नागपुर में गटर से निकल रहे हैं ज़िंदा कारतूस और खोके

नागपुर में एक घर में बने गटर से निकल रहे कारतूस से लोगों में हड़कंप मचा हुआ है। जैसे जैसे उसकी सफाई हो रही कारतूस निकलते ही जा रहे हैं। अब तक नाले और उसके आस पास से कई ज़िंदा और इस्तेमाल किये गए कारतूस बरामद किया जा चुके हैं। नाले से कारतूस निकलने की खबर पूरे शहर में फ़ैल गयी है जिसके बाद पुलिस जांच में जुट गई है।

अब तक की जांच में  जो बात सामने आयी है, उसके मुताबिक़ जिस गटर से ये कारतूस बरामद हुए हैं। उसके ठीक सामने वाला घर सेना के लिए अरक्षित है। पिछले कई सालों में सेने के कई लोग यहाँ रहकर गए हैं। कुछ महीने पहले भी उसी आवास को सेना में कार्यरत एक व्यक्ति ने खाली किया है। हो सकता है की गलती से उनका या ये कारतूस गटर में बह गया हो। लेकिन मामला संवेदनशील इस लिए भी है की सेना में कार्यरत कोई अफसर अपने घर में इस्तेमाल किया हुआ इतना सारा खोका क्यों रखेगा।

पुलिस के मुताबिक, अजनी रेलवे स्टेशन के सामने मेडिकल कॉलोनी है। जहाँ यहां कई तरह के आवास बने हैं जिनमे सेना के जवानों के लिए भी हैं। सेना के लिए दो टाइप के चार आवास आरक्षित रखे गए हैं। इन आवासों में सेना के वह जवान रहते हैं, जो मेडिकल से जुड़े हैं। गटर के सामने जो घर है वहां आखरी बार सेना में कार्यरत आरके श्रीवास्तव रहते थे। उनका अब तबादला हो गया है। उसी घर के सामने बने एक गटर के छोटे चेंबर की मरम्मत की जा रही उसका पाइप बदला जा रहा था।  तभी चेंबर के अंदर लगी प्लास्टिक की पाइप टूट गई थी। इसे निकाला गया तो अंदर से कुछ कारतूस और खोखे भी बाहर आए। आस-पास के परिसर में भी कई गोलियां और खोखे पड़े मिले हैं।

वहीँ खुद नागपुर पुलिस कमिश्नर डॉ. के. व्यंकटेशम को भी ये मामला गंभीर लगता है , उनका कहना है की कारतूस का इस तरह से मिलना ठीक बात नहीं है। यह वहां तक कैसे पहुंचे, इस मामले की जांच करवाएंगे।


Close Bitnami banner
Bitnami