Connect with us

Maharashtra/Goa

प्रियंका गांधी की पॉलीटिकल एंट्री पर शिवसेना का समर्थन, कहा एक राजनीती में एक और इंद्रा की वापसी

पूर्वी यूपी की जिम्मेदारी प्रियंका गांधी के लिए बड़ी चुनौती होगी. पूर्वी यूपी से बीजेपी के तमाम दिग्गज मैदान में उतरते हैं. वाराणसी से प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी सांसद हैं, गोरखपुर मुख्य मंत्री योगी आदित्यनाथ का इलाका है तो वहीं प्रदेश अध्यक्ष महेंद्र पांडेय चंदौली से सांसद हैं.

Published

on

दिल्ली में सर्द मौसम के बीच राजनीतिक तूफान ने दस्तक दी है. कांग्रेस ने प्रियंका गांधी को महासचिव बनाकर 2019 चुनाव के लिए पूर्वी उत्तर प्रदेश की कमान सौंपी है. पूर्वी यूपी में ही पीएम मोदी का संसदीय क्षेत्र वाराणसी और योगी आदित्यनाथ का गढ़ गोरखनाथ भी पड़ता है.

कांग्रेस के इस फैसले को बीजेपी की सहयोगी शिवसेना भी मास्टरस्ट्रोक बता रही है और प्रियंका गांधी की तुलना उनकी दादी इंदिरा गांधी से की है. शिवसेना प्रवक्ता मनीषा कांयदे ने कहा, ”जब वोटर आगामी लोकसभा चुनाव में वोट करने जाएगा, तो उसे प्रियंका में इंदिरा गांधी की छवि नजर आएगी,कांग्रेस के लिए ये बड़ी बात है, पार्टी को इसका फायदा पहुंचेगा.”

Priyanka Vadra, daughter of Congress party president Sonia Gandhi, receives a giant garland during an election campaign in her motherís constituency of Rae Bareli, India, Tuesday, April 22, 2014. Vadra has been leading campaigns for her mother amid attacks by opposition on her husband Robert Vadraís alleged inappropriate land deals, according to news reports. (AP Photo)

प्रियंका गांधी की एंट्री से विरोधियों में ‘खलबली’
प्रियंका गांधी की सियासी एंट्री ने विरोधी खेमे में हलचल मचा दी है. बीजेपी के प्रवक्ता संबित पात्रा ने कांग्रेस के इस फैसले को राहुल गांधी की हार बताया. वहीं बीजेपी की सहयोगी रिपब्लिकन पार्टी के अध्यक्ष और केंद्रीय मंत्री आठवले ने कांग्रेस के इस फैसले से ज्यादा फर्क ना पड़ने की बात कही.

यूपी के अलीगढ़ में एक कार्यक्रम में शिरकत करने गए योग गुरु बाबा रामदेव ने इसे कांग्रेस का अंदरुनी मामला बताया लेकिन दो टूक बीजेपी को चेता भी दिया. जेडीयू के उपाध्यक्ष प्रशांत किशोर ने इसे भारतीय राजनीति में सबसे लंबा इंतजार बताया.

राहुल गांधी बोले- अब मजा आएगा
2019 चुनाव से पहले प्रियंका गांधी की सक्रिय राजनीति में एंट्री ने कांग्रेस कार्यकर्ताओं में नई जान फूंक दी है. इस फैसले के पीछे के मास्टरमाइंड राहुल गांधी ने अपने संसदीय क्षेत्र अमेठी में कह दिया है अब मजा आएगा. इसके साथ ही उन्होंने कहा कि मेरी बहन (प्रियंका) काबिल और कर्मठ हैं. उन्होंने आगे कहा कि प्रियंका और ज्योतिरादित्य को यूपी दो महीने के लिए नहीं भेजा है. उन्हें मिशन दिया है कि यूपी में कांग्रेस की सच्ची विचारधारा, सबको आगे बढ़ाने के विकास की विचारधारा के लिए लड़ना है.

प्रियंका गांधी के लिए कितनी बड़ी चुनौती?
प्रियंका गांधी को जिस पूर्वी उत्तर प्रदेश की जिम्मेदारी दी गई है वहां प्रियंका गांधी के लिए बड़ी चुनौती होगी. पूर्वी यूपी से बीजेपी के तमाम दिग्गज मैदान में उतरते हैं. वाराणसी से प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी सांसद हैं, गोरखपुर मुख्य मंत्री योगी आदित्यनाथ का इलाका है तो वहीं प्रदेश अध्यक्ष महेंद्र पांडेय चंदौली से सांसद हैं.

