Crime

बड़ा खुलासा मुंबई में दाऊद की `D कंपनी` का कॉल सेण्टर

0

इक़बाल कासकर की गिरफ्तारी के बाद से डी गैंग की कमर तोड़ने में जुटी थाने पुलिस को अब तक की सबसे बड़ी कामयाबी हाँथ लगी है। ठाणे क्राइम ब्रांच की टीम ने इस बार सीधे दाऊद इब्राहिम गैंग के कॉल सेंटर पर छापा मारा है। जहाँ से छोटा शकील, अनीस इब्राहिम कासकर के साथ इक़बाल और डी गैंग के लोग बड़े व्यवसाई और बिल्डरों को धमकी देकर करोड़ों की हफ्ता वसूली करते थे। इतना ही नहीं इस कॉल सेंटर के ज़रिये ही D गैंग पिछले कई सालों से अपना धंदा चला रहा था। सूत्र बताते है दाऊद के इस कॉल सेंटर में काम करने वाले लोग इतने ट्रेंड थे की कब और कैसे किसे हड़काना है इसकी उन्हें ट्रेनिंग तक दी गयी थी। अपने आकाओं का संदेश पहुँचाने के लिए ये लोग ख़ास तौर पर तैयार किये गए कोड का इस्तेमाल करते थे।

इक़बाल कासकर की गिरफ्तारी के बाद से जांच टीम ये पता लगाने में जुटी की आखिर विदेश में बैठकर धमकी वाले कॉल करता कौन है। पूछताछ में खुलासा हुआ की बड़े व्यवसाई और बिल्डरों को धमकी देकर करोड़ों की हफ्ता वसूली के ये कॉल विदेश से नहीं बल्कि भारत से किये जाते थे। और वो मुंबई से चंद
किलोमीटर दूर भिवंडी से। डी गैंग ने भिवंडी में बजाप्ता अपना एक कॉल सेंटर बना रखा था। जहाँ से सिर्फ और सिर्फ D गैंग का ऑपरेशन चलता था। क्राइम ब्रांच डी गैंग के इस कॉल सेंटर पर छापा मारकर 10 लोगों को हिरासत में लिया है। साथ ही कॉल सेंटर में इस्तेमाल किये जाने वाले उपकरण भी पुलिस ने जब्त किए हैं।

पुलिस के मुताबिक, D Company के इस कॉल सेंटर में धमकी देने के लिए वीओआईपी (वाइस ओवर इंटरनेट प्रोटोकॉल) काल्स का इस्तेमाल होता था। गैंग के लोग वीओआईपी ज़रिये कॉल करते थे और कॉल रिसीव करने वालों को ये लगता था की फिरौती के लिए ये कॉल छोटा शकील और अनीस इब्राहिम ने विदेश में बैठकर किया है। इसका खुलासा तब हुआ जब अगस्त महीने में अंबरनाथ के एक व्यापारी को फिरौती के लिए विदेश से धमकी भरा कॉल आया। व्यवसाई की शिकायत पर मामले की जांच की गयी तो सामने आया की विदेश का ये नंबर ओडिशा के किसी शख्स के नाम पर है और फोन भी वहीँ से किया गया था। जांच करते हुए टीम ओडिशा तक गयी तो पता चला उस नाम का कोई आदमी है ही नहीं।

इसी कड़ी को आगे बढ़ाते हुए पुलिस ने अपनी तफ्तीश जारी रखी और आखिरकार फिरौती के कॉल गुत्थी सुलझाने में कामयाब हुई है। पुलिस की तफ्तीश में सामने आया की भिवंडी शहर से एक नहीं दो नहीं बल्कि कई फ़र्ज़ी एक्सचेंज चलाये जा रहे हैं. जहाँ से सिर्फ और सिर्फ हफ्ता वसूली और धमकी देने का का काम किया जाता है। इन फर्जी टेलिफोन एक्सचेंज में देश विदेश के नंबर भी बेचे जाते हैं। इसके बाद थाने क्राइम ब्रांच की टीम ने मंगलवार देर रात भिवंडी के साईनगर नागाव में छापा मारा और तीस एक्सचेंज का भंडाफोड़ किया है। पुलिस ने इस मामले में नौ लोगों को गिरफ्तार भी किया है जिनसे पूछताछ की जा रही है।

गजेन्द्र चौहान की जगह अभिनेता अनुपम खेर बने FTII पुणे के नए चेयरमैन

Previous article

महाराष्ट्र सरपंच चुनाव में जीत क्या बीजेपी का प्रोपेगंडा ?

Next article

Comments

Leave a reply

Your email address will not be published.

Close Bitnami banner
Bitnami