एक्टर निकला लूटेरा अब तक वृद्धों को बना चूका था निशाना

मुंबई पुलिस ने एक ऐसे एक्टर को गिरफ्तार किया है जो दिन के उजालों में फिल्मों में काम करता था और शाम होते ही शहर में लूटपाट के लिए निकल जाता था। ये एक्टर पुलिस के हाँथ तब लगा जब उसने 70 वर्षीय बुजुर्ग महिला की उसके ही फ़्लैट में आंख-मुंह बंद कर उसे चाकू दिखाकर लूट लिया। लेकिन लूटने वाले दोनो आरोपियों को दिंडोशी पुलिस ने महज 4 घंटे के अंदर माल समेत पकड़ लिया। साथ ही उसके साथी को भी पुलिस ने गिरफ्तार किया है। जब पूछताछ में आरोपी ने अपनी पहचान बनाई तो उसे सुनकर खुद पुलिस भी दंग रह गई। पहले आरोपी का नाम प्रकाश कामत (28) है, जो बुजुर्ग महिला शशि देवी के यहां खाना बनाने का काम करता था। तथा दूसरा आरोपी कई भोजपुरी फिल्मों में काम कर चूका है। पुलिस ने लूट का सामान आरोपी प्रकाश कामत की ससुराल से बरामद कर लिया है।

राजेश प्रधान, अतिरिक्त पुलिस आयुक्त-उत्तर प्रादेशिक विभाग के मुताबिक, गोरेगांव के गोकुलधाम-2 स्थित एक इमारत की छठवीं मंजिल पर ओम प्रकाश चांगुईवाला रहते हैं। घर में शशि देवी और नौकर प्रकाश कामत के अलावा प्रकाश का एक दोस्त भी था। शशि देवी ने बताया कि 14 अप्रैल को छत के रास्ते दो लोग घर में घुसे। चाकू दिखाकर उन्होंने मुंह बंद रखने की धमकी दी, फिर मुंह और आंख को कपड़े से बांध दिया और घर में रखे आभूषण और नकदी लेकर फरार हो गए। लूटे गए आभूषणों की कीमत साढ़े ग्यारह लाख रुपये है। दिनदहाड़े लूट की वारदात से इलाके में हड़कंप मच गया। मौके पर पहुंची पुलिस ने शुरुआती जांच में पाया कि घर के नौकर प्रकाश ने जिस दोस्त को रखा था, वह गायब था। शक होने पर जब पुलिस ने प्रकाश से पूछताछ की, तो उसने बताया कि पांच दिन पहले ही उसका दोस्त रहने के लिए वहां आया था। पुलिस को प्रकाश के बयान पर संदेह हो गया और उससे जब और गहराई से पुलिस ने पूछताछ की, तो उसने स्वीकार कर लिया।

आरोपी प्रकाश ने बताया कि उसका जो दूसरा साथी है उसका नाम रोशन पांडेय है जो कई भोजपुरी फिल्म में काम कर चूका है। पुलिस ने उसे भी जोगेश्वरी से गिरफ्तार कर लिया। आरोपी प्रकाश ने बताया कि यहां लूटे गए आभूषण के 80 फीसदी हिस्से को प्रकाश के ससुराल में रख आया था। बाकी के 20 फीसदी आभूषण लेकर वह गायब हो गया था। पुलिस ने 30 घंटे के अंदर आरोपी प्रकाश के खार स्थित ससुराल से लूटे गए आभूषण बरामद कर ​लिया।


Close Bitnami banner
Bitnami