Connect with us

Crime

भय्यूजी महाराज आत्‍महत्‍या मामले में साजिशों से उठ रहे पर्दे, महाराज का करीबी लाया था लड़की

इस मामले में अब एक के बाद एक महाराज के सभी सेवादार मुंह खोलने लगे हैं और युवती द्वारा महाराज को ब्‍लैकमेल करने की बात एक सुर में कह रहे हैं. लेकिन सवाल ये है कि इतने दिनों से इन सबने अपना मुंह क्‍यों नहीं खोला? महाराज के ये तथाकथित करीबी उनकी मौत के बाद गायब क्‍यों हो गए थे? वो युवती महाराज की बेटी कुहू की उम्र की थी यानि कि महज 18-19 साल की. तब उसे कौनसी नौकरी देने के बहाने महाराज के पास लाया गया? और सबसे बड़ा सवाल की उस लड़की को महाराज के पास कौन लेकर आया था और उसका असल मकसद क्‍या था?

Published

on

भैय्यूजी महाराज केस की फाइल दोबारा खुलने के बाद इसमें आए दिन नए खुलासे हो रहे हैं. जांच-पड़ताल में पता चला है कि महाराज को एक युवती ब्‍लैकमेल कर रही थी, जिसके चलते उन्‍होंने आत्‍महत्‍या जैसा कदम उठाया. बताया जा रहा है कि भय्यू महाराज के एक युवती से संबंध थे और वो युवती उन पर शादी करने के लिए दबाव बनाने लगी थी. जबकि महाराज की दूसरी पत्नी उन दोनों के बारे में जान चुकी थी. पुलिस अब ब्लैकमेलिंग के सबूत इकट्ठा करने में जुटी हुई है. साथ ही पुलिस अब जल्‍द ही उनकी पत्नी आयुषी के बयान भी लेने वाली है.

भय्यू महाराज (उदयसिंह देशमुख) की आत्महत्या के बाद सभी सेवादारों, आश्रम कर्मचारियों आदि ने यही कहा कि महाराज की दूसरी पत्नी आयुषी और बेटी कुहू के बीच कलह को ही कारण बताया गया. यहां तक कि पुलिस ने भी इसे पारिवारिक झगड़ा बताकर मामले की फाइल बंद कर दी थी. बाद में हमारी पहल पर महाराज के समर्थक इकट्ठा हुए और उन्‍होंने सरकार से सीबीआई जांच की मांग की. इसके बाद पुलिस समेत इस मामले के संदिग्‍ध हरकत में आ गए. कुछ दिन पहले महाराज के एक करीबी वकील निवेश बड़जात्या को धमकी देने के आरोप में गिरफ्तार महाराज के ड्राइवर कैलाश ने झूठ से पर्दा उठा दिया. उसने कहा कि आत्महत्या की असल वजह फूटी कोठी निवासी युवती है. उसे महाराज ने काम के लिए रखा था, लेकिन उसने महाराज से संबंध बना लिए थे. वह उनके बेडरूम में ही रहने लगी थी उसने महाराज को ब्लैकमेल करना शुरू कर दिया.

कैलाश ने विनायक पर भी करोड़ों रुपए की हेराफेरी करने का आरोप लगाए हैं. इस जानकारी के बाद सीएसपी अगम जैन ने परिजन, ड्राइवर, सेवादार, परिचितों सहित करीब 20 लोगों के बयान लिए. महाराज से जुड़े प्रवीण घाड़गे, योगेश चौहान, शरद सेवलकर, अमोल चव्हाण और अनूप राजोरकर ने यह स्वीकार कर लिया कि कैलाश द्वारा दी गई जानकारी सही है. बेटी कुहू, वकील निवेश और कॉन्ट्रेक्टर मनमीत अरोरा भी इसकी पुष्टि कर चुके हैं.

सीएसपी ने विनायक दुधाले, शरद देशमुख, शेखर शर्मा, कृष्णा ड्राइवर, गोलू नौकर, अनूप राजोरकर, योगेश चौहान, अमोल चव्हाण से भी पूछताछ की. सभी को दिनभर इंदौर के आजादनगर और तेजाजीनगर थाने में बैठाए रखा. उधर, महाराज के करीबी निवेश उर्फ राजा बड़जात्या (वकील) व मनमीत अरोरा (कॉन्ट्रैक्टर) ने भी ड्राइवर कैलाश के बयानों की पुष्टि की. उन्होंने कहा कि महाराज की मौत के बाद यह सुना था कि युवती ने संबंध बना लिए थे. वह ब्लैकमेल करती थी.

