Crime

जिस पुलिस वाले ने छुड़ाया उसी ने दलाल को बेचा

0

महाराष्ट्र के पुणे में पुलिस ने एक लॉज में चल रहे सेक्स रैकेट का भंडाफोड़ किया है. लेकिन इस भंडाफोड़ के साथ साथ खुद पुलिस वालों की वर्दी भी दागदार दिखाई देने लगी है। सेक्स रैकेट से मुक्त करवाई गई नाबालिग ने जो खुलासा किया है उसे सुनकर खुद आला अफसर भी परेशान हैं। पुलिस की पूछताछ में लड़की ने बताया है की उसे इस धंदे में धकेलने वाला कोई और नहीं खुद एक पुलिसवाला है। एक पुलिसवाले ने इस गिरोह में शामिल दलालों को बेचा था।

अपने बयान में पीड़िता ने पुलिस को बताया है कि वह बांग्लादेश के ढाका की रहने वाली है। जब वो छोटी थी तभी उसके पिता की मौत हो गयी थी जिसकी वजह से उसकी माँ भी मानसिक तौर पर बीमार हो गयी। घर में कोई और नहीं था जो उनकी ज़िम्मेदारी संभाल सके, कम उम्र में ही उसके कंधों पर परिवार का बोझ पड़ गया था। शुरू में अपने परिवार का पेट पालने के लिए वह लोगों के घरों में काम करने लगी। वो दूस रों के घरों पर बरतन झाड़ू करके किसी तरह अपने परिवार के लिए दोवक़्त की रोटी जुटाती थी। इसी दौरान उसके पड़ोसी ने उसकी मदद करने के बहाने उसकी मजबूरी का फायदा उठाया और अच्छी नौकरी दिलवाने का वादा कर उसे मुंबई ले आया और उसे  देह व्यापार से जुड़े दलालों को बेच दिया।

जब वो मुंबई में देह व्यापार से जुड़े दलालों के लिए काम करती थी तो पुलिस छापे के दौरान उसे छुड़ाया गया था। लेकिन बजाय उसे वहां से निकलने के खुद एक पुलिस वाले ने फिर से उसे पैसे के लालच में देह व्यापार के दलदल में धकेल दिया। पुलिसवाले ने दलालों से पैसा लिया और उसे उन्हें सौंप दिया। उसके साथ ये कोई एक बार नहीं हुआ था बल्कि दो दो बार खुद पुलिसवालों ने उसे इस आग में धकेला है।

पीड़िता के मुताबिक, अब उसका पुलिस से विश्वास उठ गया है तभी उसने अपनी मदद के लिए एक एनजीओ से गुहार लगाई थी। एनजीओ की मदद से पुलिस ने पुणे-सातारा राजमार्ग स्थित एन.एम. नामक लॉज पर छापा मारकर सेक्स रैकेट का भंडाफोड़ किया। जांच में सामने आया की लॉज का मालिक ही सेक्स रैकेट चला रहा था।

इस छापे में पुलिस ने लॉज मालिक सहित कुल 12 लोगों को गिरफ्तार किया है। छापे में पुलिस इस दलदल में फंसी एक नाबालिग लड़की सहित चार लड़कियों को गिरोह के चंगुल से बाहर निकाला है। पुलिस ने नाबालिग पीड़िता की तहरीर पर अज्ञात पुलिसकर्मी के खिलाफ भी केस दर्ज कर उसकी तलाश शुरू कर दी है।

Rahul Pandey

पकडे गए ISI एजेंट्स की पूछताछ में कई बड़े खुलासे

Previous article

नहीं रहे विनोद खन्ना

Next article

Comments

Leave a reply

Your email address will not be published.

Close Bitnami banner
Bitnami