CrimeTop Stories

आखिर क्यों ओला को बचाने में जुटी है काशीमीरा पुलिस, जानकारी छुपाने का भी आरोप

0

मुंबई से सटे काशी मीरा में ओला गाड़ी में हुए रेप के मामले में काशी मीरा पुलिस का नया कारनामा सामने आया है. आरोप है कि, पुलिस अब ओला कंपनी को बचाने में जुट गयी है. टैक्सी ड्राइवर और पीड़िता दोनों ने इस बात कि पुष्टि कि थी कि कार ओला टैक्सी की है. इस बीच ओला बयान जारी कर इस बात से इंकार किया है कि,’जिस कार में रेप हुआ वो ओला में नहीं चलती है, और ओला किसी भी संदेहास्पद आचरण वाले लोगों को नहीं रखती’. तो वहीँ दूसरी तरफ घटना में इस्तेमाल हुई गाड़ी में लगे ओला के स्टिकर और गाड़ी के नंबर प्लेट को कागज से पूरी ढक दिया है. साथ ही इस मामले में कोई भी अधिकारी या कर्मचारी कोई जानकारी देने को तैयार है. ज़ाहिर है कि, अब भी इस मामले में पुलिस कुछ छुपा रही है.

मंगलवार रात की है यानी 19 दिसंबर की रात को एक 32 वर्षीय महिला के साथ चलती गाडी में गैंगरेप का मामला सामने आया था. आरोप था कि जब पीड़िता मीरा रोड के आनंद नगर से थाने अपने घर के लिए निकली थी. एक टैक्सी ड्राइवर अपने साथी के साथ मिलकर महिला को टैक्सी में बिठाया फिर उसके साथ गेन रेप को अंजाम देकर फरार हो गया. काशीमीरा पुलिस ने इस मामले में टैक्सी ड्राइवर और उसके साथी को गिरफ्तार किया था.

कल्याण: पेट्रोल पंप पर युवकों की गुंडागर्दी, तेल के पैसे मांगने पर कर्मचारियों की पिटाई

Previous article

मुंबई में भूलकर भी अकेले न जाएँ इन जगहों पर, ज़िन्दगी भर पछतायेंगे

Next article

Comments

Comments are closed.

Close Bitnami banner
Bitnami