Exclusive : फ़्लैट के अंदर कोई था जिसने देखा ‘अंकिता का क़त्ल’, सुनाई उस रात की पूरी कहानी

मॉडल एंकर और होस्ट अंकिता तिवारी की मौत एक ऐसी दर्दनाक दास्तान बनती जा रही है। जहाँ क़त्ल तो एक हुआ है लेकिन संदिग्ध एक नहीं दो नहीं बल्कि 5-5 हैं। फिर भी पुलिस क़त्ल के 120 घंटे बाद भी ये पता नहीं लगा सकी है की आखिर उस रात मालवणी के उस फ़्लैट में हुआ क्या ? और किसने और क्यों उस रात एक ऐसी लड़की को हमेशा के लिए मौत के आगोश में भेज दिया जो खुले आसमान में उड़ना चाहती थी चहकना चाहती थी। अब तक की जांच में जो बातें उसके कई पहलु हैं। इस क़त्ल की गुत्थी को सुलझा रहे है तफ्तीशकर्ताओं की मानें, अर्पिता के क़त्ल की पीछे कई वजह सामने आयी हैं, इस क़त्ल में वफादारी और बेवफाई है, प्यार और पूर्वाग्रह है, 1 क़त्ल है कई किस्से हैं। मगर मुंबई पुलिस अभी भी सुराग, संभावनाएं और संदिग्ध के भंवर जाल में गोते खा रही।

 

फ़्लैट में पांच नहीं छे लोग थे

पहली बार हम उस रात से जुडी हर एक कहानी खोलने जा रहे हैं। आखिर उस रात मानवस्थल बिल्डिंग के कमरा नंबर 1501 में हुआ क्या था ? और किसने और क्यों अर्पिता का क़त्ल कर दिया। अगर सूत्रों की मानें तो इस मामले में मुंबई पुलिस के हाँथ पहली बार कोई ठोस सुराग लगा है। जिसने क़त्ल और क़ातिल से जुडी कई जानकारी पुलिस को दी है। अब तक यही कहा जा रहा था की उस रात उस फ़्लैट अर्पिता के साथ कुल पांच लोग मौजुद थे। लेकिन ऐसा नहीं था। उस कमरे में पांच नहीं बल्कि छे लोग थे। एक ऐसा शख्स था जिसे अर्पिता ने वहां बुलाया था। लेकिन उसका बॉयफ्रेंड पंकज जाधव उसे नहीं चाहता था।

पंकज जाधव बॉयफ्रेंड

अमित कुमार (इसने फ्लैट रेंट पर लिया था)

मनीष (अमित के यहां पेइंग गेस्ट के रूप में रहता था)

श्रवण( पेइंग गेस्ट अमित के साथ)

और मुन्ना (बदला हुआ नाम) कुक

कौन था अर्पिता का नया दोस्त

पूछताछ में खुद पंकज ने भी ये खुलासा किया है की अर्पिता और उसके बीच दूरियां बढ़ने लगी थी। वो दोनों करीब करीब ब्रेकअप कर चुके थे। उससे दूर होने के बाद अर्पिता की अमित हज़रा नाम के लड़के से नज़दीकियां बढ़ने लगी थी। उस रात फ़्लैट में अर्पिता और उसके अमित भी वहां था। पार्टी ख़त्म होने के बाद बाकी लोग यानी मनीष और श्रवण अंदर के कमरे में सोने चले गए थे। जबकि वो अर्पिता और अमित एक साथ हॉल में सोए थे। पंकज नहीं चाहता था की अमित उनके साथ रहे लेकिन अर्पिता ने फिर भी उसे वहां सोने को कहा। वहीँ घर का नौकर मुन्ना हॉल के ठीक सामने किचेन में सोया था।

Amit Hazra

नौकर ने ऐसा क्या देखा ?

तो क्या उसी शख्स की वजह से ही अर्पिता का क़त्ल हुआ। मुंबई पुलिस सूत्रों की मानें तो उन छे लोगों में से एक ने बेहद चौंकाने वाला खुलासा किया। सूत्र बताते हैं की पंकज के नौकर मुन्ना (बदला हुआ नाम ) ने उस रात एक युवक को अर्पिता का कपडा खोलते हुए देखा था। वो उसी कमरे के ठीक सामने सो रहा था जहाँ अर्पिता पंकज और अमित कुमार हज़रा के साथ सो रहे थे। अमित हज़रा ही वो लड़का था जिसे पंकज नहीं चाहता था। मगर अर्पिता को उसका साथ पसंद था।

Manish

सुबह 5 :40

पुलिस सूत्रों के मुताबिक घर के नौकर मुन्ना की आँख सुबह 5 :40 पर खुली थी। उसने पुलिस को जो बयान दिया है उसके मुताबिक़ उसने देखा था की अमिता हज़रा अर्पिता के बेहद करीब में सो रहा था। जबकि जब वो सोने गए थे तो तीनो अलग अलग जगह पर सो रहे थे। मुन्ना के मुताबिक उसने कम शराब पी थी और जब उसकी आंख खुली तो उसने देखा की अमित , अर्पिता के कपडे हटा रहा था। उसने उसके शरीर के ऊपर वाले अंडरगार्मेंट्स खोल दिए थे और नीचे की हटाने की कोशिश कर रहा था। लेकिन इसके बाद वो चुपचाप सो गया उसे ये समझ नहीं आया की ये सब मर्ज़ी से हो रहा था या फिर अमित अर्पिता के नशे में होने का फायदा उठा रहा था। सूत्रों ने भी इसकी पुष्टि की है नॉकर हाल में है रात कुछ ऐसा देखा था जो शायद आर्पिता के क़त्ल की वजह बनी। लेकिन नौकर बार बार अपना बयान बदल भी दे रहा है।

पुलिस की तफ्तीश लव ट्राइंगल

मामले की जांच में जुटी पुलिस की मानें तो उन्हें शक है की अर्पिता की हत्या की वजह लव ट्राइंगल हो सकता है। क्यूंकि इन दिनों अर्पिता अमित के बेहद करीब आ गयी थी। और यही बात पंकज को पसंद नहीं आ रही थी। फिलहाल पुलिस सूत्र बताते हैं कि , नौकर के बयान के बाद एक संभावना ये भी हो सकती है कि आर्पिता को अमित के साथ देखा और ये बात पंकज को पसंद नहीं आई। अमित कुछ अश्लील करने की कोशिश कर रहा था। जिसके बाद पंकज जाधव और अमित के बीच झगड़ हुआ और अर्पिता बीच में आ गई।

पंकज और अमित प्राइम सस्पेक्ट

उस रात क्या आर्पिता के साथ कोई जबरन दुष्कर्म हुआ यह सवाल इस लिए खड़ा हो रहा है कि पुलिस ने आर्पिता का vaginal swab और नाखून फॉरेंसिक लैब कलीना भेज दिया है। उन्हें शक है की हो सकता है पंकज और अमित दोनों इन सब में मिले हुए हैं. vaginal swab और नाखून फॉरेंसिक लैब भेजकर ये पता लगाना चाहती है की कहीं ऐसा तो नहीं है की अमित- पंकज या फिर सबने मिलकर आर्पिता के साथ कुछ गलता करना चाहा और नाकामयाब होने पर मौत के घाट उतार कर उसे नीचे फेंक दिया. या फिर आर्पिता आरोपी से लड़ते लड़ते खुद को बचाकर बाथरूम में भागी और वहां से कूद गयी. ये दोनों थ्योरी फोरेशिक रिपोर्ट पर अब टिकी है


Close Bitnami banner
Bitnami