CrimeTop Stories

भीमा कोरेगांव हिंसा के आरोपी मिलिंद एकबोटे गिरफ्तार- SC से ज़मानत हो गयी थी ख़ारिज

0

पुणे के पास भीमा-कोरेगांव हिंसा के आरोप में पुलिस ने हिंदू एकता अगाड़ी के अध्यक्ष मिलिंद एकबोटे को गिरफ्तार कर लिया है. एकबोटे की गिरफ़्तारी सर्वोच्च न्यालय से अग्रिम जमानत खारिज होने के बाद कि गयी है. मिलिंद एकबोटे को पुणे सेशन कोर्ट में पेश किया जाएगा. गिरफ्तारी से बचने के लिए एकबोटे ने गिरफ्तारी से बचने के लिए हाईकोर्ट से लेकर सुप्रीमकोर्ट मे याचिका दाखिल की थी. लेकिन उन्हें कहीं से राहत नहीं मिली.

हिंदू एकता अगाड़ी के अध्यक्ष मिलिंद एकबोटे पर कोरेगांव हिंसा मामले में एट्रोसिटी एक्ट, जानलेवा हमला करने, दंगा भड़काने और धारा 144 उल्लंघन करने का मामला दर्ज है. उन पर आरोप है कि उन्होंने लोगों को हिंसा के लिए उकसाया था.

कौन हैं मिलिंद एकबोटे ?
56 वर्षीय मिलिंद एकबोटे ने अपने राजनीती जीवन कि शुरुआत राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ (आरएसएस) से जुड़कर शुरू कि थी. इस बीच वो बीजेपी में भी शामिल हुए और 1997 से 2002 के बीच पुणे महापालिका में बीजेपी के पार्षद भी रहे हैं। साल 2007 में वो बीजेपी छोड़कर निर्दलीय चुनाव लड़ें लेकिन हार गए. बाद में मिलिंद एकबोटे ने हिंदू एकता मंच की स्थापना की। वेलेंटाइन डे के विरोध को लेकर उनका संगठन कई बार सुर्खियों में आया।

कैसे हुई जातीय हिंसा
पुणे के पास भीमा-कोरेगांव 1 जनवरी 2018 को कोरेगांव-भीमा लड़ाई की 200वीं सालगिरह पर एक कार्यक्रम आयोजित किया गया और इसी कार्यक्रम के दौरान दो गुटों की हिंसा में एक शख्स की मौत हो गई थी। इसके बाद जातीय हिंसा मुंबई, पुणे, औरंगाबाद, अहमदनगर जैसे 18 शहरों तक फैल गई

Rahul Pandey

पपॉन मामले के बाद सख्ती, अब बच्चों ने मनमानी नहीं कर सकेंगे प्रोडूसर- होगी जेल

Previous article

Gujarat shocker! गुजरात विधानसभा में हुई मारामारी. बीजेपी विधायक का आरोप कांग्रेस विधायक ने बेल्ट से पीटा

Next article

Comments

Comments are closed.

Close Bitnami banner
Bitnami