Connect with us

Crime

मानवता हुई शर्मसार, इस शख्स ने बिल्लियों को जिंदा जलाया, देखें वीडियो

मानवता को शर्मसार करता हुआ यह वीडियो आपके मन को झकझोर कर रख देगा। जहां एक शख्स बिल्ली और उसके बच्चे को जिंदा जला रहा है

Published

on

मीरारोड: मानवता को शर्मसार करता हुआ यह वीडियो आपके मन को झकझोर कर रख देगा। जहां एक शख्स बिल्ली और उसके बच्चे को जिंदा जला रहा है और बिल्लियां जान बचा कर भाग रही हैं. इस क्रूर अपराधी का शिकार बनी बिल्लियां बुरी तरह झुलस गई है.वीडियो में साफ़ दिख रहा है कि जलने वाली बिल्ली के बच्चे बहुत ही कम उम्र के हैं।

इंसानियत को शर्मसार करने वाली एक घटना मुंबई से सटे मीरा रोड इलाके की है। मीरारोड के नया नगर परिसर में एक सोसायटी के बाहर यह बिल्लियां रहती है। लेकिन इन बिल्लियों का यहां रहना सिद्धेश पाटिल को नागवार गुजरता है और यही कारण है कि उसने इन बिल्लियों को यहां से हटाने के लिए उन्हें आग के हवाले कर दिया था। यह घटना 28 अप्रैल 2019 की है।

सिद्धेश पाटिल का ये क्रूर अपराध परिसर में लगे सीसीटीवी कैमरे में कैद हो गया। जिसके बाद इसकी शिकायत पास के पुलिस थाने में की गई है और यह वीडियो सामने आने के बाद सिद्धेश पाटिल का वह क्रूर चेहरा सबके सामने आ गया है। जिसकी लोग आलोचना भी कर रहे हैं। आपको बता दें कि सोशल मीडिया पर यह वीडियो मीरा भाईंदर परिसर में खूब तेजी से वायरल हो रहा है. जिसके बाद लोग यही अपील कर रहे हैं कि आवारा जानवरों पर इस तरह का क्रूर व्यवहार करने वाले आरोपी को तुरंत गिरफ्तार किया जाना चाहिए।

Crime

मुंबई के दादर इलाक़े में लगी भीषण आग, 15 साल की बच्ची की हुई मौत

मुंबई के दादर इलाक़े में आग लगने का मामला सामने आया है. जिसमें एक 15 साल की बच्ची की मृत्यु होने की बात कही जा रही है.

Published

on

मुंबई के दादर इलाक़े में आग लगने का मामला सामने आया है. जिसमें एक 15 साल की बच्ची की मृत्यु होने की बात कही जा रही है.

मिली जानकारी के मुताबिक आग दादर पुलिस स्टेशन के परिसर में स्थित एक रहिवासी इमारत में लगी है. आग की सूचना मिलते ही फायर ब्रिगेड के कर्मचारियों ने मौके पर पहुंचकर राहत एवं बचाव कार्य शुरू कर दिया.

फायर ब्रिगेड के अधिकारीयों के मुताबिक आग इमारत की तीसरी मंजिल पर एक मक़ान में लगी है. हालांकि आग के कारणों का पता नहीं चल पाया है. लेकिन इसके पीछे सिलेंडर फटने की आशंका जताई जा रही है.

सूत्रों के हवाले से कहा जा रहा है कि आग लगने के वक्त 15 साल की श्रावणी चव्हाण घर में ही मौजूद थी. हालांकि पुलिस की तरफ से कोई आधिकारिक बयान जारी नहीं हुआ है. मामले की जांच की जा रही है.

Continue Reading

Crime

पुलिस कस्टडी में वैन में टिक टॉक वीडियो बना रहा है नागपुर का कुख्यात गैंगस्टर, वीडियो वायरल होने के बाद जांच शुरू

सोशल मीडिया पर एक वीडियो खूब वायरल हो रहा है। वीडियो टिक टॉक एप के लिए बनाया गया है। ये वीडियो ख़ास है, इसलिए खास है क्योंकि वीडियो पुलिस वैन में बनाया गया है। वीडियो में दिखने वाला शख्स नागपुर शहर का कुख्यात गैंगस्टर है

Published

on

नागपुर: सोशल मीडिया पर एक वीडियो खूब वायरल हो रहा है। वीडियो टिक टॉक एप के लिए बनाया गया है। ये वीडियो ख़ास है, इसलिए खास है क्योंकि वीडियो पुलिस वैन में बनाया गया है। वीडियो में दिखने वाला शख्स नागपुर शहर का कुख्यात गैंगस्टर है। जिसने पुलिस कस्टडी में रहते हुए ये वीडियो बनाया है।

वो भी तब जब उसे पेशी के लिए ले जाया जा रहा था। इस वीडियो को बनाने के बाद आरोपी ने खुद इसे सोशल मीडिया में वायरल कर दिया है। लेकिन जो बात हैरान करती है, वो यह है कि, यह वीडियो कोराडी थाने के बिलकुल सामने खड़ी सीआर मोबाइल वाहन नंबर एमएच-31 एजी 9826 में बनाया गया है।

