Connect with us

National

Loksabha Election 2019 : इस बूथ पर कोई भी नहीं पहुंचा वोटिंग करने, इलेक्शन कमीशन ने आरज़ू मिन्नत की फिर भी नहीं आए

लोकसभा चुनाव 2019 का आज पहले चरण का मतदान जारी है। इस बीच आज यूपीए अध्यक्ष और कांग्रेस की सांसद सांसद सोनिया गांधी को अपना नामांकन पत्र दाखिल करेंगी।

Published

on

लोकसभा चुनाव 2019 का आज पहले चरण का मतदान जारी है। इस बीच आज यूपीए अध्यक्ष और कांग्रेस की सांसद सांसद सोनिया गांधी को अपना नामांकन पत्र दाखिल करेंगी। इसको लेकर पार्टी की ओर से सारी तैयारी पूरी कर ली गई। वहीं प्रशासन ने भी सुरक्षा के व्यापक प्रबंध किए हैं।

बिहार के नवादा रोह प्रखंड के बजवारा गांव में बूथ नम्बर 29 पर मतदान के लिए नहीं पहुंचे मतदाता। बजवारा और कर्मा गांव के ग्रामीणों ने पक्की सड़क नहीं बनने पर वोट बहिष्कार की घोषणा की थी। जिसके बाद बूथ पर साड़ी तैयारी धरी की धरी रह गई है। इलेक्शन कमीशन और प्रशासन के लोगों ने ग्रामीणों के घर जा जा कर मिन्नतें की, फिर भी लोग अपने मत अधिकार का प्रयोग करने नहीं आए।

ग्रामीणों का आरोप है कि, जब उनके जान प्रतिनिधि को उनकी चिंता नहीं है तो फिर वो क्यों उनके बारे में सोंचें। गौरतलब है कि बिहार के नवादा के इस सीट से बीजेपी के कद्दावर नेता गिरिराज सिंह सांसद थे। लेकिन इस बार पार्टी ने उनका नवादा से पत्ता काट कर बेगूसराय भेज दिया है। बेगूसराय में उनका मुक़ाबला सीपीआई के उम्मीदवार कन्हैया कुमार और महागठबंधन के प्रत्याशी डॉक्टर तनवीर हसन से है।

पहले चरण के मतदान में जिन प्रमुख नेताओं की किस्मत ईवीएम में कैद हो जाएगी उनमें केन्द्रीय मंत्री जनरल (सेवानिवृत्त) वीके सिंह, नितिन गडकरी, हंसराज अहीर, किरण रिजिजू, कांग्रेस की रेणुका चौधरी, एआईएमआईएम के असदुद्दीन ओवैसी शामिल हैं। इस चरण में रालोद के अजीत सिंह का मुकाबला उत्तर प्रदेश में मुजफ्फरनगर सीट पर भाजपा के संजीव बालयान से है जबकि उनके बेटे जयंत चौधरी बागपत सीट पर केन्द्रीय मंत्री सत्यपाल सिंह को चुनौती दे रहे हैं। लोजपा प्रमुख और केन्द्रीय मंत्री रामविलास पासवान के सांसद पुत्र चिराग पासवान बिहार में जमुई सीट से उम्मीदवार हैं।

Bollywood/Fashion

फिल्म-नमो TV के बाद ,पीएम मोदी पर आधारित वेब सीरीज के प्रसारण पर चुनाव आयोग ने लगायी रोक

मौजूदा दौर में देश में सियासी माहौल अपने चरम पर है, लोकसभा चुनाव 2019 के कारण सियासी सरगर्मियां भी बढ़ी हुई हैं, इस सरगर्मी से बॉलीवुड

Published

on

मौजूदा दौर में देश में सियासी माहौल अपने चरम पर है, लोकसभा चुनाव 2019 के कारण सियासी सरगर्मियां भी बढ़ी हुई हैं, इस सरगर्मी से बॉलीवुड भी अछूता नहीं है, बता दें कि चुनाव आयोग ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से जुड़ी एक वेब सीरीज को झटका दिया है, दरअसल, चुनाव आयोग ने इस वेब सीरीज को रिलीज कर रहे प्लैटफॉर्म इरॉस नाउ को नोटिस जारी कर इसे तत्काल प्रभाव से हटाने के आदेश दे दिए हैं.

