Connect with us

Maharashtra/Goa

प्रियंका गांधी की पॉलीटिकल एंट्री पर शिवसेना का समर्थन, कहा एक राजनीती में एक और इंद्रा की वापसी

पूर्वी यूपी की जिम्मेदारी प्रियंका गांधी के लिए बड़ी चुनौती होगी. पूर्वी यूपी से बीजेपी के तमाम दिग्गज मैदान में उतरते हैं. वाराणसी से प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी सांसद हैं, गोरखपुर मुख्य मंत्री योगी आदित्यनाथ का इलाका है तो वहीं प्रदेश अध्यक्ष महेंद्र पांडेय चंदौली से सांसद हैं.

Published

on

दिल्ली में सर्द मौसम के बीच राजनीतिक तूफान ने दस्तक दी है. कांग्रेस ने प्रियंका गांधी को महासचिव बनाकर 2019 चुनाव के लिए पूर्वी उत्तर प्रदेश की कमान सौंपी है. पूर्वी यूपी में ही पीएम मोदी का संसदीय क्षेत्र वाराणसी और योगी आदित्यनाथ का गढ़ गोरखनाथ भी पड़ता है.

कांग्रेस के इस फैसले को बीजेपी की सहयोगी शिवसेना भी मास्टरस्ट्रोक बता रही है और प्रियंका गांधी की तुलना उनकी दादी इंदिरा गांधी से की है. शिवसेना प्रवक्ता मनीषा कांयदे ने कहा, ”जब वोटर आगामी लोकसभा चुनाव में वोट करने जाएगा, तो उसे प्रियंका में इंदिरा गांधी की छवि नजर आएगी,कांग्रेस के लिए ये बड़ी बात है, पार्टी को इसका फायदा पहुंचेगा.”

Priyanka Vadra, daughter of Congress party president Sonia Gandhi, receives a giant garland during an election campaign in her motherís constituency of Rae Bareli, India, Tuesday, April 22, 2014. Vadra has been leading campaigns for her mother amid attacks by opposition on her husband Robert Vadraís alleged inappropriate land deals, according to news reports. (AP Photo)

प्रियंका गांधी की एंट्री से विरोधियों में ‘खलबली’
प्रियंका गांधी की सियासी एंट्री ने विरोधी खेमे में हलचल मचा दी है. बीजेपी के प्रवक्ता संबित पात्रा ने कांग्रेस के इस फैसले को राहुल गांधी की हार बताया. वहीं बीजेपी की सहयोगी रिपब्लिकन पार्टी के अध्यक्ष और केंद्रीय मंत्री आठवले ने कांग्रेस के इस फैसले से ज्यादा फर्क ना पड़ने की बात कही.

यूपी के अलीगढ़ में एक कार्यक्रम में शिरकत करने गए योग गुरु बाबा रामदेव ने इसे कांग्रेस का अंदरुनी मामला बताया लेकिन दो टूक बीजेपी को चेता भी दिया. जेडीयू के उपाध्यक्ष प्रशांत किशोर ने इसे भारतीय राजनीति में सबसे लंबा इंतजार बताया.

राहुल गांधी बोले- अब मजा आएगा
2019 चुनाव से पहले प्रियंका गांधी की सक्रिय राजनीति में एंट्री ने कांग्रेस कार्यकर्ताओं में नई जान फूंक दी है. इस फैसले के पीछे के मास्टरमाइंड राहुल गांधी ने अपने संसदीय क्षेत्र अमेठी में कह दिया है अब मजा आएगा. इसके साथ ही उन्होंने कहा कि मेरी बहन (प्रियंका) काबिल और कर्मठ हैं. उन्होंने आगे कहा कि प्रियंका और ज्योतिरादित्य को यूपी दो महीने के लिए नहीं भेजा है. उन्हें मिशन दिया है कि यूपी में कांग्रेस की सच्ची विचारधारा, सबको आगे बढ़ाने के विकास की विचारधारा के लिए लड़ना है.

प्रियंका गांधी के लिए कितनी बड़ी चुनौती?
प्रियंका गांधी को जिस पूर्वी उत्तर प्रदेश की जिम्मेदारी दी गई है वहां प्रियंका गांधी के लिए बड़ी चुनौती होगी. पूर्वी यूपी से बीजेपी के तमाम दिग्गज मैदान में उतरते हैं. वाराणसी से प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी सांसद हैं, गोरखपुर मुख्य मंत्री योगी आदित्यनाथ का इलाका है तो वहीं प्रदेश अध्यक्ष महेंद्र पांडेय चंदौली से सांसद हैं.

