एयरहोस्टेस की मौत पर अब तक का सबसे बड़ा खुलासा, ये आत्महत्या नहीं …

दिल्ली के पंचशील पार्क इलाके में एक एयर होस्टेस की संदिग्ध हालत में मौत का मामला उलझता नजर आ रहा है. लुफ्थांसा एयरलाइंस में काम करने वाली एयरहोस्टेस की संदिग्ध हालत में घर की छत से गिरकर हुई बताई जा रही है. हालांकि अब दिल्ली पुलिस इस मौत की सच्चाई सामने लाने के लिए शव का दोबारा पोस्टमार्टम कराएगी. शुरुआती जांच में यह भी पता चला है कि अनिशिया ने घटना से कुछ ही घंटे पहले अपने घरवालों को मैसेज कर हेल्प मांगी थी.

पुलिस का कहना है कि अनिशिया की मौत पर छाए संदेह को दूर करने के लिए शव का दोबारा पोस्टमार्टम करवाया जा रहा है. इस बार पोस्टमार्टम की वीडियो रिकॉर्डिंग भी करवाई जाएगी. इसके अलावा पुलिस आज अनिशिया के पति मयंक से पूछताछ भी कर सकती है. फ़िलहाल दिल्ली पुलिस ने अनिशिया की मां की शिकायत पर मयंक और उसके माता पिता के खिलाफ IPC की धारा 304 B के तहत दहेज हत्या का मामला दर्ज कर लिया है. अब तक मयंक के परिवार से कौई भी अपना पक्ष रखने सामने नही आया है.

पुलिस का कहना है कि अनिशिया के परिजनों ने ससुराल वालों पर अनिशिया को परेशान करने की शिकायत की है. घरवालों का आरोप है कि मयंक सिंहानिया ने अपनी पहली शादी की बात छिपाकर अनिशिया से शादी की थी. पुलिस ने अनिशिया और मयंक के मोबाइल जब्त कर लिए हैं. पुलिस के मुताबिक, अनिशिया के परिवार वालों ने मयंक को दहेज में BMW कार और डायमंड रिंग दी थी. उसे भी पुलिस ने जब्त कर लिया है.

अनिशिया के भाई करण बत्रा का कहना है कि मयंक, मयंक के पिता राजेन्द्र सिंघवी और मां सुषमा सिंघवी शुरुआत से ही उसकी बहन के साथ मारपीट करते थे. पिछले महीने बात इतनी बिगड़ गई की अनिशिया के माता-पिता को आना पड़ा. आरोप है कि तब मयंक ने अनिशिया की मां के साथ भी मारपीट की थी. अनिशिया के पिता ने 27 जुन को इसे लेकर मयंक और उसके परिजनों के खिलाफ हौज खास थाने में लिखित शिकायत भी दी थी.

अनिशिया के पिता ने पुलिस में दर्ज शिकायत में कहा था कि मयंक उनकी बेटी के साथ मारपीट करता है, गाली गलौज करता है और उसका शारीरिक मानसिक शोषण करता है. करण बत्रा ने बताया कि वह अपनी बहन की सुरक्षा को लेकर परेशान था. अनिशिया के पिता ने दो महीने पहले पुलिस में दर्ज शिकायत में यह भी कहा था कि अगर उनकी बेटी के साथ कुछ अनहोनी होती है तो उसके जिम्मेदार मयंक और उसके माता-पिता ही होंगे.

करण बत्रा ने पुलिस पर भी लापरवाही के आरोप लगाए हैं. उसका कहना है कि बहन की मौत की खबर सुनकर जब से वह दिल्ली आए हैं इंसाफ के लिए भटक रहे हैं, लेकिन पुलिस एक नही सुन रही. पुलिस ने FIR दर्ज करने में भी वक्त जाया किया. यहां तक कि पुलिस ने उनसे झूठ भी बोला कि मौका-ए-वारदात को सील कर दिया गया है. जबकी अगले दिन जब वे मयंक के घर गए तो घर सील नहीं था.