इस आदेश में चुनाव आयोग ने कहा है कि ‘’मोदी-जर्नी ऑफ अ कॉमन मैन’ के पांच एपिसोड आपके प्लैटफॉर्म पर उपलब्ध हैं, आपको अगले आदेश तक इसके ऑनलाइन स्ट्रीमिंग को रोकने और इससे संबंधित सभी सामग्री को हटाने के निर्देश दिए जाते हैं.’

इसके साथ ही आपको अवगत करा दें कि इससे पहले चुनाव आयोग ने पीएम नरेन्द्र मोदी की बायोपिक की रिलीज़ डेट पर भी चुनाव आयोग ने रोक लगा दी थी, उस फिल्म में पीएम मोदी के किरदार में विवेक ओबेरॉय नज़र आने वाले हैं.

आपको बता दें कि इस सीरीज का निर्देशन उमेश शुक्ला ने किया है.

Continue Reading

Bollywood/Fashion

‘पीएम नरेंद्र मोदी’ बॉयोपिक पर सुप्रीम कोर्ट ने चुनाव आयोग से रिपोर्ट मांगी

सुप्रीम कोर्ट ने सोमवार को चुनाव आयोग (ईसी) को ‘पीएम नरेंद्र मोदी’ फिल्म देखकर इस पर इस सप्ताह के अंत तक बंद लिफाफे में रिपोर्ट पेश करने

Published

on

दिल्ली: सुप्रीम कोर्ट ने सोमवार को चुनाव आयोग (ईसी) को ‘पीएम नरेंद्र मोदी’ फिल्म देखकर इस पर इस सप्ताह के अंत तक बंद लिफाफे में रिपोर्ट पेश करने का निर्देश दिया. चीफ जस्टिस रंजन गोगोई और जस्टिस दीपक गुप्ता तथा न्यायमूर्ति संजीव खन्ना की पीठ ने फिल्म के निर्माता संदीप सिंह की याचिका पर सुनवाई के लिए 22 अप्रैल की तारीख तय की है.

जब अदालत ने ईसी के वकील से पूछा कि क्या ईसी ने फिल्म देखी है, तो फिल्म निर्माता के वकील मुकुल रोहतगी ने अदालत से कहा कि ईसी ने फिल्म को देखे बिना इसकी रिलीज को टाल दिया है. इसके बाद पीठ ने ईसी से फिल्म देखने और इस पर रिपोर्ट अदालत को देने को कहा.

फिल्म निर्माताओं ने फिल्म की रिलीज को टाले जाने के खिलाफ शीर्ष अदालत में याचिका दाखिल की है. उन्होंने कहा है कि ईसी का आदेश संविधान प्रदत्त अभिव्यक्ति की आजादी के मूल अधिकार का उल्लंघन है. बीते हफ्ते ईसी ने चुनाव के दौरान राजनैतिक फिल्मों की स्क्रीनिंग पर रोक लगाने का आदेश जारी किया था.

‘पीएम नरेंद्र मोदी’ को आम चुनाव के पहले चरण के मतदान के दिन, 11 अप्रैल को रिलीज होना था. ईसी ने कहा था कि किसी भी बॉयोपिक को सिनेमाघर या इलेक्ट्रानिक मीडिया में नहीं दिखाया जाए क्योंकि इसे दिखाए जाने से चुनाव के सभी पक्षों को एक समान अवसर उपलब्ध कराने के सिद्धांत का उल्लंघन होता है.

इससे पहले 9 अप्रैल को शीर्ष अदालत ने कांग्रेस नेता अमन पवार द्वारा फिल्म की रिलीज को रोकने की मांग करने वाली याचिका खारिज कर दी थी और कहा था कि मामले में ईसी को फैसला करने देना चाहिए.

Continue Reading

Exclusive

दिनेश कार्तिक ने जीता चयनकर्ताओं का दिल, विजय शंकर को भी मिला वर्ल्ड कप का टिकट

दिनेश कार्तिक ने 12 साल बाद भारत की विश्व कप टीम में वापसी की जबकि महेंद्र सिंह धोनी के वारिस माने जा रहे ऋषभ पंत की अनदेखी