पूर्वी उत्तर प्रदेश की बात करें तो इस क्षेत्र में 21 जिले हैं, जिनमें लोकसभा की 26 और विधानसभा की 130 सीटें हैं. पूर्वी उत्तर प्रदेश खासकर भोजपुरी भाषी बेल्ट है. इस क्षेत्र की अहमियत इसी बात से समझी जा सकती है, अभी तक पांच प्रधानमंत्री जवाहर लाल नेहरू, लाल बहादुर शास्त्री, वीपी सिंह, चंद्रशेखर और नरेंद्र मोदी पूर्वी उत्तर प्रदेश से ही आए हैं.

Source ABP

Crime

महाराष्ट्र के नंदुरबार में BJP नगर सेवक आनंद माली पर जानलेवा हमला

महाराष्ट्र के नंदूरबार जिले से भाजपा नगर सेवक पर जानलेवा हमले की खबर है. पुलिस के मुताबिक नंदुरबार शहर में विजय व्यायाम स्कूल के परिसर के पास दो गुटों में जमकर मारपीट हुई और इस मारपीट में कई लोग जख्मी हुए. आपको बता दें कि इस मारपीट में तलवारे भी लहराई गई. इसके अलावा कोयता और लाठी जैसे हथियारों का भी इस्तेमाल किया गया.

Published

on

नंदुरबार: महाराष्ट्र के नंदूरबार जिले से भाजपा नगर सेवक पर जानलेवा हमले की खबर है. पुलिस के मुताबिक नंदुरबार शहर में विजय व्यायाम स्कूल के परिसर के पास दो गुटों में जमकर मारपीट हुई और इस मारपीट में कई लोग जख्मी हुए. आपको बता दें कि इस मारपीट में तलवारे भी लहराई गई. इसके अलावा कोयता और लाठी जैसे हथियारों का भी इस्तेमाल किया गया.

महाराष्ट्र के नंदुरबार में दो गुटों में जमकर मारपीट

महाराष्ट्र के नंदुरबार में BJP नगर सेवक आनंद माली पर जानलेवा हमला

भाजपा के नगरसेवक आनंद माली गंभीर रूप से जख्मी हुए हैं जिन्हें पास के अस्पताल में भर्ती कराया गया है और उनका इलाज किया जा रहा है. प्रत्यक्षदर्शियों ने इस घटना का वीडियो भी बना लिया है और यह वीडियो बड़ी तेजी से सोशल मीडिया पर वायरल हो रहा है.

पुलिस ने मामला दर्ज कर लिया है और पुलिस मामले में आगे की जांच कर रही है

इस वीडियो में आप देख सकते हैं कि गंभीर रूप से जख्मी भाजपा के नगरसेवक एंबुलेंस की मदद से आनंद माली को अस्पताल में ले जाया जा रहा है यह घटना बीती रात की है बताया जा रहा है कि कुछ दिनों से दोनों गुटों में आपसी तनाव चल रहा था जिसकी वजह से यह बड़ी घटना घटी है दो गुटों में आपसी तनाव और हिंसक मारपीट के बाद इलाके में तनाव पूर्ण माहौल बना हुआ है पुलिस ने मामला दर्ज कर लिया है और पुलिस मामले में आगे की जांच कर रही है

Continue Reading

Crime

पत्रकार हत्याकांड में बड़ा खुलासा, महिला इंटर्न का आरोप दो साल से कर रहा था उत्पीड़न

पत्रकार हत्याकांड ठाणे पुलिस ने सुलझाने का दावा किया है। पुलिस ने इस मामले में दो लोगों को गिरफ्तार किया है। गिरफ्तार आरोपियों में पत्रिका की इंटर्न और मैगजीन का प्रिंटर है। मुंबई की एक मासिक समाचार पत्रिका इंडिया अनबाउंड के संपादक की हत्या कर लाश जंगल में मिली थी। वह 15 मार्च से लापता थे। तभी उनके लापता होने की शिकायत संबंधित थाने में दर्ज कराई गई थी।

Published

on

ठाणे: पत्रकार हत्याकांड ठाणे पुलिस ने सुलझाने का दावा किया है। पुलिस ने इस मामले में दो लोगों को गिरफ्तार किया है। गिरफ्तार आरोपियों में पत्रिका की इंटर्न और मैगजीन का प्रिंटर है। मुंबई की एक मासिक समाचार पत्रिका इंडिया अनबाउंड के संपादक की हत्या कर लाश जंगल में मिली थी। वह 15 मार्च से लापता थे। तभी उनके लापता होने की शिकायत संबंधित थाने में दर्ज कराई गई थी।

ठाणे ग्रामीण पुलिस का दावा है की इस मामले को पूरी तरह से सुलझा लिया गया है और आरोपियों ने भी अपना गुनाह क़ुबूल कर लिया है। पुलिस के मुताबिक हत्या के आरोप में गिरफ्तार इंटर्न पत्रकार अंकिता मिश्रा ने पहले उन्हें गुमराह करने की कोशिश की थी। लेकिन जब पुलिस ने सख्ती से पूछताछ की तो पूरा मामला खुलकर सामने आ गया।

