Connect with us

National

दुबई में नए लुक में नज़र आए कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गाँधी, एयरपोर्ट पर खूब लगे राहुल-राहुल के नारे

राहुल गाँधी के साथ सेल्फी लने के लिए लोगों में ज़बरदस्त उतुस्कता दिखाई दी. राहुल गांधी को देखते ही वहां मौजूद लोग ‘राहुल-राहुल’ के नारे लगाने लगे.

Published

on

Rahul Gandhi arrives in Dubai

कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी दो दिन के दौरे पर दुबई पहुंच गए हैं यहां एयरपोर्ट पर उनका जोरदार स्वागत किया गया. पहली बार बतौर कांग्रेस अध्यक्ष दुबई पहुंचे राहुल गाँधी बिलकुल अलग रूप में नज़र आए. आम तौर पर सफ़ेद कुरता पायजामा में रहने वाले राहुल ब्लैक ब्लेज़र के साथ सफ़ेद शर्ट और काली पेंट में दिखे. उनके एयरपोर्ट पर लैंड होते ही हज़ारों लोग उनकी स्वागत में उमड़ पड़े. लोगों ने एयरपोर्ट पर ही जमकर राहुल राहुल के नारे लगाए. अपने इस दौरे पर राहुल गाँधी दुबई और अबु धाबी भारतीय समुदाय से मिलेंगे. इसके साथ ही Rahul गाँधी छात्रों और कारोबारियों के साथ भी बातचीत करेंगे. दुबई में बड़ी संख्या में केरल के लोग रहते हैं इसी वजह से राहुल गाँधी के साथ केरल के पूर्व मुख्यमंत्री ओमान चांडी भी उनके साथ थे. साल 2019 के पहले विदेश दौरे पर गए कांग्रेस अध्यक्ष के साथ सैम पित्रोदा भी दुबई पहुंचे हैं.

राहुल गाँधी के साथ सेल्फी लने के लिए लोगों में ज़बरदस्त उतुस्कता दिखाई दी. राहुल गांधी को देखते ही वहां मौजूद लोग ‘राहुल-राहुल’ के नारे लगाने लगे.

ओवरसीज़ कांग्रेस से रिसर्चर्स की एक टीम राहुल गांधी को UAE में भारतीय प्रवासियों को पेश आने वाली दिक्कतों को लेकर एक डोज़ियर सौंपेगी. ऑल इंडिया कांग्रेस कमेटी के सचिव हिमांशु व्यास ने इंडिया टुडे को बताया, ‘कार्यक्रम का मकसद राजनीतिक नहीं है, ये प्रवासी भारतीयों तक पहुंचने का हमारा तरीका है. इन श्रमिकों को पेश आने वाली दिक्कतों में मौत के बाद अंतिम अवशेषों को स्वदेश ले जाने पर बड़ा खर्च, निराश्रित भारतीयों को पेश आने वाली चुनौतियां आदि शामिल हैं. भारतीय प्रवासियों की मांग है कि राहुल गांधी इन मुद्दों को भारतीय संसद में भी उठाएं.’

यहां के श्रमिक समुदाय से बातचीत के अलावा राहुल गांधी छात्रों से भी मिलेंगे. राहुल गांधी के दुबई दौरे का एक अहम पड़ाव 11 जनवरी को दुबई इंटरनेशनल क्रिकेट स्टेडियम में इंडियन ओवरसीज़ कांग्रेस की ओर से आयोजित सांस्कृतिक संध्या भी रहेगा. ‘इंडो-अरब सांस्कृतिक कार्यक्रम’ में राहुल गांधी आधिकारिक मुख्य अतिथि होंगे. इस कार्यक्रम के दौरान भारत के विभिन्न राज्यों से आए 70 लोक कलाकार अपनी प्रस्तुति देंगे.

राहुल गांधी इस मौके पर स्टेडियम में उपस्थित लोगों को ‘भारत का विचार’ विषय पर संबोधित करेंगे. ये अकेला कार्यक्रम है जहां राहुल आम लोगों के सामने अपनी बात रखेंगे.

सूत्रों के मुताबिक, राहुल के संभावित कार्यक्रमों में इंडियन बिजनेस एंड प्रोफेशनल काउंसिल (IBPC)  के सदस्यों के साथ बैठक के अलावा यूनिवर्सिटी छात्रों से संवाद करना भी शामिल है.

