Crime

झोलाछाप डॉकटर के इंजेक्शन से मरीज की मौत

0

मुंबई के देवनार पुलिस ने एक फर्जी डॉक्टर को गिरफ्तार किया है। गिरफ्तार डॉक्टर ने गुरुवार को एक मरीज को इंजेक्शन लगाया था। इंजेक्शन के रिएक्शन की वजह से मरीज की मौत हो गयी थी।  आरोपी डॉक्टर की पहचान शाहबाज़ आलम सिद्दीक़ी के तौर पर हुई है।  शाहबाज़ आलम गोवंडी के डॉक्टर ज़ाकिर नगर में आलम क्लिनिक के नाम पर डिस्पेंसरी चलता था।

देवनार पुलिस के पीएसआई दत्तात्रय शिंदे ने बताया पांच नवंबर के दिन प्रदीप जाधव नामक एक शख्स को बुखार था। जिस इलाके में प्रदीप रहता था। ठीक उसी के बागल वाले इलाके में आरोपी डॉक्टर का डिस्पेंसरी था। प्रदीप डॉक्टर शाहबाज़ को जानता भी था। इसी की वजह से वो उसके दवाखाना में दवा लेने के लिए गया। डॉक्टर शाहबाज़ ने प्रदीप का टपास किया और उसे दवा देकर अगले दिन बुलाया। दूसरे दिन भी डॉक्टर ने उसे प्रदीप को दवा और इंजेक्शन दिया और आराम करने की सलाह दी। दूसरे दिन प्रदीप की तबियत ज्यादा ख़राब हो गयी। वो शाहबाज़ के दवाखाने में गया। लेकिन दवाखाना बंद था। जिसके बाद घर वाले प्रदीप को चेम्बूर के शताब्दी अस्पताल में भर्ती कराया। लेकिन शताब्दी अस्पताल के डॉकटरों ने प्रदीप के घरवालों से उसे केम ले जाने के लिए कहा।  केम ले जाते जाते प्रदीप की रास्ते में ही मौत हो गयी।

प्रदीप के मौत के बाद प्रदीप के पोस्टमॉर्टेम रिपोर्ट में पता चला की उसे गलत इंजेक्शन दिया गया था। जिसके बाद घरवालों की शिकायत के बाद पुलिस ने डॉक्टर को गिरफ्तार किया है। जांच में पता चला की डॉक्टर सिर्फ HSC पास है। पुलिस आरोपी को कोर्ट में पेश किया जहाँ पर कोर्ट ने 15 नवंबर तक पुलिस कस्टडी में भेज दिया।

पति को तलाक़ देने के बाद ख़ुदकुशी करने गयी थी महिला,लेकिन मौत के मुंह से खिंच ले आयी पुलिस

Previous article

Lede India Impact अमरावती में पार्टी में घुसकर लोगों से मारपीट करने वाले चार पुलिस कर्मी निलंबित

Next article

Comments

Leave a reply

Your email address will not be published.

Close Bitnami banner
Bitnami