यौन उत्पीड़न कर रहा था संपादक
महिला पत्रकार ने पुलिस की पूछताछ में खुलासा किया है कि, संपादक नित्यानंद पांडेय पिछले दो सालों से उसका यौन उत्पीड़न कर रहा था। उसने उसका वीडियो बना लिया था जिसे दिखकर वो अक्सर उसे ब्लैकमेल करता था। बस इसी सब से परेशान होकर उसने संपादक कि हत्या कि साज़िश रची। अपने इस प्लान में उसने मैगजीन के प्रिंटर सतीश मिश्रा को भी शामिल कर लिया था।

फ़्लैट पर अकेले बुलाया था
प्लान के मुताबिक, अंकिता ने अपने संपादक नित्यानंद को एक फ़्लैट में बुलाया। फिर एक एनर्जी ड्रिंक में नींद कि गोली मिलाकर उसे पीला दिया। नित्यानंद पांडे उसे पीने का बाद पांडे बेहोश हो गए। तब अंकिता और मैगजीन के प्रिंटर सतीश ने गला घोंटकर उनकी हत्या कर दी। फिर दोनों उनकी लाश को एक कार में भरकर भिवंडी ले गए और जंगल में एक सुनसान इलाके में फेंक कर फरार हो गए।

मामले की तफ्तीश कर रही पुलिस ने जब जांच शुरू की तो सबसे पहला शक अंकिता पर ही आया था। जब उससे पूछताछ की तो उसने किसी तरह की भी संलिप्तता से साफ़ इंकार कर दिया था। लेकिन मोबाइल लोकेशन और सीसीटीवी की जांच के बाद उससे सख्ती से पूछताछ की गई तो वो टूट गई और सारा मामला सामने आ गया।

Continue Reading

Crime

औरंगाबाद में बीच सड़क पर एक शख्स पर तलवार से हमला, सामने आया वीडियो

महाराष्ट्र के औरंगाबाद में अपराधियों के हौसले इतने बुलंद है कि वह बीच सड़क पर तलवारों से बाइक पर बैठे व्यक्ति पर हमला कर फरार हो गए। अपराधियों ने इस वारदात को सरेआम सड़क पर अंजाम दिया है। अब इस पूरी घटना का वीडियो भी सामने आया है, जिसमे अपराधी बाइक पर बैठे पीड़ित पर तलवार से हमला करते हुए दिखाई दे रहे हैं

Published

on

महाराष्ट्र के औरंगाबाद में अपराधियों के हौसले इतने बुलंद है कि वह बीच सड़क पर तलवारों से बाइक पर बैठे व्यक्ति पर हमला कर फरार हो गए। अपराधियों ने इस वारदात को सरेआम सड़क पर अंजाम दिया है। अब इस पूरी घटना का वीडियो भी सामने आया है, जिसमे अपराधी बाइक पर बैठे पीड़ित पर तलवार से हमला करते हुए दिखाई दे रहे हैं। घटना को 48 घंटे से ज़्यादा का वक़्त बीत गया है लेकिन अब तक पुलिस के हाथ आरोपियों तक नहीं पहुँच पाए हैं।

इस हमले में घायल हैदर अली ने बताया कि, वह अपने बेटे को टयूशन क्लास से लाने के लिए शाहबाजार गया था। बच्चे के इंतजार में वो अपनी मोटरसाइकिल पर बैठा हुए थे, तभी किसी ने काम के बहाने फोन कर उनसे मिलने की बात कही। जैसे ही हैदर ने उन्हें अपना मौजूदा पता बताया, फोन रखने के तुरंत बाद दो लोगों ने उस पर तलवार से हमला कर दिया। जिसके बाद वहां मुजूद लोगों ने उसे अस्पताल पहुँचाया।

हमले में घायल व्यक्ति हैदर अली का कहना है कि, उसकी चार बेटियां हैं और बड़ी बेटी की शादी 2013 में हुई थी। लेकिन शादी के बाद से ही उसके सुसराल वाले परेशान कर रहे थे। हैदर अली की बेटी ने अपने ससुराल वालों के खिलाफ 2018 को अदालत में मामला दर्ज करवाया जिसके बाद से उसके ससुराल वाले हैदर अली को धमकियां दे रहे थे। कई बार हैदर अली ने औरंगाबाद के जिन्सी पुलिस स्टेशन में शिकायत दर्ज करवाई लेकिन वहां पर उससे शिकायत नहीं सुनी गई।

फिलहाल औरंगाबाद के सिटी चौक पुलिस थाने में हैदर अली पर तलवार से हमला करने वाले दो अज्ञात लोगों के खिलाफ IPC की धारा 324 और आर्म्स एक्ट के तेहत मामला दर्ज किया है और पुलिस आरोपियों की तलाश कर रही है।

Continue Reading

Trending

%d bloggers like this:
Bitnami