महाराष्ट्र के 10वीं बोर्ड पेपर लीक मामले में चार गिरफ्तार, Whats app के ज़रिये लीक हो रहा था पेपर

मुंबई की अम्बोली पुलिस ने महाराष्ट्र की 0वीं बोर्ड (एसएसएसी) परीक्षा के इतिहास और राजनीति विज्ञान का पेपर लीक होने के मामले में चार लोगों को गिरफ्तार किया है। पुलिस के अनुसार मामले का  मुख्यआरोपी एक हिस्ट्रीशीटर है और जेल भी जा चुका है।

अम्बोली पुलिस को पता चला था की ठाणे के मुम्ब्रा किड्ज पैराडाइज माध्यमिक स्कूल में दसवीं का परीक्षा केंद्र है जहाँ छात्र १० वीं की परीक्षा दे रहे है। वहां के कुछ बच्चों को परीक्षा के पहले उनके प्रश्नपत्र मिल जाते है। पुलिस ने जब जांच कि, तो पता चला कि स्कूल का उप प्राचार्य प्रश्नपत्र फिरोज अब्दुल मजीद खान प्रश्नपत्र को वाट्सअप के जरिये अपने प्राइवेट क्लास में पढाने वाले रोहित सिंह को भेजता था। और रोहित अन्य छात्रों को भेजता था। पुलिस ने इस मामले में अभी तक चार लोगों को गिरफ्तार किया है।

अम्बोली पुलिस स्टेशन के वरिष्ठ पुलिस निरीक्षक भारत गायकवाड़ का कहना है कि, इस मामले की जांच चल रही है अभी तक चार लोगों को हिरासत में लेकर उनसे पूछताछ चल रही है। अभी तक 5 विषय के प्रश्नपत्र लीक होने की जानकारी मिली है।

Image result for Arrest Class 1oth leak

गायकवाड़ ने बताया कि आरोपी के ऊपर एक दो मामले सामने आये है। वही पता चला कि 10वीं बोर्ड एग्जाम के पेपर लीक के कथित मास्टरमाइंड अंबरनाथ निवासी फिरोज खान (47)  को इससे पहले 13 मार्च 2013 को एसएससी बोर्ड के ऐलजेब्रा पेपर लीक मामले में अंबरनाथ में गिरफ्तार किया जा चुका है। इसके बाद उसे 11 जनवरी 2015 को 14 साल के एक छात्र द्वारा कोचिंग क्लास में दर्ज किए गए सोडोमी केस में भी गिरफ्तार किया गया था। दोनों मामलों में अभी तक ट्रायल नहीं हुआ।   पुलिस ने दावा किया कि निरीक्षक के रूप में फिरोज खान ने मुंब्रा स्कूल में सील्ड बंडल से इतिहास और पॉलिटिकल साइंस के पेपर निकाले और फिर वॉट्सऐप पर लीक कर दिए थे। बाद में सामने आया कि उसने चार और पेपर लीक किए थे।


Close Bitnami banner
Bitnami