इसके अलावा 12 जनवरी को राहुल गांधी अबु धाबी जाएंगे जहां वो संयुक्त अरब अमीरात के मंत्रियों से मुलाकात करेंगे. इसके बाद वो इंडियन बिजनेस ग्रुप (IBPG) के सदस्यों से निजी कार्यक्रम के तहत संवाद करेंगे. सूत्रों के मुताबिक राहुल के कार्यक्रमों में शेख ज़ाएद मस्जिद में जाना भी शामिल है. राहुल गांधी ने 2018 में अंतरराष्ट्रीय संपर्क कार्यक्रम के तहत अमेरिका, ब्रिटेन, मलेशिया, जर्मनी और बहरीन के दौरे किए थे.

 

स्टेडियम में होगा कार्यक्रम

इंडियन ओवरसीज कांग्रेस के अध्यक्ष सैम पित्रोदा ने एक वीडियो बयान में कहा, ‘हम UAE  समेत विभिन्न देशों में भारतीय मूल के लोगों से संवाद करना चाहते हैं. दुबई में हम कारोबारी लीडर्स, स्थानीय नेताओं से मिलेंगे, लेबर कैम्प जाएंगे और दुबई इंटरनेशनल क्रिकेट स्टेडियम में आयोजित  कार्यक्रम में हिस्सा लेंगे.’ पित्रोदा के बयान को इंडियन ओवरसीज कांग्रेस ने जारी किया.

 

National

सेल्फी लेते समय इस शख्स ने प्रधानमंत्री के लिए कुछ ऐसा कहा कि भड़क गयी स्वरा भास्कर

बॉलीवुड एक्ट्रेस स्वरा भास्कर अक्सर सोशल मीडिया पर ट्रोल के निशाने पर रहती हैं। लेकिन इस बार एक शख्स ने उन्हें उनके साथ सेल्फी लेकर ही ट्रोल

Published

on

बॉलीवुड एक्ट्रेस स्वरा भास्कर अक्सर सोशल मीडिया पर ट्रोल के निशाने पर रहती हैं। लेकिन इस बार एक शख्स ने उन्हें उनके साथ सेल्फी लेकर ही ट्रोल कर दिया। सोशल मीडिया पर स्वरा का एक वीडियो खूब वायरल हो रहा है। ये वीडियो महज़ तीन सेकंड का ही है, लेकिन इस वीडियो को कई बार शेयर और लाइक किया जा चूका है।

इस वीडियो में देखा जा सकता है कि एक शख्स स्वरा के साथ सेल्फी वीडियो रिकॉर्ड करता है और कहता है, ‘मैम आएगा तो मोदी ही।’ इस वीडियो को सोशल मीडिया पर तेजी से शेयर किया जा रहा है। स्वारा भास्कर को हमेशा ही सोशल मीडिया पर सरकार और प्रधानमंत्री के खिलाफ लिखते बोलते हुए देखा जाता है।

इस वीडियो के सोशल मीडिया पर वायरल होते ही लोगों ने स्वरा भास्कर का मजाक उड़ाना और उन्हें ट्रोल करना शुरू कर दिया। कुछ लोगों ने ट्विटर पर इस वीडियो पर कमेंट कर कहा, ‘नया हिंदुस्तान है, सेल्फी लेगा भी और बेइज्जती भी करेगा।’ तो वहीं कुछ ने कमेंट किया, ‘स्वरा अब सेल्फी क्लिक करने में भी डरेंगी।’ तो कुछ लोगों ने इसपर कमेंट में लिखा, ‘सही बेइज्जती की है।’

जेएनयू की स्टूडेंट रह चुकी स्वरा भास्कर राजनीति पर अपनी खुलकर राय रखती हैं और काफी बोल्ड बयान भी दे देती हैं जिससे ज्यादातर फिल्मी कलाकार बचते हैं। अपने कॉलेज के ही कन्हैया के लिए प्रचार कर रही स्वरा बेगूसराय भी पहुंची थी।

Continue Reading

Maharashtra/Goa

VIDEO :खत्म हो रही है ‘सेहरी’ के लिए जगाने की मजबूत रवायत

आप माह-ए-रमजान में ‘उठो सोने वाले सेहरी का वक्त है उठो अल्लाह के लिए अपनी मगफिरत के लिए…’ जैसे पुरतरन्नुम गीत गाकर लोगों को सेहरी के लिए जगाने वाले फेरीवालों की सदाएं वक्त के साथ बेनूर होते समाजी दस्तूर

Published

on

आप माह-ए-रमजान में ‘उठो सोने वाले सेहरी का वक्त है उठो अल्लाह के लिए अपनी मगफिरत के लिए…’ जैसे पुरतरन्नुम गीत गाकर लोगों को सेहरी के लिए जगाने वाले फेरीवालों की सदाएं वक्त के साथ बेनूर होते समाजी दस्तूर के साथ अब मद्धिम पड़ती जा रही है। पुरानी तहजीब की पहचान मानी-जानी वाली सेहरी में जगाने की यह परंपरा दिलों और हाथों की तंगी की वजह से दम तोड़ती नजर आ रही है।

