चिलम के लिए हुआ डबल मर्डर

मंगलवार देर रात को तुर्भे ब्रिज के निचे दो लोगो की हत्या मामले में सानपाडा पुलिस ने महज चंद घंटो में हत्यारे  को गिरफ्तार कर  लिया है | हत्यारे ने खुलासा किया है की रोज़ रोज़  मृत लोगो द्वारा जबरन उससे पैसा छीन लेते थे और उसे परेशां करते थे। हत्या वाली रात भी दोनों उसे नींद से उठाकर चिलम मांग रहे थे। इसी वजह से गुस्सा आ गया और उसने दोनों को मौत के घात उतार दिया।
पुलिस ने जानकारी दी है कि, गिरफ्तार आरोपी का नाम  प्रभु उर्फ़ प्रभाकर देवरावजी धोत्रे (38 ) है | वह मूल रूप से नागपुर का रहने वाला है। प्रभु विवाहित है, और उसके दो बच्चे है दोनों नागपुर में पढाई करते है, लेकिन वो यहाँ तुर्भे ब्रिज के निचे रहता था।
पुलिस आयुक्त हेमंत नागराले ने बताया कि,  बुधवार सुबह सानपाडा पुलिस को जानकारी मिली थी की ब्रिज के निचे दो लोगों का शव मिला है। दोनों की हत्या सर पर पत्थर से कुचलकर की गई है | इस घटना के बाद पुलिस उपायुक्त और सानपाडा पुलिस स्टेशन के वरिष्ट पुलिस निरीक्षक सूरज पडवी की टीम ने जांच शुरू कर दी थी।  इस दौरान जांच में मृतको की पहचान संदीप उर्फ़ बाला गायकवाड़ (22) एवं समीर असलम शेख (20)  के रूप में हुई।
जांच में पता चला है की, नशे के लिए मृतकों ने आरोपी से छीने थे पैसे। इससे पहले भी इसी तरह दोनों ने उससे कई बार शराब और चिलम के लिए परेशान किया था। उस रात भी दोनों खूब शराब पीकर वहां आये थे और आरोपी को परेशान कर रहे थे। जहां शव मिला था वहीं बगल में आरोपी प्रभु रोज सोता था। उस रात वो काफी गुस्से में आ गया और पास में पड़े पत्थर से कुचलकर दोनों की हत्या की और फरार हो गया था ।
इसके बाद पुलिस ने सानपाडा स्टेशन के पास जाल बिछाकर प्रभु को कब्जे में लेकर पूछताछ कली गयी तो,आरोपी  प्रभु ने बताया की वह कंटेनरों को रास्ता दिखाने का काम करता था। उस से मिलने वाले पैसे से वह अपने बच्चो को पढ़ाता था और पत्नी को पैसे भेजता था। लेकिन मृतक उसके साथ अकसर मारपीट कर उससे पैसे छीन लेते थे। अप्रैल महीने में दोनों ने उससे उसके  20 हजार रुपये छीन लिए थे। कई बार मांगे जाने के बाद भी वापस नही दे रहे थे। घटना वाले दिन भी दोनों ने उसके पास का 260 रुपये छीन लिए थे, और उसके ही पैसों से शराब मंगवाया और वहीँ बैठकर पार्टी करने लगे।
उसने उनसे कुछ नहीं कहा और चुपचाप सो गया मगर दोनों ने उसे परेशान करना बंद नहीं किया। जब वो सो रहा था तब वो उसे नींद से उठाकर चिलम मांगने लगे। इससे प्रभु बहुत नाराज हुआ और दोनों को नशे में देख उसने दोनों को सबक सिखाने का ठान लिया | इसके बाद वहीं  पास में रखे पत्थर से दोनों का सर कुचलकर हत्या कर  फरार हो गया ।

Close Bitnami banner
Bitnami