Vinayak with Girl

Vinayak with Girl

अब सवाल ये कि कौन लाया था उस युवती को महाराज के पास

इस मामले में अब एक के बाद एक महाराज के सभी सेवादार मुंह खोलने लगे हैं और युवती द्वारा महाराज को ब्‍लैकमेल करने की बात एक सुर में कह रहे हैं. लेकिन सवाल ये है कि इतने दिनों से इन सबने अपना मुंह क्‍यों नहीं खोला? महाराज के ये तथाकथित करीबी उनकी मौत के बाद गायब क्‍यों हो गए थे? वो युवती महाराज की बेटी कुहू की उम्र की थी यानि कि महज 18-19 साल की. तब उसे कौनसी नौकरी देने के बहाने महाराज के पास लाया गया? और सबसे बड़ा सवाल की उस लड़की को महाराज के पास कौन लेकर आया था और उसका असल मकसद क्‍या था?

मिली जानकारी के मुताबिक महाराज का करीबी कॉन्‍ट्रैक्‍टर मनमीत अरोरा, विनायक और शेखर ने मिलकर एक षडयंत्र रचा था, जिसके तहत वे इस युवती को महाराज के पास लाए थे. सूत्र बताते हैं कि ये युवती पहले मनमीत के फ्लैट के उपर ही रहती थी. उसके पिता सरकारी नौकरी में हैं. विनायक, मनमीत और शेखर ने मिलकर उस युवती को महाराज के करीब भेजा और फिर उसके जरिए महाराज को ब्‍लैकमेल कराने लगे. जिसका सुबूत महाराज की शादी के वीडियो में मिला, जिसमें विनायक और वो युवती बातचीत करते हुए नजर आ रहे हैं. विनायक की कॉल डिटेल में भी उस युवती से शादी की दिन की बातचीत के रिकॉर्ड मिले हैं. चूंकि महाराज ने उस युवती को छोड़कर आयुषी से शादी कर ली थी, लिहाजा इन तीनों की योजना सफल नहीं हो पाई. लिहाजा वे युवती के जरिए महाराज को शादी के बाद ब्‍लैकमेल कराने लगे और भारी तनाव के चलते महाराज को आत्‍महत्‍या करनी पड़ी.

भय्यूजी की मां ने भी स्‍वीकारी यही बात

महाराज की मां कुमुदनी देशमुख ने भी यह बात स्‍वीकारी है कि वह युवती भय्यू के पास काम करने आई थी और धीरे-धीरे घर में राज करने लगी. वह भय्यू के बेडरूम में ही रुकती थी. उनकी अलमारी में कपड़े रखने लगी थी. उन्हीं के बाथरूम में नहाती थी. विनायक और शेखर भी उसके गिरोह में शामिल थे. सबने षड्यंत्रपूर्वक भय्यू को जाल में फंसाया और ब्लैकमेल करने लगे.

पुलिस इस मामले में अब सख्‍ती से जांच कर रही है. अब तक छह संदिग्‍धों के मोबाइल जब्त कर चुकी है.

Crime

महाराष्ट्र के नंदुरबार में BJP नगर सेवक आनंद माली पर जानलेवा हमला

महाराष्ट्र के नंदूरबार जिले से भाजपा नगर सेवक पर जानलेवा हमले की खबर है. पुलिस के मुताबिक नंदुरबार शहर में विजय व्यायाम स्कूल के परिसर के पास दो गुटों में जमकर मारपीट हुई और इस मारपीट में कई लोग जख्मी हुए. आपको बता दें कि इस मारपीट में तलवारे भी लहराई गई. इसके अलावा कोयता और लाठी जैसे हथियारों का भी इस्तेमाल किया गया.

