कोलकाता पुलिस ने कांग्रेस कार्यकर्ता की शिकायत पर Netflix कार्यक्रम के निर्माता, अभिनेता को नोटिस भेजेगी

वेब सीरीज़ Netflix द्वारा पूर्व प्रधानमंत्री राजीव गाँधी के अपमान का मामला टूल पकड़ा जा रहा है. इस मामले में पहले ही शिकायत दर्ज हो चुकी है और अब कोलकाता पुलिस Netflix कार्यक्रम के निर्माता, अभिनेता को नोटिस भेजने की तैयारी में है. कोलकाता पुलिस सूत्रों की मानें तो तो शो के कई वीडियो की जांच की गई है और पाया गया है की कैसे शब्दों का इस्तेमाल किया गया है जो अभद्र और आपत्तिजनक हैं. इससे पहले पुलिस कांग्रेस कार्यकर्ता द्वारा वेब सीरिज ‘‘सेक्रेड गेम्स’’ के निर्माताओं और अभिनेता नवाजुद्दीन सिद्दीकी के खिलाफ पूर्व प्रधानमंत्री राजीव गांधी का उल्लेख करते हुए कथित रूप से अपमानजनक भाषा का इस्तेमाल करने को लेकर की गई शिकायत दर्ज कारी थी.

 

मामले की जांच कर रहे अधिकारी की मानें तो कांग्रेस कार्यकर्ता राजीव सिन्हा ने उत्तर कोलकाता के गिरीश पार्क पुलिस थाने में मंगलवार को शिकायत दर्ज कराई थी. शिकायत में आरोप लगाया है कि सिद्दीकी, ऑनलाइन प्लेटफॉर्म नेटफ्लिक्स और ‘‘सेक्रेड गेम्स’’ के निर्माता कार्यक्रम में राजीव गांधी को अपशब्द कहने के लिए ‘‘संयुक्त रूप से जिम्मेदार’’ हैं. जिसके बाद शो के कई एपिसोड की जांच की गई और पाया गया की वेब सेंसर का फायदा उठाते हुए कई ऐसे शब्दों का इस्तेमाल किया गया है जो एक पूर्व प्रधान मंत्री के लिए इस्तेमाल नहीं किया जाना चाहिए. पुलिस टीम इस पूरे मामले पर लीगल सेल से भी सलाह मश्वरा कर रही और जल्द ही इससे जुड़े सभी लोगों को नोटिस भेजकर पूछताछ के लिए बुलाया जाएगा.

वहीँ Netflix की आड़ में बीजेपी ने भी पूर्व प्रधान मंत्री राजीव गाँधी को निशाने पर लेते हुए एक वीडियो ट्वीट किया है. इस वीडियो में नब्ज़ बेहद अभद्र तरीके से बोफोर्स का ज़िक्र करते हुए राजीव गाँधी के लिए अपशब्द का इस्तेमाल करते हैं.

इस मोस्ट अवेटेड शो में ऐसी भाषाओँ का इस्तेमाल किया गया है जो बेहद आपत्तिजनक है. लेकिन सबसे हैरान करने वाली बात है की इस शो के नैरेशन में कई बार देश के पूर्व प्रधानमंत्री राजीव और इंदिरा गाँधी के लिए आपत्तिजनक शब्दों का इस्तेमाल किया गया. ऐसे शब्दों का जिसका यहाँ ज़िक्र तक नहीं किया जा सकता है. सीधे तौर पूरे सीरीज़ के दौरान उन्हें गालियां दी जाती है. कभी पूर्व प्रधानमंत्री स्वर्गीय राजीव गाँधी शाह बानो केस को लेकर तो कभी एमर्जेन्सी के दौरान चलने वाले नसबंदी कांड का ज़िक्र करते हुए इंदिरा गाँधी के खिलाफ कई ऐसी बातें की गयीं हैं जिसका इस्तेमाल देश दो बड़े नेताओं के खिलाफ नहीं किया जाना चाहिए.


Close Bitnami banner
Bitnami