फिल्म परमाणु मामला अदालत पहुंचा, जॉन को होना पड़ा हाज़िर

एक्टर जॉन अब्राहम की मोस्ट अवेटेड फिल्म ‘परमाणु: द स्टोरी ऑफ पोखरण’ को लेकर नए विवाद सामने आ रहे है। जॉन अब्राहम और फिल्म निर्माण में शामिल प्रॉडक्शन हाउस क्रिअर्ज के बीच लड़ाई बढ़ती ही जा रही है। मामला इस क़दर बिगड़ गया है की अब दोनों पार्टीयाँ अदालत जा पहुंची है। ‘परमाणु’ विवाद हाईकोर्ट तक पहुंच गया है और इसी की सुनवाई के लिए खुद जॉन अब्राहम को अदालत के सामने हाज़िर होना पड़ा। फिल्म की प्रोड्यूसर ने जॉन पर कॉपीराइट उल्लंघन का आरोप लगाया है, जिसके बाद फिल्म के ट्रेलर कॉपीराइट उल्लंघन के कारण हटा दिया गया था। क्रिअर्ज एंटरटेनमेंट की प्रेरणा अरोड़ा ने बॉम्बे है कोर्ट में याचिका दायर कर ट्रेलर पर आपत्ति जताई और इसे कॉपीराइट का उल्लंघन बताया। जिसके बाद जॉन को ‘परमाणु’ के टीज़र को हटाना पड़ा था।

क्रिअर्ज एंटरटेनमेंट ने अपने याचिका में आरोप लगाया है कि जॉन के प्रोडक्शन हाउस द्वारा जारी किए गए किसी भी पोस्टर या अन्य मटेरियल को पोस्ट न करें क्योंकि जेए एंटरटेनमेंट इसे गैरकानूनी तरीके से रिलीज कर रही है। इसी को लेकर आज दोनों पक्षों की अदालत के सामने बहस हुई. क्रिअर्ज एंटरटेनमेंट की तरफ से वरिष्ठ वकील बीरेंद्र सराफ तो जॉन की तरफ से आस्पी चिनॉय ने पक्ष रखा। क्रिअर्ज की तरफ से कहा गया की वो जॉन अब्राहम का बकाया पांच करोड़ का राशि रिलीज़ करने को तैयार हैं लेकिन जॉन को एग्रीमेंट के मुताबिक फिल्म के प्रोमोशन पर दस करोड़ खर्च करने होंगे। जस्टिस एस जे कथावला की अदालत में लगातार इसकी सुनवाई चल रही थी और अदालत ने इस मामले में जॉन अब्राहम को खुद पेश होने को कहा था।

इससे पहले जॉन अब्राहम के खिलाफ क्रिअर्ज प्रोडक्शन हाउस की प्रेरणा अरोरा ने FIR दर्ज करवाई थी। उन्होंने अभिनेता पर धोखाधड़ी समेत कई आरोप लगाए। जिसके बाद जॉन ने भी सहयोगी प्रोडक्शन के साथ एग्रीमेंट खत्म कर दिए है जिसे लेकर प्रेरणा अरोड़ा ने उन्हें नोटिस भेजा है। प्रेरणा का कहना है कि जॉन ने उनका बहुत नुकसान किया है।


Close Bitnami banner
Bitnami