Published

on

नंदुरबार: महाराष्ट्र के नंदूरबार जिले से भाजपा नगर सेवक पर जानलेवा हमले की खबर है. पुलिस के मुताबिक नंदुरबार शहर में विजय व्यायाम स्कूल के परिसर के पास दो गुटों में जमकर मारपीट हुई और इस मारपीट में कई लोग जख्मी हुए. आपको बता दें कि इस मारपीट में तलवारे भी लहराई गई. इसके अलावा कोयता और लाठी जैसे हथियारों का भी इस्तेमाल किया गया.

महाराष्ट्र के नंदुरबार में दो गुटों में जमकर मारपीट

महाराष्ट्र के नंदुरबार में BJP नगर सेवक आनंद माली पर जानलेवा हमला

भाजपा के नगरसेवक आनंद माली गंभीर रूप से जख्मी हुए हैं जिन्हें पास के अस्पताल में भर्ती कराया गया है और उनका इलाज किया जा रहा है. प्रत्यक्षदर्शियों ने इस घटना का वीडियो भी बना लिया है और यह वीडियो बड़ी तेजी से सोशल मीडिया पर वायरल हो रहा है.

पुलिस ने मामला दर्ज कर लिया है और पुलिस मामले में आगे की जांच कर रही है

इस वीडियो में आप देख सकते हैं कि गंभीर रूप से जख्मी भाजपा के नगरसेवक एंबुलेंस की मदद से आनंद माली को अस्पताल में ले जाया जा रहा है यह घटना बीती रात की है बताया जा रहा है कि कुछ दिनों से दोनों गुटों में आपसी तनाव चल रहा था जिसकी वजह से यह बड़ी घटना घटी है दो गुटों में आपसी तनाव और हिंसक मारपीट के बाद इलाके में तनाव पूर्ण माहौल बना हुआ है पुलिस ने मामला दर्ज कर लिया है और पुलिस मामले में आगे की जांच कर रही है

Continue Reading

Crime

पत्रकार हत्याकांड में बड़ा खुलासा, महिला इंटर्न का आरोप दो साल से कर रहा था उत्पीड़न

पत्रकार हत्याकांड ठाणे पुलिस ने सुलझाने का दावा किया है। पुलिस ने इस मामले में दो लोगों को गिरफ्तार किया है। गिरफ्तार आरोपियों में पत्रिका की इंटर्न और मैगजीन का प्रिंटर है। मुंबई की एक मासिक समाचार पत्रिका इंडिया अनबाउंड के संपादक की हत्या कर लाश जंगल में मिली थी। वह 15 मार्च से लापता थे। तभी उनके लापता होने की शिकायत संबंधित थाने में दर्ज कराई गई थी।

Published

on

ठाणे: पत्रकार हत्याकांड ठाणे पुलिस ने सुलझाने का दावा किया है। पुलिस ने इस मामले में दो लोगों को गिरफ्तार किया है। गिरफ्तार आरोपियों में पत्रिका की इंटर्न और मैगजीन का प्रिंटर है। मुंबई की एक मासिक समाचार पत्रिका इंडिया अनबाउंड के संपादक की हत्या कर लाश जंगल में मिली थी। वह 15 मार्च से लापता थे। तभी उनके लापता होने की शिकायत संबंधित थाने में दर्ज कराई गई थी।

ठाणे ग्रामीण पुलिस का दावा है की इस मामले को पूरी तरह से सुलझा लिया गया है और आरोपियों ने भी अपना गुनाह क़ुबूल कर लिया है। पुलिस के मुताबिक हत्या के आरोप में गिरफ्तार इंटर्न पत्रकार अंकिता मिश्रा ने पहले उन्हें गुमराह करने की कोशिश की थी। लेकिन जब पुलिस ने सख्ती से पूछताछ की तो पूरा मामला खुलकर सामने आ गया।

यौन उत्पीड़न कर रहा था संपादक
महिला पत्रकार ने पुलिस की पूछताछ में खुलासा किया है कि, संपादक नित्यानंद पांडेय पिछले दो सालों से उसका यौन उत्पीड़न कर रहा था। उसने उसका वीडियो बना लिया था जिसे दिखकर वो अक्सर उसे ब्लैकमेल करता था। बस इसी सब से परेशान होकर उसने संपादक कि हत्या कि साज़िश रची। अपने इस प्लान में उसने मैगजीन के प्रिंटर सतीश मिश्रा को भी शामिल कर लिया था।

