`एन्काउंटर स्पेशलिस्ट प्रदीप शर्मा` ने सीधे भाई पर हाँथ डाला, इक़बाल कास्कर गिरफ्तार

अंडरवर्ल्ड डॉन दाउद इब्राहिम के भाई इकबाल कासकर को बिल्डरों को धमकाने और उनसे  जबरन वसूली के मामले में गिरफ्तार कर लिया गया है. ये गिरफ्तारी किसी और और नहीं बल्कि एनकाउंटर स्पेशियलिस्ट प्रदीप शर्मा और ठाणे एंटी एक्सटॉर्शन सेल ने कार्रवाई को अंजाम दिया है. प्रदीप शर्मा की टीम ने इक़बाल कास्कर के इलावा उसके साथ उसके 4 और साथियों को भी गिरफ्तार किया है. एन्काउंटर स्पेशलिस्ट प्रदीप शर्मा की पुलिस विभाग में वापसी के बाद पहली कार्रवाही है. प्रदीप शर्मा ने इक़बाल कासकर को मुंबई के नागपाड़ा इलाके से गिरफ्तार किया.

इक़बाल को उसकी बहन के घर से गिरफ्तार किया गया गया है. सूत्रों की मानें पकमोदीअ स्ट्रीट का अपना घर खाली करने के बाद इक़बाल बहन हसीना के घर शिफ्ट कर गया था. जिस वक़्त प्रदीप शर्मा की टीम वहां पहुंची थी इक़बाल अपने परिवार के आठ लोगों के इलावा कुछ दोस्तों के साथ रिलीज़ के पहले अपनी बहन हसीना पारकर की ज़िंदगी पर बनी फिल्म ‘हसीना’ देख रहा था. हसीना का निर्देशन अपूर्व लखिया ने किया है जबकि श्रद्धा कपूर हसीना आप का किरदार निभा रही हैं.

पुलिस सूत्रों के मुताबिक इक़बाल कास्कर पर अपने भाई दाऊद इब्राहिम के नाम से हफ्ता वसूली का धंदा अब भी चला रहा है. इक़बाल पर दाऊद के नाम से जबरन वसूली करने का आरोप है. पुलिस के मुताबिक़, इक़बाल के खिलाफ मुंबई से सटे ठाणे, उल्हासनगर और डोम्बिवली के बिल्डरों से जबरन वसूली की खबरें आ रही थीं. हाल में एक बिल्डर ने इक़बाल के खिलाफ सीधे ठाणे पुलिस आयुक्त परमबीर सिंह से शिकायत की जिसके बाद ठाणे एंटी एक्सटॉर्शन सेल ने जांच कर कार्रवाई की है.

पुलिस का दावा है की उनके पास इक़बाल कासकर के खिलाफ कई सबूत हैं, जिनमे एक बिल्डर को फोन पर धमकाते हुए एक  ऑडियो भी हाँथ लगा है. कल इक़बाल कासकर और बाकी के आरोपियों को अदालत में पेश किया जाएगा. इक़बाल कासकर और उसके साथियों ओर मकोका के तहत मामला दर्ज किया जा सकता है.

कौन है इकबाल कासकर?

पाकिस्तान में छुपकर बैठा अंडरवर्ल्ड डॉन दाऊद इब्राहिम  का छोटा भाई इकबाल कास्कर मुंबई में रहता है. – इकबाल कासकर दाऊद का चौथे नंबर का भाई है और वो अपने परिवार के साथ मुंबई के नागपाड़ा इलाके में रहता है. इक़बाल कासकर समेत दाऊद के सात भाई और चार बहनें हैं. 2003 में इकबाल कासकर को मुंबई पुलिस ने दुबई से गिरफ्तार किया था. इक़बाल को मुंबई पुलिस दुबई से डिपोर्ट कर मुंबई लाई थी .

इक़बाल पर मोका लगाया गया था जिसके तहत वो 4 साल तक मुंबई ऑर्थर रोड जेल में रहा. साल 2007 में इकबाल कासकर अदालत से रिहा हो गया. सारा-सहारा बिजनेस सेंटर में काला पैसा लगाने का केस चला लेकिन जांच एजेंसियां कोर्ट में इस मामले में आरोप साबित नहीं कर पाईं.

इकबाल कासकर पर साल 2011 में नागपाड़ा इलाके में ही जानलेवा हमला हुआ था. फायरिंग में इकबाल के ड्राइवर की मौत हो गई थी. दो हमलावरों को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया था. इनके पास विदेशी हथियार थे.

 


Close Bitnami banner
Bitnami