छेड़खानी के डर से छात्रा ने चलती ट्रेन से लगाई छलांग

देश की आर्थिक राजधानी मुंबई के लोगों में अपराधियों का डर इस कदर है कि इसका उदाहरण रविवार सुबह छत्रपति शिवाजी महाराज टर्मिनस में देखने को मिला। रविवार सुबह मुंबई लोकल से सफर करने वाली एक 13 वर्षीय पायल काम्बले ने छेड़खानी के डर से चलती लोकल ट्रेन से छलांग लगा दी। जिसमे पायल के सर और पैर में गंभीर चोट लगी है। घटना सीएसएमटी और मस्जिद रेलवे स्टेशन के बीच की है।

जानकारी के अनुसार पायल रविवार सुबह 9 बजकर 29 मिनिट पर सीएसएमटी से करी रोड ट्यूशन जाने के लिए ट्रेन पकड़ी थी। पायल ट्रेन के लेडीज सेकंड क्लास मिडल कम्पार्टमेंट में चढ़ी थी। जैसे ही ट्रेन चली तभी एक शख्स लेडीज डिब्बे में चढ़ गया। उस समय पायल डिब्बे में अकेली थी। पायल को अकेले देख युवक उसके पास आया और पायल को शांत रहने की धमकी देने लगा। अपने साथ किसी भी अनहोनी को टालने के लिए पायल ने ट्रेन में लगे इमरजेंसी चैन पुल्लिंग की। लेकिन ट्रेन नही रुकी। युवक पायल को धमकी देते हुए शांत रहने के लिए कहा और उसके करीब आकर उसे छूने की कोशिश करने लगा। लड़की कैसे भी करके ट्रेन के दरवाजे पर आई।

तभी उसे सीएसटी और मस्जिद स्टेशन के बीच रेल पटरियों पर काम करने वाले गैंगमैन दिखे। उनसे मदद की गुहार लगाते है पायल ने अपनी जान की परवाह किये बगैर ट्रेन से छलांग लग दी। पायल को देख गैंग मैन दौड़े और गंभीर रूप से जख्मी पायल को सीएसएमटी के प्लेटफार्म पर ले गए। और रेलवे पुलिस को इसकी सूचना दी।लड़की का इलाज मुंबई के सेंट जॉर्ज अस्पताल में चल रहा है।

इस मामले पुलिस ने लड़की का बयान लेकर अज्ञात शख्स के ऊपर मामला दर्ज कर लिया है। पुलिस को शक है कि आरोपी युवक मस्जिद रेलवे स्टेशन पर उतरा होगा। पुलिस को इस बात का भी शक है कि लड़की बदन में कीमती जेवरात देखकर वो इसे छीनने की कोशिश कर रहा था। फिलहाल पुलिस सीसीटीवी कैमरे की मदद से आरोपी की तलाश कर रही है।

लेकिन इन सब मे हैरानी वाली बात तो ये है कि रेल यात्रियों के सुरक्षा को लेकर तमाम दावे करने वाली रेलवे जिस समय ये हादसा हुआ उस समय लेडीज डिब्बे में एक भी पुलिस का जवान मौजूद नही था।

 


Close Bitnami banner
Bitnami