Published

on

मुंबई: दिनेश कार्तिक ने 12 साल बाद भारत की विश्व कप टीम में वापसी की जबकि महेंद्र सिंह धोनी के वारिस माने जा रहे ऋषभ पंत की अनदेखी करने के चयनकर्ताओं के फैसले पर लंबे समय तक बहस होती रहेगी ।इंग्लैंड और वेल्स में 30 मई से शुरू हो रहे विश्व कप के लिये दूसरे विकेटकीपर को लेकर दुविधा थी । एमएसके प्रसाद की अध्यक्षता वाली पांच सदस्यीय चयन समिति के अनुसार 33 बरस के कार्तिक को 91 वनडे मैचों के अनुभव का फायदा मिला।

अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट में पदार्पण के अनुसार सबसे उम्रदराज भारतीय खिलाड़ी कार्तिक 2007 विश्व कप में भारतीय टीम का हिस्सा थे । महेंद्र सिंह धोनी से तीन महीने पहले सितंबर 2004 में उन्होंने अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट में पदार्पण किया था ।धोनी का यह चौथा और संभवत: आखिरी विश्व कप होगा । कोहली का यह तीसरा विश्व कप होगा जबकि रोहित शर्मा, शिखर धवन, रविंद्र जडेजा, मोहम्मद शमी और भुवनेश्वर कुमार 2015 विश्व कप में खेल चुके हैं ।

भारतीय कप्तान कोहली ने आईपीएल से पहले कहा था कि इस लीग में प्रदर्शन का असर चयन पर नहीं पड़ेगा और वह सही साबित हुआ क्योंकि इस सत्र में पंत ने 245 और कार्तिक ने 111 रन बनाये हैं ।प्रसाद से सबसे ज्यादा सवाल पंत के बारे में ही किये गए ।उन्होंने कहा ,‘‘ हमने इस पर विस्तार से बात की । हमें लगा कि कार्तिक या पंत तभी अंतिम एकादश में रहेंगे, जब माही चोटिल हो । यदि क्वार्टर फाइनल या सेमीफाइनल जैसा अहम मैच हो तो विकेटकीपिंग मायने रखती है ।’’उन्होंने कहा ,‘‘ यही वजह है कि हमने कार्तिक को चुना वरना पंत टीम में होता ।’’

तमिलनाडु के गेंदबाज हरफनमौला विजय शंकर को टीम में रखा गया है जो चौथे नंबर का स्लाट ले सकते हैं । पहले लग रहा था कि अंबाती रायुडू की जगह पक्की है लेकिन आस्ट्रेलिया के खिलाफ घरेलू श्रृंखला में वह अच्छा प्रदर्शन नहीं कर सके ।उन्होंने कहा ,‘‘ हम चैम्पियंस ट्राफी (2017) के बाद से इसकी तैयारी कर रहे थे । लेकिन मैं आपको बताना चाहता हूं कि पिछले महीनों में कुछ खिलाड़ियों ने दावा पुख्ता किया जिनमें विजय शंकर भी है ।’’

केएल राहुल को तीसरे सलामी बल्लेबाज के रूप में जगह मिली है । प्रसाद ने कहा ,‘‘ इस बात पर भी चर्चा हुई कि केदार जाधव की तरह विजय शंकर भी चौथे नंबर पर बल्लेबाजी कर सकता है । यह टीम प्रबंधन पर निर्भर करेगा।’’

रविंद्र जडेजा के हरफनमौला कौशल की वजह से उन्हें टीम में रखा गया ।प्रसाद ने कहा ,‘‘ पिछले डेढ साल में कलाई के दो स्पिनरों युजवेंद्र चहल और कुलदीप यादव ने हमें मैच जिताये हैं । लेकिन ऐसी परिस्थितियां भी हो सकती है कि आपको अंतिम एकादश में एक हरफनमौला की जरूरत पड़े और तब जडेजा काम आयेगा ।’’

हार्दिक पंड्या और शंकर के होने से चौथे तेज गेंदबाज की जरूरत महसूस नहीं होगी । भुवनेश्वर कुमार बैकअप के तौर पर होंगे जबकि जसप्रीत बुमराह और मोहम्मद शमी नयी गेंद संभालेंगे ।

टीम :

विराट कोहली (कप्तान), रोहित शर्मा , शिखर धवन, केएल राहुल, विजय शंकर, महेंद्र सिंह धोनी, केदार जाधव, दिनेश कार्तिक, युजवेंद्र चहल, कुलदीप यादव, भुवनेश्वर कुमार, जसप्रीत बुमराह, हार्दिक पंड्या, रविंद्र जडेजा, मोहम्मद शमी ।

Continue Reading

Bitnami