कीर्ति व्यास मर्डर केस: ख़ुशी और सिद्धार्थ ने अदालत में ज़ोर ज़ोर से चिल्लाया हम बेगुनाह हैं

कीर्ति व्यास हत्याकांड में गिरफ्तार दोनों आरोपियों को अदालत ने न्यायिक हिरासत में भेज दिया है. इस बीच अदालत में ख़ुशी सहजवानी ने खूब तमाशा किया. उसने चीख चीख कर अदालत में कहा की कीर्ति कि हत्या में उसका कोई रोल नहीं बल्कि पुलिस ने जोर जबरदस्ती से दोनों से गुनाह कबूल करवाया है. सिद्धेश और खुशी के वकिल का कहना है इस मामले में दोनों आरोपियों के खिलाफ पुलिस के पास पुख्ता तौर पर कोई भी सबूत नहीं है. लेकिन अदलात ने आरोपियों की नहीं सुनी और उन्हें न्यायिक हिरासत यानी जेल भेज दिया गया है.

वहीँ कीर्ति के परिवार पर मानों मुसीबत का पहाड़ टूट पड़ा है. कीर्ति के सदमे में अब उसकी दादी की भी जान चली गयी है. परिवार की मानें तो वो कीर्ति को बहुत ज़्यादा मानती थी और इस तरह अचानक कीर्ति के जाने से दादी सदमे को बर्दाश्त नहीं कर सकीं और उनका निधन हो गया. जब घर में लोगों ने उन्हें देखा तो कीर्ति की फोटो उनके बगल में पाई गई.

फरहान अख्तर की पूर्व पत्नी अधुना के साथ काम करने वाली कीर्ति अचानक 16 मार्च को लापता हो गई थीं. मुंबई क्राइम ब्रांच ने इस मामले में उसके साथ काम करने वाले दो लोगों को गिरफ्तार कर खुलासा किया था कि कीर्ति का मर्डर हो चुका है. कीर्ति के दो सहयोगी सिद्धेश ताम्हणकर और खुशी को गिरफ्तार किया गया है. दोनों ने पूछताछ में कुबूला था की 16 मार्च को ही दोनों ने कीर्ति की अपनी कार में हत्या कर दी गई थी और बाद में उसकी लाश को वडाला की खाड़ियों में दाल दिया था.


Close Bitnami banner
Bitnami