Crime

पुलिस ने दो महीनें बाद सुलझाया बलाइंड रेप केस

0

पिछले महीने बोरीवली पुलिस थाने में दर्ज मनबुद्धि लड़की से बलात्कार के मामले को आख़िरकार पुलिस में सुलझा लिया है। पुलिस नें एक शख़्स को गिरफ़्तार किया है जो पीओपी कारीगर के तौर पर काम करता है। मुंबई पुलिस के लिए ये मामला किसी चुनौती से कम नहीं था। क्योंकि एक तो पीड़िता कुछ बता नहीं पा रही थी और आरोपी में भी कोई सुराग़ नहीं छोड़ा था।

दिमागी रूप से कमजोर लड़की से बलात्कार के मामले में यह गिरफ्तारी मुंबई क्राइम ब्रांच के यूनिट 11 ने की है।

REPRESENTATIVE IMAGE

जानकारी के अनुसार पिछले महीने बोरीवली पुलिस थाने में एक मंदबुद्दी लड़की के साथ बलात्कार का मामला सामनें आया था। लेकिन कई दिनों की तफ्तीश के बाद भी बोरीवली पुलिस को कोई कामियाबी हासिल नही हो पा रही थी। जिसके बाद क्राइम ब्रांच ने इस मामलो को गंभीरता से लेकर जांच शूरू की थी।इस बलाइंड केस को सुलझानें के लिए पुलिस नें एक ऐसे एक्क्सपर्ट की मदद ली ज दिमाग़ी तौर पर कमज़ोर लोगों की भाषा और पीड़ा समझ सके। पीड़िता से बातचीत के बाद पुलिस क़र्ज़ जानकारी मिली थी वो बेहद चौंकानें वाली थी। पीडिता में पूछताछ में सफ़ेद रंग का बार बार ज़िक्र किया था। यही सफ़ेद रंग मुंबई क्राइम ब्रांच को इस केस को सुलझानें में  बेहद अहम सुराग़ साबित हुआ।

पुलिस सूत्र के अनुसार पीड़िता ने बताया कि उसके साथ बलात्कार करने वाला के हाँथ में सफेद पावडर लगा था।अब क्राइम ब्रांच यूनिट 11 के अधिकारीयों में इस सुराग़ के आधार पर अपनी तफ्तीश आगे बढ़ाई। पीडीता के घर के आस पास पूछताछ शुरू हुई, तो सामनें आया की पीड़ित के घर के ठीक सामनें की इमारत में पीओपी का काम चल रहा था।

जिसके बाद क्राइम ब्रांच के अधिकारियों ने एक एक कर सभी काम करनें वालों से पूछताछ शूरू की तो पता चला कि वंहा काम करनें वाला पीओपी कारीगर का काम करने वाले पिछले कुछ दिनों से लापता हैं। वो उत्तर प्रदेश का रहनें वाला है। फ़ौरन एक टिम को उसकी तलाश में उत्तर प्रदेश के गोरखपुर भेजा गया।पुलिस ने आरोपी को गोरखपुर के उसके घर से गिरफ्तार कर लिया। क्राइम ब्रांच ने उसे पुछताछ के बाद बोरीवली पुलिस को हवाले कर दिया है।

Rahul Pandey

हिंसा की विचारधारा ने किया गौरी लंकेश का कत्‍ल: आशुतोष

Previous article

Exclusive- घर दिलानें के नाम पर मुंबई में मॉडल से बलात्कार

Next article

Comments

Leave a reply

Your email address will not be published.

Close Bitnami banner
Bitnami