पूर्वी उत्तर प्रदेश की बात करें तो इस क्षेत्र में 21 जिले हैं, जिनमें लोकसभा की 26 और विधानसभा की 130 सीटें हैं. पूर्वी उत्तर प्रदेश खासकर भोजपुरी भाषी बेल्ट है. इस क्षेत्र की अहमियत इसी बात से समझी जा सकती है, अभी तक पांच प्रधानमंत्री जवाहर लाल नेहरू, लाल बहादुर शास्त्री, वीपी सिंह, चंद्रशेखर और नरेंद्र मोदी पूर्वी उत्तर प्रदेश से ही आए हैं.

Source ABP

Bollywood/Fashion

राहुल को मिली भाभी जी का साथ, कांग्रेस में शामिल होंगी एक्ट्रेस शिल्पा शिंदे

शिल्पा शिंदे का जन्म 28 अगस्त 1977 को महाराष्ट्र के एक मध्यवर्गीय परिवार में हुआ था। उनके पिता डॉ. सत्यदेव शिंदे हाई कोर्ट में जज थे, जबकि उनकी मां गीता सत्यदेव शिंदे एक गृहिणी हैं। शिल्पा की दो बड़ी बहनें और एक छोटा भाई है।

Published

on

Shilpa Shinde to join congress

मुंबई: बिगबॉस सीज़न 11 विनर और भाभी जी घर पर हैं सीरयल से देशभर की चाहती बनी शिल्पा शिंदे ने औपचारिक तौर पर अब कांग्रेस का हाथ थाम लिया है, विश्वस्त सूत्रों के हवाले से मिली खबर के मुताबिक शिल्पा शिंदे को मुंबई कांग्रेस अध्यक्ष संजय निरुपम ने पार्टी की सदस्य्ता दिलाई है और जल्द ही मुंबई से उनके चुनाव लड़ने का भी एलान किया जा सकता है.

आपको बता दें कि राजनीतिक पार्टियों में टीवी कलाकार और सिने जगत से जुड़े कलाकारों को ना सिर्फ चुनावी प्रचार में मतदाताओं का मन जितने के लिए जोड़ा जाता है बल्कि वक्त वक्त पर इन कलाकारों को राजनीतिक एंट्री भी मिलती रही है केंद्रीय मंत्री स्मृति ईरानी इसका सबसे बड़ा उदहारण बनी हुई है.

वैसे बात अगर शिल्पा शिंदे की की जाए तो मुंबई सहित देशभर में शिल्पा शिंदे की बड़ी फैन फॉलोविंग है और यकीनन कांग्रेस ने इसी फैन फॉलोविंग को ध्यान में रखकर शिल्पा शिंदे को अपनी पार्टी में जगह दी है और आने वाले दिनों में शिल्पा शिंदे को मुंबई या फिर महाराष्ट्र की किसी अन्य सीट से लोकसभा चुनाव के लिए पार्टी का उम्मीदवार भी घोषित किया जा सकता है.

महाराष्ट्र कि रहने वाली शिल्पा शिंदे ने अपना टेलीविजन करियर साल 1999 में किया था। उन्होंने भाभी जी घर पर है ! में अंगूरी भाभी का किरदार निभाने के लिए जाना जाता है। उन्होंने 2016 की शुरुआत में शो छोड़ दिया था। अक्टूबर 2017 में शिंदे ने रियलिटी टीवी शो बिग बॉस 11 में भाग लिया, जिसे उन्होंने अंततः 14 जनवरी 2018 को जीता।

शिल्पा शिंदे का जन्म 28 अगस्त 1977 को महाराष्ट्र के एक मध्यवर्गीय परिवार में हुआ था। उनके पिता डॉ. सत्यदेव शिंदे हाई कोर्ट में जज थे, जबकि उनकी मां गीता सत्यदेव शिंदे एक गृहिणी हैं। शिल्पा की दो बड़ी बहनें और एक छोटा भाई है। वो केसी कॉलेज, मुंबई की मनोविज्ञान की छात्र थीं, लेकिन स्नातक की डिग्री प्राप्त करने में असफल रहीं। उसके पिता चाहते थे कि वह कानून की पढ़ाई करे, लेकिन उसमें उनकी कोई दिलचस्पी नहीं थी।

Continue Reading

Maharashtra/Goa

नाशिक में तेंदुए के हमले में नेता पत्रकार घायल, अस्पताल में भर्ती कराया गया

पुलिस और वन विभाग की टीम ने पूरे चार घंटे की कड़ी मशक्कत के बाद तेंदुए को पकड़ा. अब इस पूरे ऑपरेशन का वीडियो भी सामने आया है. जिसमे तेंदुआ लोगों पर हमला करता दिखाई दे रहा है.

