आई एस आई एस से प्रभावित होने के संदेह में 6 युवकों को हिरासत में ले लिया गया

मुंबई आर पी एफ ने केरल से मुंबई घूमने आये 6 युवकों को अपनी हिरासत में ले लिया है। सभी युवकों को शक के आधार पर तब अपनी हिरासत में लिया गया जब वो आपस में बातचीत के दौरान ‘बॉम्ब’ शब्द का इस्तेमाल कर रहे थे। लड़कों के साथ सफर कर रहे युवक ने उन लड़कों का एक वीडियो भी बना लिया था, जिनमे उनकी हरकत थोड़ी संदिग्ध लग रही थी। इसके बाद युवक ने फ़ोन पर कण्ट्रोल को जानकारी दी कि पनवेल-सीएसटी लोकल ट्रेन में उसने कुछ युवकों को ‘बॉम्ब’ के बारे में बात करते सुना है। ट्रेन जैसे ही सीएसटी स्टेशन पर पहुंची, वहां पर पहले से ही इंतजार कर रहे RPF के जवानों ने उन्हें हिरासत में ले लिया। फिलहाल इस पूरे मामले की जानकारी महाराष्ट्र एटीएस को दे दी गयी है। वो इन लड़कों से पूछताछ करने में जुटी है।

एटीएस सूत्रों कि मानें तो इस लड़कों पर संदेह बढ़ने कि कई बड़ी वजह है। जांच के दौरान इन लड़कों के मोबाइल से कुछ विडियो और कुछ डॉक्युमेंट मिले हैं। जिसकी वजह से इन लड़कों पर शक और गहरा हो गया है। मोबाइल में उनके व्हाट्स एप से एक डॉक्यूमेंट मिला है जो कि मलयालम में लिखा गया है। जिसमे मोरक्को में अमेरिकियों की मौजूदगी पर नाराजगी जताई गयी है और इसे ज़्यादा से ज़्यादा शेयर करने को कहा गया है। इसके इलावा दूसरे में लिखा गया है कि ‘अल्लाह, अगर मैं मर जाऊं तो मुझे माफ कर देना।’

फिलहाल एटीएस मोबाइल में मिले दूसरे डॉक्यूमेंट कि जांच के लिए ट्रांसलेटर की मदद ले रही है।

पूछताछ में लड़कों ने बतया है कि, वो सभी केरल से थिरुवनंतपुरम से लोकमान्य तिलक टर्मिनस (एलटीटी) स्टेशन नेत्रवती एक्सप्रेस ट्रेन से 3 बजे दोपहर में पनवेल स्टेशन पहुंचे थे। जिसके बाद उन लोगों ने सीएसटी पहुंचने के लिए लोकल ट्रेन पकड़ लिया। सीएसटी स्टेशन से उतर कर सभी डोंगरी इलाके के एक मस्जिद में जाने वाले थे। जहाँ वो उर्दू अरबी कि पढ़ाई करते और फिर रत्नागिरी जाने वाले थे।

इन लड़कों कि पहचान यूनिस के.के, (26), मोहम्मद अदिश(20), मोहम्मद ए सिद्दीकी(20), यूनिस यूएस (20), और अब्दुल रउफ मोहम्मद (21) के रूप में हुई है। इन लड़कों को लेकर इस लिए भी एहतियात बरत रही है, क्यूंकि हाल में कई ऐसे मामले सामने आये हैं जब केरल से कई लड़के आतंकी संघठन आई एस आई एस से प्रभावित हो करा सीरिया और इराक चले गए हैं।


Close Bitnami banner
Bitnami