फ़्लैट पर अकेले बुलाया था
प्लान के मुताबिक, अंकिता ने अपने संपादक नित्यानंद को एक फ़्लैट में बुलाया। फिर एक एनर्जी ड्रिंक में नींद कि गोली मिलाकर उसे पीला दिया। नित्यानंद पांडे उसे पीने का बाद पांडे बेहोश हो गए। तब अंकिता और मैगजीन के प्रिंटर सतीश ने गला घोंटकर उनकी हत्या कर दी। फिर दोनों उनकी लाश को एक कार में भरकर भिवंडी ले गए और जंगल में एक सुनसान इलाके में फेंक कर फरार हो गए।

मामले की तफ्तीश कर रही पुलिस ने जब जांच शुरू की तो सबसे पहला शक अंकिता पर ही आया था। जब उससे पूछताछ की तो उसने किसी तरह की भी संलिप्तता से साफ़ इंकार कर दिया था। लेकिन मोबाइल लोकेशन और सीसीटीवी की जांच के बाद उससे सख्ती से पूछताछ की गई तो वो टूट गई और सारा मामला सामने आ गया।

Continue Reading

Crime

औरंगाबाद में बीच सड़क पर एक शख्स पर तलवार से हमला, सामने आया वीडियो

महाराष्ट्र के औरंगाबाद में अपराधियों के हौसले इतने बुलंद है कि वह बीच सड़क पर तलवारों से बाइक पर बैठे व्यक्ति पर हमला कर फरार हो गए। अपराधियों ने इस वारदात को सरेआम सड़क पर अंजाम दिया है। अब इस पूरी घटना का वीडियो भी सामने आया है, जिसमे अपराधी बाइक पर बैठे पीड़ित पर तलवार से हमला करते हुए दिखाई दे रहे हैं

Published

on

महाराष्ट्र के औरंगाबाद में अपराधियों के हौसले इतने बुलंद है कि वह बीच सड़क पर तलवारों से बाइक पर बैठे व्यक्ति पर हमला कर फरार हो गए। अपराधियों ने इस वारदात को सरेआम सड़क पर अंजाम दिया है। अब इस पूरी घटना का वीडियो भी सामने आया है, जिसमे अपराधी बाइक पर बैठे पीड़ित पर तलवार से हमला करते हुए दिखाई दे रहे हैं। घटना को 48 घंटे से ज़्यादा का वक़्त बीत गया है लेकिन अब तक पुलिस के हाथ आरोपियों तक नहीं पहुँच पाए हैं।

इस हमले में घायल हैदर अली ने बताया कि, वह अपने बेटे को टयूशन क्लास से लाने के लिए शाहबाजार गया था। बच्चे के इंतजार में वो अपनी मोटरसाइकिल पर बैठा हुए थे, तभी किसी ने काम के बहाने फोन कर उनसे मिलने की बात कही। जैसे ही हैदर ने उन्हें अपना मौजूदा पता बताया, फोन रखने के तुरंत बाद दो लोगों ने उस पर तलवार से हमला कर दिया। जिसके बाद वहां मुजूद लोगों ने उसे अस्पताल पहुँचाया।

हमले में घायल व्यक्ति हैदर अली का कहना है कि, उसकी चार बेटियां हैं और बड़ी बेटी की शादी 2013 में हुई थी। लेकिन शादी के बाद से ही उसके सुसराल वाले परेशान कर रहे थे। हैदर अली की बेटी ने अपने ससुराल वालों के खिलाफ 2018 को अदालत में मामला दर्ज करवाया जिसके बाद से उसके ससुराल वाले हैदर अली को धमकियां दे रहे थे। कई बार हैदर अली ने औरंगाबाद के जिन्सी पुलिस स्टेशन में शिकायत दर्ज करवाई लेकिन वहां पर उससे शिकायत नहीं सुनी गई।

फिलहाल औरंगाबाद के सिटी चौक पुलिस थाने में हैदर अली पर तलवार से हमला करने वाले दो अज्ञात लोगों के खिलाफ IPC की धारा 324 और आर्म्स एक्ट के तेहत मामला दर्ज किया है और पुलिस आरोपियों की तलाश कर रही है।

Continue Reading

Trending

%d bloggers like this:
Bitnami