जानकरों कि मानें तो पहले के जमाने में खासकर फकीर बिरादरी के लोग सेहरी के लिए जगाने के काम जैसे बड़े सवाब के काम को बेहद मुस्तैदी और ईमानदारी से करते थे। बदले में उन्हें ईद में इनाम और बख्शीश मिलती थी। इसमें अमीर द्वारा गरीब की मदद का जज्बा भी छुपा रहता था। इस तरह फेरी की रवायत समाज के ताने-बाने को मजबूत करती थी लेकिन अब मोबाइल फोन, अलार्म घड़ी और लाउडस्पीकर ने फेरी की परंपरा को जहनी तौर पर गौण कर दिया है।

तंगदिली और तंगदस्ती (हाथ तंग होना) भी फेरी की रवायत को कमजोर करने की बहुत बड़ी वजह है। पहले लोग फेरीवालों के रूप में गरीबों की खुले दिल से मदद करते थे लेकिन अब वह दरियादिली नहीं रही।

जानकार कहते हैं कि सेहरी के लिए लोगों को जगाने का सिलसिला पिछले पांच-छह साल में कम होने के साथ-साथ कुछ खास इलाकों तक सीमित हुआ है। इसका आर्थिक कारण भी है।

रमजान में अब फेरीवाले लोग छोटे शहरों में ही रह गए हैं। इससे उन्हें ईद में अच्छी- खासी बख्शीश मिलती है, जो अब छोटे शहरों और गांवों में मुमकिन नहीं है। उन्होंने कहा कि सचाई यह है कि अब फेरी की परंपरा सिर्फ रस्मी रूप तक सीमित रह गई है। लोग अब सेहरी के लिए उठने के वास्ते अलार्म घड़ी का इस्तेमाल करते हैं और अब तो मोबाइल फोन के रूप में अलार्म हर हाथ में पहुंच चुका है लेकिन यह रमजान की बरकत और अल्लाह का करम ही है कि सेहरी के लिए जगाने की रवायत सीमित ही सही लेकिन अभी जिंदा है।

Continue Reading

National

पहली बार सामने आया आसमानी तबाही का वीडियो, ओडिशा में ‘फोनी’ चक्रवात से 12 लोगों की गई जान

चक्रवाती तूफान ‘फोनी’ से ओडिशा में कम से कम 12 लोगों की मौत हुई है। तूफान के दस्तक देने के एक दिन बाद शनिवार को राज्य के लगभग

Published

on

भुवनेश्वर : चक्रवाती तूफान ‘फोनी’ से ओडिशा में कम से कम 12 लोगों की मौत हुई है। तूफान के दस्तक देने के एक दिन बाद शनिवार को राज्य के लगभग 10,000 गांवों और शहरी क्षेत्रों में युद्धस्तर पर राहत कार्य शुरू किया गया।

अधिकारियों ने बताया कि 200 किलोमीटर प्रति घंटे की रफ्तार से चल रहे इस अत्यंत भयंकर चक्रवाती तूफान की वजह से शुक्रवार को पुरी में तेज बारिश और आंधी आयी। तूफान के कमजोर पड़ने और पश्चिम बंगाल में प्रवेश करने से पहले इसकी चपेट में आये कस्बों और गांवों में बहुत से घरों की छतें उड़ गयीं और कई घर पूरी तरह से बर्बाद हो गये।

अधिकारियों ने कहा कि आपदा के कारण मरने वालों की संख्या शुक्रवार को आठ थी, जो मयूरभंज जिले में चार और लोगों के मारे जाने के बाद बढ़कर 12 हो गई। उन्होंने कहा कि कई क्षेत्रों से विस्तृत जानकारी आनी अभी बाकी है।

मयूरभंज जिले के आपात अधिकारी एस के पति ने कहा, बारीपदा में अलग-अलग स्थानों पर पेड़ गिरने से चार लोगों की मौत हुई है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने ओडिशा के मुख्यमंत्री नवीन पटनायक से बात की और तटीय राज्य में चक्रवात आने के बाद की मौजूदा स्थिति पर चर्चा की। प्रधानमंत्री ने राज्य सरकार को आश्वासन दिया कि केंद्र की तरफ से राज्य को लगातार सहायता मिलती रहेगी।

Continue Reading

Bitnami