लड़कियों के लिए खौफ बन गया था ये लड़का , अबतक कर चूका है कई लड़कियों का WHATS APP हैक

आखिरकार नाशिक पुलिस ने उस शख्स को धार ही दबोचा जिसने नाशिक, पुणे और मुंबई जैसे बड़े शहर की लड़कियों के लिए खौफ बन गया था। वो सिर्फ लड़कियों का whats app हैक करता और फिर उन्हें न्यूड फोटो भेजता था। नाशिक पुलिस ने राजास्थान ने whats app हैकर को गिराफ्तार किया है। वो  राजास्थान में बैठकर नाशिक के लोगों का whatsaap नंबर हैक कर ग्रुप में न्यूड फोटो भेजता था। और लोगों को परेशान करता था। लोग समझ नहीं पा रहे थे की आखिर उनकी जानकारी कब और कैसे किसी और के हाँथ लग गई है।  जब हैकिंग का सिलसिला थमा नही तो लोगों ने इसकी शिकायत नाशिक पुलिस को की।

व्हाटसअप हैकिंग की शिकायत मिलते ही नाशिक पुलिस साइबर सेल की टीम जांच पड़ताल में जुट गई। पुलिस की तफ्तीश में सामने आया की हैकिंग का ये पूरा खेल राजस्थान में बैठ एक शख्स चला रहा है। लड़कियों का नंबर हैक करने वाले मास्टरमाइंड की पहचान दिप्तेश सालेचा के तौर पर हुई थी। जो बीकॉम फाइनल ईयर का छात्र है। नाशिक पुलिस ने उसे राजस्थान से गिराफ्तार कर लिया।

नाशिक के पुलिस आयुक्त डॉ रवींद्रकुमार सिंगल ने बताया कि, 24 साल के दिप्तेश सालेचा को गिराफ्तार कर लिया गया है । आयुक्त के मुताबिक हैक से पहले एक मैसेज आता था हैलो-हाय का । उसके बाद में दूसरा मैसेज आता ओटीपी शेयर करने का । चूंकि वह ग्रुप में से ही किसी जान पहचान वाले का नंबर होता था इसलिए लोग भरोसा कर ओटीपी नंबर शेयर कर देते थे। ओटीपी नंबर मिलते ही सामने वाले के सारे संपर्क आरोपी के फोन नंबर में आ जाते और वह उसे दूसरे नंबर से लोगों को परेशान करना शुरू कर देता।

पुलिस की माने तो उसने अबतक 31 लोगों को अपना शिकार बनाया है। जिसमे से 30 महिलाएं है। जिन लोगों को इसने अपना शिलर बनाया है। इसमें  सिर्फ नाशिक के ही नही बल्कि पुणे और मुंबई के लोग भी शामिल  है।

हैकिंग से परेशान हो चुके थे डॉक्टर

इस मामले में पुलिस थाने में शिकायत करने वाले डॉ मनीष रौंदल परेशान हो चुके थे कि, आखिर उनके ग्रुप वालों को हो क्या गया है। आखिर वे लोग क्यों अचानक ग्रुप में अश्लील फ़ोटो और वीडियो भेज रहे है। इसी बीच हैकर ने उनके ही नंबर से ग्रुप में फ़ोटो और वीडियो भेज दिया। तभी उनके ग्रुप के दोस्तों ने फ़ोन किया कहने लगे कि तुम्हे हो क्या गया है । आखिर तुम क्यों इस तरह की हरकतें कर रहे हो। तभी डॉक्टर को समझने में देर नही लगा कि उनका व्हाटसअप नंबर हैक हो चुका है।उन्होंने तुरंत इसकी सूचना पुलिस थाने में जाकर दर्ज करवाई।


Close Bitnami banner
Bitnami