की भूमिका में भी नजर आ रहे हैं. जी हां, दरअसल अक्षय ने और कोई नहीं बल्कि भारत के प्रधान मंत्री नरेंद्र मोदी का इंटरव्यू लिया है, जो कि अपने आप में खास है.

नीचे देखें अक्षय कुमार और नरेंद्र मोदी के बीच हुई बातचीत का खास वीडियो:

Continue Reading

Crime

श्रीलंका में हमला : न्यूजीलैंड की मस्जिदों पर हुई गोलीबारी का बदला, सामने आया हमलावर का वीडियो

श्रीलंका सीरियल बम ब्लास्ट का सीसीटीवी ( CCTV) फुटेज सामने आया है। जिसमें फिदाइन हमलावर जिसका फुटेज साफ तो नज़र नहीं आ रहा है।

Published

on

श्रीलंका सीरियल बम ब्लास्ट का सीसीटीवी ( CCTV) फुटेज सामने आया है। जिसमें फिदाइन हमलावर जिसका फुटेज साफ तो नज़र नहीं आ रहा है। लेकिन उसके कंधे पर एक भारी बैग दिखाई दे रहा है। शक है की इसी फिदायीन ने चर्च में विस्फोटक प्लांट किया था। और उसके कंधे पर जो बैग उसी में विस्फोटक लाया गया था।

28 सेकंड का ये वीडियो कोलंबो के संत सेबेस्टियन चर्च का है। संदिग्ध हमलावर नीली शर्ट में चर्च में दाखिल होते हुए दिखाई दे रहा है। जिसके महज़ कुछ ही मिनट के बाद ज़ोरदार धमाका हुआ था।

देखिए VIDEO

वहीं श्रीलंका के एक वरिष्ठ मंत्री ने मंगलवार को कहा कि देश में गत रविवार को ईस्टर के मौके पर गिरजाघरों और होटलों को निशाना बनाकर किए गए हमले न्यूजीलैंड में मस्जिदों पर की गई गोलीबारी का बदला थे। श्रीलंका के रक्षा मंत्री रुवन विजयवर्द्धने ने संसद को संबोधित करते हुए बताया कि प्राथमिक जांच में पता चला है कि घातक धमाके क्राइस्टचर्च की दो मस्जिदों में हुई गोलीबारी का बदला हैं, जिसमें 50 लोगों की जान चली गई थी। विजयवर्द्धने ने साथ ही बताया कि हमले में घायल 500 में से 375 का इलाज अब भी अस्पताल में जारी है।

श्रीलंका सरकार ने कहा है कि ईस्टर के मौके पर रविवार को देश में हुए सिलसिलेवार बम धमाकों की वजह से हुई विनाश की घटना कल्पना से परे थी और खुफिया जानकारी पहले मिल जाने के बावजूद देश में बड़ी संख्या में मौजूद गिरजाघरों को सुरक्षा प्रदान करना तकरीबन ‘असंभव था। इन हमलों में 10 भारतीयों समेत 310 लोगों की मौत हो गई है।

देश के रक्षा मंत्री हेमासिरी फर्नांडो ने मंगलवार को स्थानीय मीडिया से यह बात कही। माना जा रहा है कि सात आत्मघाती हमलावरों ने इन हमलों को अंजाम दिया। इनका संबंध स्थानीय कट्टर इस्लामिक संगठन नेशनल तौहीद जमात (एनटीजे) से माना जा रहा है। हालांकि किसी समूह ने सीधे इसकी जिम्मेदारी नहीं ली है।

फर्नांडो ने कहा कि, ”इन हमलों की जानकारी पहले मिल जाने के बाद भी गत रविवार को इतनी अधिक संख्या में मौजूद चर्चों को सुरक्षा प्रदान करना असंभव था। उन्होंने संडे टाइम्स से कहा कि सरकार ने कल्पना नहीं की थी कि इतने बड़े पैमाने पर हमले को अंजाम दिया जायेगा।

फर्नांडो ने कहा कि देश की खुफिया एजेंसियों ने सरकार को पहले ही सूचित कर दिया था कि देश में एक छोटा लेकिन ताकतवर आपराधिक समूह सक्रिय है। इससे पहले इन हमलों में मारे गए लोगों की याद में देश में तीन मिनट का मौन रखा गया। इस दौरान राष्ट्रीय ध्वज झुका दिये गए। यह रस्मी शोक सुबह साढ़े आठ बजे शुरू हुआ।

गौरतलब है कि श्रीलंका में रविवार को गिरजाघरों तथा पांच सितारा होटलों को निशाना बनाकर किये गए सिलसिलेवार धमाकों में 321 लोगों की जान चली गई है और अन्य 500 लोग घायल हुए हैं।

Continue Reading

Bitnami