Crime

नौकरी के नाम पर ठगी करने वाले कॉल सेंटर का भंडाफोड़

0

मुंबई पुलिस ने ऐसे गिरोह का भंडाफोड़ किया जो फ़र्ज़ी कॉल सेंटर के ज़रिये बेरोज़गार युवाओं को ठगा करता था. ये गिरोह नौकरी दिलाने के नाम पर अपनी ठगी का धंदा चला रहा था. पुलिस ने इस मामले में दिल्ली पुलिस की मदद से कुल पांच लोगों को गिरफ्तार किया है. गिरफ्तार सभी आरोपी काफी पढ़े लिखे हैं और दिल्ली के एक दफ्तर से अपना ये पूरा धंदा चला रहे थे.

मुंबई पुलिस को इस पूरे फर्ज़ीवाड़े की खबर तब लगी जब 24 साल के धवल पटेल ने मामला दर्ज कराया. धवल मुंबई एयरपोर्ट में काम करता है. उसे बेहतर नौकरी की तलाश थी इसी सिलसिले में उसने एक जॉब वेबसाइट शाइन डॉट कॉम पर अपना रिज्यूम अपलोड किया था. कुछ दिन बाद धवल को एयरवेज कंपनी की ओर से ऑफर आया और साथ ही पहले फॉर्म भरने के लिए 1900 रुपए उनके यूनियन बैंक ऑफ इंडिया में ट्रांसफर के लिए कहा गया. धवल ने ठीक वैसा ही किया जैसा उसे जॉब कंसलटेंट कंपनी शाइन डॉट कॉम की तरफ से कहा गया. लेकिन कुछ दिन बाद ही दुबारा से उसे  डॉक्यूमेंट वेरिफिकेशन, ऑफर लेटर, टेलीफोनिक इंटरव्यू, ट्रेनिंग अमाउंट, मेडिकल इन्श्योरेन्स, अकॉमोदेशन सिक्योरिटी, जॉब सिक्योरिटी के नाम पर उससे करीब 3 लाख 300 रुपए उनसे ठग लिए गए.

करीब 3 लाख 300 रुपए भरने के बाद जब धवल पटेल ने अपने कन्फर्मेशन के लिए फ़ोन करना शुरू किया तो उसे कोई जवाब नहीं मिला. देखते ही देखते उसका फ़ोन तक लेना बंद कर दिया गया. धवल को ये समझते देर नहीं लगी की उसके साथ धोखा हुआ है.  फिर संपर्क करने की कोशिश की तो उसे कोई जवाब नहीं मिला जिसके बाद वो समझ गया कि उसे फंसाया गया है. धवल ने तत्काल इसकी शिकायत विले पार्ले पुलिस स्टेशन में शिकायत दर्ज करा दी.

मुंबई पुलिस के एसीपी प्रकाश गवाने ने बताया कि, तफ्तीश में सबसे पहले ये पता लगाया गया की ये पैसे कहाँ से निकाले गए हैं, पता चला की जिस अकाउंट में धवन से पैसे भरवाए गए थे वो पैसे दिल्ली के कीर्ति नगर के एटीएम से निकाले गए थे. इसके बाद पुलिस ने फ़ौरन दिल्ली पुलिस से मदद मांगी और उस फ़र्ज़ी कॉल सेंटर पर छापेमारी की गई. पुलिस ने इस छापेमारी में पांच लोगों को गिरफ्तार किया है इसके साथ ही बोगस कॉल सेंटर के दफ्तर से 13 मोबाइल और 13 हार्ड डिस्क बरामद किये हैं.

मुंबई पुलिस सभी आरोपियों को अपनी हिरासत में लेकर पूछताछ कर रही है. साथ ही ये पता लगाने की कोशिश में जुटी है की इस गैंग ने इसी तरह कुल कितने लोगों को अपना शिकार बनाया है.

Tahir Beig

⁠⁠⁠एक के बाद एक मासूमों को निगल रहा है ब्लू वेल खेल

Previous article

हाय हाय मिर्ची! रो-रोकर था बुरा हाल, फिर न जाने क्यों इसे खाने के लिए मची थी होड़

Next article

Comments

Leave a reply

Your email address will not be published.

Close Bitnami banner
Bitnami