भाई का टिक टॉक वीडियो

वीडियो शहर के गैंगस्टर सय्यद मोबिन अहमद ने खुद बनाया है। जिसमे कभी वो बिना हंथकडी के पुलिस वैन से घूमते हुए दिखाई देता है, तो कभी पेट्रोलिंग कार से ऐसे निकलता है मानो कार उसकी जागीर है। उसके आस पास कोई पुलिस वाला भी दिखाई नहीं देता। नागपुर का हिस्टीशीटर वीडियो में मोबिन खुद को ‘मोंस्टर’ बता रहा है। इसमें बैकग्राउंड में कोलार गोल्ड फिल्ड (केजीएफ ) फिल्म के प्रसिद्ध डायलॉग ‘ गैंग लेकर आनेवाले होते है गैंगस्टर, वह अकेला आता है मोंस्टर‘ सुनाई देता है।

कुख्यात है मोबिन !

पुलिस रिकॉर्ड में वीडियो में दिखने वाले सय्यद मुबीन पर पहले से कई मामले दर्ज हैं और कुख्यात चामा गैंग का प्रमुख है। उसके खिलाफ वरोरा, वणी और गिट्टी खदान में हत्या के प्रयास के मामले दर्ज है। और तो और उस पर पुलिसवालों पर  हमले का भी आरोप है। फिलहाल वह एक मामले में गिरफ्तार है।

Continue Reading

Bollywood Crime

करण ओबेरॉय को नहीं मिली ज़मानत, अदालत ने न्यायिक हिरासत में भेजा

रविवार को रेप और ब्लैकमेल के आरोपों में गिरफ्तार किए गए टीवी एक्टर करण ओबेरॉय को अदलात ने न्यायिक हिरासत में भेज दिया है

Published

on

रविवार को रेप और ब्लैकमेल के आरोपों में गिरफ्तार किए गए टीवी एक्टर करण ओबेरॉय को अदलात ने न्यायिक हिरासत में भेज दिया है। करण के वकीलों ने इस मामले को झूठा बताकर अदालत से राहत की गुहार लगाईं थी। लेकिन कोर्ट ने उनकी एक न सुनी और उन्हें न्यायिक हिरासत में भेज दिया है। करण को अब आज की रात मुंबई के आर्थर रोड जेल में गुज़ारना होगा और कल उनके वकील ज़मानत के लिए अर्ज़ी लगाएंगे।

वहीं करण के सपोर्ट में उनके सभी दोस्त आज अदालत में पहुंचे थे। एक्ट्रेस पूजा बेदी ने ये तक भी आरोप लगाया कि करण को फंसाया जा रहा है। जिस महिला ने रेप का मामला दर्ज कराया उसके खिलाफ करण ने पहले ही मामला दर्ज कराया था। अब वो जान बूझकर करण से बदला लेने के लिए ये सब कर रही है। कुछ लोग अपने महिला होने का फायदा उठाना चाहती हैं और पैसों के लिए इस तरह से झूठे मुक़दमे दर्ज करा रहीं हैं।

ऐक्ट्रेस पूजा बेदी ने कहा, ‘हम सभी करण को जानते हैं और इस बात की जमानत दे सकते हैं कि वह बेहद शरीफ आदमी हैं। उन पर लगाए गए आरोप काफी गंभीर हैं। अभी तक जो सार्वजनिक तौर पर सामने आया है उसके मुताबिक, यह लड़की करण से साल 2016 के अंत में एक डेटिंग ऐप के जरिए मिली थी। यह घटना संभवतः 2017 की है और तब इसकी कोई खबर सामने नहीं आई थी। अक्टूबर 2018 में करण ने इस महिला के खिलाफ शोषण की शिकायत दर्ज कराई थी। हालांकि 2018 में दिए एक इंटरव्यू में उन्होंने कहा था कि वह और करण रिलेशनशिप में थे और उन्होंने करण को कई सामानों के साथ ही गिफ्ट्स भी दिए थे। साल 2019 में उन्होंने करण के खिलाफ मामला दर्ज कराया और उन्होंने कथित तौर पर जनवरी 2017 की घटी घटना की शिकायता समय भी ऐसा चुना जबकि अदालतों की छुट्टियां हो जाती हैं। 2018 में दिए गए इंटरव्यू में उनके बयान 2019 में दर्ज कराई गई उनकी एफआईआर से बिल्कुल भी मेल नहीं खाते हैं।

एक्टर करण के खिलाफ एक फैशन डिजाइनर ने रेप के आरोप लगाए हैं। जिसके बाद मुंबई पुलिस ने ‘स्वाभिमान’ और ‘जस्सी जैसी कोई नहीं’ से पॉपुलर होने वाले एक्टर करण सिंह ओबेरॉय को एक महिला से शादी का झांसा देकर रेप करने के आरोप में गिरफ्तार कर लिया है ।

Continue Reading

Bitnami