Published

on

महाराष्ट्र के नाशिक में एक रिहाइशी इलाके में घुसकर तेंदुए ने तीन लोगों को घायल कर दिया. तेंदुआ पास की पहड़ियों से होते हुए इंसानी बस्ती में घुस आया था. जैसे ही तेंदुआ के वहां होने की खबर लोगों को लगी वहां काफी भीड़ जमा हो गई थी. वन विभाग का फ़ौरन खबर दी गई लेकिन इससे पहले की वन अधिकारी तेंदुआ पर काबू पाते उसने तीन लोगों को गंभीर रूप से घायल कर दिया था. घायलों में एक पूर्व नगरसेवकी के इलावा दो पत्रकार भी हैं.

आखिरकार पुलिस और वन विभाग की टीम ने पूरे चार घंटे की कड़ी मशक्कत के बाद तेंदुए को पकड़ा. अब इस पूरे ऑपरेशन का वीडियो भी सामने आया है. जिसमे तेंदुआ लोगों पर हमला करता दिखाई दे रहा है.

पुलिस के मुताबिक तेंदुआ सुबह करीब आठ बजे ही इंसानी बस्ती सावरकर नगर में घुसा था. उसे वन विभाग के कर्मी करीब पौने 11 बजे पकड़ पाए. घायलों में स्थानीय शिव सेना के पार्षद संतोष गायकवाड़, एक टेलीविजन चैनल के कैमरामैन तबरेज शेख और कपिल भास्कर शामिल हैं. इन सभी को अस्पताल में भर्ती कराया गया है.

Continue Reading

Bollywood Crime

‘ठाकरे’ vs ‘मणिकर्णिका’आमने सामने, सिनेमाघरों में शिवसेना ने रोका शो कंगना के घर के बाहर हंगामा

‘मणिकर्णिका’ को लेकर कंगना के घर के बाहर प्रदर्शन कर रहे करणी सेना के 6 सदस्य गिरफ्तार.

Published

on

Protest against Manikarnika

मुंबई: आज बॉलीवुड की दो बड़ी फिल्में रिलीज़ हो रहीं हैं।बालासाहेब ठाकरे की बायोपिक ‘ठाकरे’ तो दूसरी है झांसी की रानी लक्ष्मीबाई पर बनी फिल्म ‘मणिकर्णिका’। फिल्म की रिलीज़ के साथ विवाद भी शुरू हो गया है।एक तरफ करनी सेना ने विरोध शुरू कर दिया है तो दूसरी तरफ शिवसेना थेयटर में फिल्म चलने नहीं दे रही है। महारष्ट्र के कई सिनेमाघरों में फिल्म मणिकर्णिका रोक दी गई है। मुंबई पुलिस ने कंगना के घर के बाहर से करनी सेना के कई कार्यकर्ताओं को अपनी हिरासत में लिया है।

फिल्म ‘मणिकर्णिका’ रिलीज होते ही वाशी के आईनॉक्स सिनेमा हॉल के बाहर शिवसेना के कार्यकर्ताओं ने हंगामा शुरू कर दिया है। शिवसेना कार्यकर्ताओं ने मणिकर्णिका देखने आए लोगों के साथ मारपीट की और उन्हें सिनेमाघरों से भगा दिया। उनका आरोप था कि, जानबूझकर सिनेमा मालिक मणिकर्णिका को ज़्यादा जगह दे रहे हैं। यह हंगामा फिल्म ‘ठाकरे’ के पोस्टर न लगाएं जाने को लेकर किया गया। कार्यकर्ताओं ने हंगामा करते हुए सुबह के शो को रोक दिया। कार्यकर्ताओं का आरोप है कि बाकी फिल्मों के पोस्टर लगाए गए हैं तो ठाकरे के क्यों नहीं लगाए?

वहीँ शिवसेना कि तरफ से महाराष्ट्र के कई हिस्सों में बालासाहेब ठाकरे की बायोपिक ‘ठाकरे’ का फ्री शो दिखाया जा रहा है। वसई में भी शिवसेना के कार्यकर्ताओं ने सुबह 8 बजे फिल्म का फ्री शो दिखाने के लिए सिनेमा हॉल के बाहर प्रदर्शन किया और मणिकर्णिका के पोस्टर पहाड़ डाले। कई सिनेमा घरों के बाहर शिवसेना कार्यकर्ता डोल नगाड़ों के साथ कार्यकर्ता बालासाहेब ठाकरे की बायोपिक ‘ठाकरे’ को देखने पहुंचे।

Continue Reading

Latest

%d bloggers like this:
Bitnami