Crime

धोखाघड़ी के मामले में कांग्रेस नेता गिरफ्तार

0

मुंबई से सटे मीरा भायंदर पुलिस ने कांग्रेस के नेता को धोखाघड़ी के मामले में गिरफ्तार किया है। नेता पर आरोप है की वो और उनकी सास ने मिलकर मीरा रोड निवासी राजेश हिरवानी को 40 लाख रुपये का चूना लगाया है। राजेश की शिकायत के बाद पुलिस ने आरोपी नेता शशांक मिराशी को गिराफ्तार कर लिया है। जबकि नेता की सास नीता पांगे फरार है।

शशांक मिराशी सिंधुदुर्ग कांग्रेस के नवनियुक्त कोषाध्यक्ष है। पुलिस की माने मीरा रोड के रहने वाले राजेश हिरवानी को सीएल-3 लाइसेंस की दरकार थी। शशांक मीराशि की सास नीता पाँगे के पास सीएल-3 लाइसेंस था और वो उसे बेचना चाहती थी। मिलिंद मिराशी के माध्यम से राजेश हिरवानी के साथ 52 लाख रुपये में बात पक्की हो गयी।

नवंबर के महीने में राजेश ने नीता को 40 लाख रुपये एडवांस के तौर पर दे दिए। और बाकी के बचे 12 लाख रुपये लाइसेंस ट्रांसफर होने के बाद देने की बात कही थी। लेकिन लाइसेंस ट्रांसफर होता उसके पहले ही शशांक और उसके सास ने लाइसेंस को दूसरे हाथ बेच दिया। राजेश हिरवानी को जैसे ही इस बात का पता चला उसने ये बात मध्यस्त मिलिंद मीराशि को बताई।

राजेश हिरवानी के अनुसार जब मिलिंद मीराशि और उसके दो दोस्त प्रशांत गावडे और अनूप गोसावी सिन्धदुर्ग गए तो उनपर ही जबरन वसूली का मामला दर्ज करवा दिया । अपने पैसे वापस न मिलता देख राजेश हिरवानी ने नया नगर पुलिस में धोखाधड़ी का मामला दर्ज करवा दिया।

मामले की जांच कर रहे पीएसआई अतिग्र्य ने बताया की शशांक मीराशि को गिरफ्तार कर लिया गया है और फिलहाल वो 6 दिन की पुलिस हिरासत में है । पीएसआई अतिग्र्य ने बताया की शशांक की सास नीता पाँगे अभी फरार है लेकिन उसे भी जल्दी ही गिरफ्तार कर लिया जाएगा । दोनों आरोपियों पर भारतीय दंड संहिता की धारा 34 और 420 के तहत मामला दर्ज किया गया है।

 

महाराष्ट्र में सामने आया खौफनाक ऑनर किलिंग का मामला

Previous article

Video : फुटबॉल देखते ही देखते भीड़ गए मुंबई और पुणे के फैंस

Next article

Comments

Leave a reply

Your email address will not be published.

Close Bitnami banner
Bitnami