Annisia suicide

करण बत्रा ने मयंक वहां आया और कपड़े चेंज किए. यहां तक कि मयंक अगले दिन फिर आया और अपनी गाड़ी की चाबी और कुछ सामान भी लेकर गया. करण बत्रा का आरोप है कि मौका ए वारदात से काफी सबूत मिटा दिए गए हैं. मयंक ने अपने सभी सोशल मीडिया आकाउंट भी डीलिट कर दिए हैं. करण बत्रा का कहना है कि SDM के निर्देश के बावजूद पहली बार जब शव का पोस्टमार्टम किया गया तो उसकी वीडियोग्राफी नहीं कराई गई.
वहीं अनिशिया की मां ने बताया कि घटना वाले दिन यानी 13 जुलाई को दोपहर 12:11 बजे उन्होंने अनिशिया को मैसेज किया, लेकिन अनिशिया ने कोई जवाब नहीं दिया. उससे पहले 11:40 बजे अनिशिया ने उन्हें मैसेज किया था कि मयंक घर पर है और उसे दूसरे कमरे में बंद कर दिया है. फिर शाम करीब 2:13 बजे और 2:23 बजे मयंक ने उन्हें दो मैसेज किए, जिसमें उसने अभद्र भाषा लिखी थी.

Annisia suicide
Annisia

अनिशिया की मां ने बताया कि इसके कुछ ही देर बाद अनिशिया के पिता को सिंघवी परिवार के करीबी से फोन पर जानकारी मिली कि उनकी बेटी ने तीसरी मंजिल से कूदकर खुदकुशी कर ली है. अनिशिया के घरवालों ने मयंक पर शादी के बाद भी बार-बार पैसे मांगने का आरोप लगाया है. उन्होंने बताया कि शादी के बाद जब अनिशिया और मयंक हनीमून के लिए दुबई गए हुए थे, तो वहां भी मयंक ने अनिशिया के साथ मारपीट की थी.

अनिशिया के भाई करण बत्रा ने बताया कि घटना वाले दिन अनिशिया ने उन्हें मैसेज भेजकर हेल्प मांगी थी. अनिशिया ने मैसेज में लिखा था, ‘मयंक ने मुझे कमरे में बंद कर दिया है. ये आदमी मयंक मेरी जिंदगी ले रहा है. इसको छोड़ना नहीं. ये आदमी ही जिम्मेदार है मेरी मौत और जिंदगी का. मैं अपनी जिदंगी का बड़ा कदम उठा रही हूं.’

बता दें कि 39 वर्षीय एयर होस्टेस अनिशिया बत्रा ने शुक्रवार की शाम करीब 4 बजे हौज खास थाने के अंतर्गत आने वाले पंचशील पार्क में स्थित अपने घर की छत से कूदकर जान दे दी. अनिशिया की मौत के चश्मदीद बिल्डिंग के गार्ड शिव बहादुर ने बताया कि शुक्रवार की शाम बारिश हो रही थी. करीब 4 बजे उसे पड़ोस में काम कर रहे मजदूरों ने बताया की एक लड़की छत से गिर गई है, जिसके बाद वे शव के पास पहुंचे.

शिव बहादुर ने बताया कि 5 मिनट बाद ही लड़की का पति मयंक सिंघानिया भी वहां पहुंच गया. बिल्डिंग में ही काम करने वाले कुछ लोगों की मदद से अनिशिया को अस्पताल पहुंचाया गया. बता दें कि अनिशिया के पिता की शिकायत पर करीब दो महीने पूछताछ करने यहां पुलिस भी आई थी.

मयंक के पड़ोस में ही रहने वाले अमर पाल कोहली ने बताया कि मयंक और अनिशिया में आए दिन झगड़ा होता रहता था. घटना वाले दिन भी दोनों में झगड़ा हुआ था. अमर पाल ने बताया कि अनिशिया के घरवालों से उसकी एकबार बात हुई थी और उन्होंने बताया था कि उनकी बेटी परेशान थी.


Close Bitnami banner
Bitnami