इक़बाल कासकर मामले में नया मोड़, गुर्गे के साथ बार में नाच रहा है शिकायतकर्ता

अंडरवर्ल्ड दाऊद इब्राहिम के भाई इक़बाल कसकर की गिरफ्तारी के मामले में एक नया मोड़ आ गया है। कुछ तस्वीरें सामने आईं है जिसके बाद ठाणे पुलिस और एन्काउंटर स्पेशलिस्ट प्रदीप शर्मा की कार्रवाही पर सवाल खड़े हो रहे हैं। तस्वीर में वही लोग साथ दिखाई दे रहे हैं जो इस मामले में आरोपी और शिकायतकर्ता हैं।

ठाणे पुलिस ने अंडरवर्ल्ड डॉन दाऊद इब्राहिम के भाई इक़बाल कासकर को एक्सटॉरशन के मामले में गिरफ्तार किया था। इस मामले में शिकायतकर्ता जौहरी गौतम जैन और उनके पार्टनर निर्मल जैन हैं। इनकी शिकायत पर ही पुलिस ने दाऊद के गुर्गे मुमताज़ शेख को गिरफ्तार किया था। आरोप था की मुमताज़ इकबाक कसकर के कहने पर दोनों जौहरियों को धमका रहा था। लेकिन अब एक तस्वीर सामने आई है जिसमें आरोपी मुमताज़ और शिकायतकर्ता गौतम जैन और उनके पार्टनर निर्मल जैन एक साथ मुलुंड के एक बार में पार्टी करते दिख रहे है। मुमताज़ शेख इक़बाल कासकर का आदमी है। मुमताज़ पर आरोप है कि वो दो बार गौतम के दूकान से सोना लेकर भाग गया था।

शिकायतकर्ता गौतम ने अपने पुलिस से अपने शिकायत में कहा है कि वो और उसका पार्टनर निर्मल ज़मीन के लिए खरीदार ढूंढ रहे थे। तभी मुमताज़ शेख और इसरार सईद ने संपर्क किया जिसने अपनी पहचान एस्टेट एजेंट के तौर बताई। गौतम और मुमताज़ के बीच ज़मीन बेचने को लेकर डील हुई। जब गौतम और निर्मल को मालुम पड़ा कि मुमताज़ और इसरार इक़बाल कसकर के आदमी है तो उन्होंने डील को कैंसिल कर दी। जिसके बाद ये लोग गौतम को धमकी देने लगे थे। गौतम ने बताया था कि, साल 2015 के अप्रैल महीने में कासकर ने मुमताज़ और इसरार को उनके दूकान पर धमकी देने के लिए भेजा था। जब उसने हिलने से मना कर दिया तो दोनों ने अपने साथ 8 लाख रूपए का सोना लेकर चले गए था। उसके बाद दोनों एक महीने बाद वापस उनकी दूकान पर आये और दस लाख रूपए का सोना लेकर चले गए। गौतम ने अपने शिकायत में ये भी बताया है कि, कासकर के आदमियों ने इसी साल जनवरी महीने में 7 लाख रूपए कि मांग की थी ना देने पर जान से मारने की भी धमकी दी थी।

ठाणे क्राइम ब्राँच के डिप्टी कमिश्नर अभिषेक त्रिमुखे ने बताया है कि फोटो सामने आने के बाद पुलिस दोनों पार्टयों के सम्बन्ध कि भी जांच कर रही है। वही इस मामले में कासकर के वकील का कहना है कि उनके क्लाइंट के ऊपर जो केस डाला गया है वो बोगस है। फोटो साबित करता है कि दोनों एक दूसरे को जानते है।

वही एक्सटॉरशन केस के मामले जेल में बंद कासकर , मुमताज़ और इसरार को कोर्ट ने १३ तारीख तक न्यायिक हिरासत में भेज दिया है।


Close Bitnami banner
Bitnami