CDR CASE: किसी को बचाने के लिए ठाणे पुलिस ने मुझे फंसाया, बचने वाले और पुलिस दोनों को देना होगा जवाब

सीडीआर मामले में छूटने के बाद वकील रिज़वान सिद्दीकी ने सीधे ठाणे पुलिस पर हमला बोला है. रिज़वान का आरोप है कि उन्हें किसी को बचने के लिए बल्कि का बकरा बनाया गया है. जो इस मामले में असली आरोपी हैं उन्हें राजनैतिक सरंक्षण मिला हुआ है तो इसी लिए पुलिस ने उनपर हाँथ नहीं डाला. लेकिन ठाणे पुलिस को गलत तरीके से उन्हें गिरफ्तार करने का खामियाज अदालत में उठाना पड़ेगा. वो अपनी गिरफ़्तारी के खिलाफ लड़ाई लड़ेंगे और उन लोगों को बेनक़ाब करंगे जिन पर हाँथ डालने की कोशिश पुलिस ने नहीं कर पाई.

 

रिज़वान ने नवाज़ का नाम तो नहीं लिया, लेकिन इशारों इशारो न में ये ज़रूर कह डाला कि नवाज़ पर हाँथ इस लिए नहीं डाला गया क्यूंकि वो बाला साहब पर बनाने वाली फिल्म के एक्टर हैं. अगर पुलिस को मैं आरोपी दिखाई दे रहा था तो अब तक नवाज़ुद्दीन और उनके भाई शमास से पूछताछ करने कि हिम्मत पुलिस क्यों नहीं दिखा पाई. लेकिन अब वो उन तमाम सुबूतों को अपनी याचिका में अदालत में पेश करेंगे जिसके आधार पर उन्हें गिरफ्तार किया गया था.

इससे पहले कल अदालत ने बेहद सख्त रूख अपनाते हुए ‘बॉम्‍बे हाईकोर्ट ने रिजवान सिद्दीकी को 5 बजे से पहले रिहा करने का आदेश द‍िया था. जिसके बाद पुलिस को उन्हें अपनी हिरासत से छोड़ना पड़ा था.


Close Bitnami banner
Bitnami