लातूर में आर्मी के जवान ने किया छात्र से रेप स्कूल ने पीड़िता को ही निकाला

महाराष्ट्र के लातूर ज़िले से शर्मसार करने वाला मामला सामने आया है। जहाँ सेना के एक जवान ने एक नाबालिग को अपने हवस का शिकार बनाया। और तो और नाबालिग जिस स्कूल में पढ़ती है उस स्कूल ने उसे ही दोषी मानते हुए स्कूल से निकाल दिया। नाबालिग और उसके परिवार की मुश्किलें यहीं ख़त्म नहीं हुई। जब वो थाने में दोषी जवान के खिलाफ शिकायत दर्ज करने पहुंचे तो वहां भी उनसे पुलिस वालों ने 50 हज़ार की मांग की।

दरअसल ये पूरा मामला चार महीने पहले का है। आरोप है की सेना के जवान ने पीड़िता को शादी का झांसा दिया फिर उसके साथ बलात्कार किया। जब पीड़िता ने जवान से शादी के बारे में बात तो वो मुकर गया। जिसके बाद उसने इस घटना के बारे में पूरी जानकारी अपनी मां को दी। मामला सामने आते ही पीड़िता और उसकी माँ ने आरोपी के खिलाफ मामला दर्ज करने की कोशिश की। पीड़िता के मां का आरोप है कि, जब वो आरोपी के खिलाफ केस दर्ज करवाने पुलिस स्टेशन पहुंची तो थाने के अधिकारीयों ने मामला दर्ज करने के एवज में उनसे 50 हजार रुपयों की मांग की।

जब मामला ज़िले के एसपी शिवाजी राठौड़ के पास पहुंचा तब उनके हस्तछेप के बाद ही आरोपी के खिलाफ आईपीसी की धारा 376 के तहत मामला दर्ज किया गया है।

वहीँ दूसरी तरफ पीड़िता का साथ देने के बजाय स्कूल ने भी उसके साथ ज़्यादती की। जैसे ही स्कूल को इस मामले की जानकारी मिली आनन फानन में पीड़िता का स्कूल से नाम काट दिया गया और उसे स्कूल से बाहर कर दिया है। हालांकि स्कूल इस आरोप को सिरे से खारिज कर रहा है। स्कूल का दावा है कि, पीड़िता को निकाला नहीं गया बल्कि उसके उसके भाई ही बदनामी के डर से टीसी लेकर गए हैं।


Close Bitnami banner
Bitnami