Exclusive: देखते रह गए लोग और अस्पताल से बेड के साथ आरोपी को उठा ले गई पुलिस

मुंबई से सटे ठाणे से हैरान करने वाला मामला सामने आया है। जहाँ पुलिस ने एक शख्स को अस्पताल के अंदर से ही जबरन उठा लिया और थाने ले गई। जब पुलिस अस्पताल उसे गिरफ्तार करने पहुंची थी तो वो डॉक्टरों की निगरानी में था। लेकिन पुलिस ने न तो डॉक्टरों की सुनी और न ही आरोपी या उसके परिवार वालों की, वो चिल्लाता रहा और पुलिस उसे अस्पताल के कपड़े में ही उठाकर ले गई। अब पुलिस की गिरफ्तारी का ये पूरा वीडियो सामने आया है। गिरफ्तार आरोपी पर लूटा का मामला दर्ज था और ठाणे क्राइम ब्रांच इस पूरे मामले की जांच कर रही थी।

दरअसल इस पूरे मामले की शुरुआत, 23 जुलाई को हुई। ठाणे के अंबाड़ी इलाके में स्थित एक वाइन शॉप में लूट के इरादे से गोलियां चली थी। तफ्तीश में सामने आया की इस वारदात के पीछे भिवंडी का रहने वाले बब्बन पाटिल और उसके 6 साथी हैं। मामले की जांच कर रही क्राइम ब्रांच की टीम जब मुख्या आरोपी बब्बन पाटिल को गिरफ्तार करने पहुंची तो उसने पुलिस टीम पर ही हमला कर दिया। जब क्राइम ब्रांच की टीम ने उसे काबू करने की कोशिश की तो उसने अपना ही सर दीवार से पटककर घायल कर लिया। उस वक़्त पुलिस उसे बिना गिरफ्तार किये वापस लौट आई।

पुलिस के जाने के बाद बब्बन के घरवालों ने उसे ठाणे के कौशल्या हॉस्पिटल में भर्ती करवा दिया। लेकिन  26 जुलाई को क्राइम ब्रांच की टीम अचानक हॉस्पिटल पहुंची और आरोपी को बेड के साथ गिरफ्तार कर लिया।

आरोपी की पत्नी का आरोप है कि, बबन की हालत ठीक नहीं थी और डॉक्टरों के मना करने के बाद भी पुलिस जबरन उसे उठा ले गई। पुलिस ने बब्बन के साथ अस्पताल के अंदर मारपीट तक की और बिना डिस्चार्ज किए उसे अरेस्ट किया। लेकिन पुलिस के मुताबिक़ 23 जुलाई को लूट के इरादे से हुई फायरिंग में बब्बन सीधे शामिल था। और वो अस्पताल से भागने के फ़िराक में इसी लिए उसे गिरफ्तार किया गया है। उसकी गिरफ्तारी भी तक की गई है जब डॉक्टरों ने हरी झंडी दी थी।

 


Close Bitnami banner
Bitnami