Bollywood CrimeSocial Per HitTop Stories

CAA के खिलाफ वासेपुर में महिलाओं ने संभाला मोर्चा, तो एक्ट्रेस ऋचा चड्ढा बोलीं- हल्के में मत लेना…

0

नागरिकता संशोधन कानून (CAA),एनआरसी और एनपीआर के खिलाफ देश के कई हिस्सों में विरोध-प्रदर्शन हो रहा है. कुछ जगहों पर हिंसक प्रदर्शन की खबरें भी सामने आई हैं। इस बीच ताजा खबर झारखंड से है। फिल्म ‘गैंग्स ऑफ वासेपुर’ से चर्चा में आए राज्य के वासेपुर इलाके में भी सीएए, एनआरसी और एनपीआर के खिलाफ प्रदर्शन शुरू हो गया है। खास बात यह है कि वासेपुर के प्रदर्शन में महिलाओं ने मोर्चा संभाल रखा है।

इंडियन एक्सप्रेस की रिपोर्ट के मुताबिक ऐसा पहली बार है जब वासेपुर में महिलाएं घरों से निकलकर सड़क पर हैं। बीते 20 दिनों से नागरिकता संशोधन कानून यानी सीएए, एनआरसी और एनपीआर के खिलाफ मोर्चा खोल रखा है। वासेपुर में महिलाओं के सड़क पर उतरने के बाद लोग अलग-अलग तरह से प्रतिक्रिया दे रहे हैं। बॉलीवुड एक्ट्रेस ऋचा चड्ढा ने भी वासेपुर में महिलाओं द्वारा प्रदर्शन की खबर शेयर की।

एक्ट्रेस ऋचा चड्ढा ने लिखा, ”वुमनियाज ऑफ वासेपुर…हल्के में मत लेना।” बता दें कि वासेपुर में सड़क पर उतरी महिलाओं ने तमाम तरह के बैनर-पोस्टर और प्लेकार्ड भी ले रखे हैं। इंडियन एक्सप्रेस के मुताबिक प्रदर्शनकारियों में से एक सुल्ताना ने जो प्लेकार्ड ले रखा था, उस पर लिखा था ‘जो मोहब्बत लिखी है गीता और कुरान में, फिर कैसा झगड़ा हिंदू और मुसलमान में।’ सुल्ताना ने कहा, ‘कानून तो सेकेंडरी है, हम प्राइमरी हैं। प्रधानमंत्री को यह बात पता होनी चाहिए कि यह (नागरिकता संशोधन कानून) गलत है।’

इसी तरह एक अन्य प्रदर्शनकारी ने कहा, ‘हम सिर्फ शांतिपूर्ण तरीके से रहना चाहते हैं। सरकार को यह बात समझनी चाहिए कि मां और मुल्क बदला नहीं जा सकता है।’ उन्होंने कहा, यही मौका है जब मेरे परिवार वालों को समझना होगा कि महिलाओं को आगे आना होगा और अपना विरोध दर्ज कराना होगा। बता दें कि झारखंड का वासेपुर इलाका पहली बार तब चर्चा में आया था जब अनुराग कश्यप ने यहां के स्थानीय गैंग्स पर आधारित ‘गैंग्स ऑफ वासेपुर’ नाम की फिल्म बनाई थी।’

सीएए के खिलाफ आवाज बुलंद कर चुकी हैं ऋचा चड्ढा: नागरिकता संशोधन कानून (CAA) के खिलाफ बॉलीवुड भी दो खेमों में बंटा नजर आ रहा है। एक खेमा इस कानून के पक्ष में है, तो दूसरा खेमा इसका विरोध करता नजर आ रहा है। ऋचा चड्ढा, अनुराग कश्यप, अनुभव सिन्हा, स्वरा भास्कर, फरहान अख़्तर जैसे तमाम लोग इस कानून के विरोध में हैं और सोशल मीडिया के साथ-साथ सड़क पर भी उतर चुके हैं।

Nishat Shamsi

शबाना आजमी एक्सीडेंट केस: ड्राइवर पर लगा था रैश ड्राइविंग का आरोप, दोबारा हो सकती है पूछताछ

Previous article

पूर्व क्रिकेटर मोहम्मद अजहरुद्दीन के खिलाफ धोखाधड़ी का केस दर्ज, जानिए आरोपों पर क्या बोले

Next article

Comments

Comments are closed.

Login/Sign up
Bitnami