महाराष्ट्र में `इज्जत के नाम` पर कत्ल

महाराष्ट्र के बुलढाणा जिले में एक पिता ने इज़्ज़त के नाम पर अपनी ही बेटी का क़त्ल कर दिया। बेटी का कसूर सिर्फ इतना ही था कि उसने अपने बाप की गैर मर्जी से शादी की थी। पिता को ये बात इतनी नागवार गुज़री की उसने कुल्हाड़ी से अपनी बेटी के बीस टुकड़े कर डाले। घटना बुलढाणा के मलकपुर इलाके की है

इक्कीस साल की मनीष ने २६ मार्च को सत्ताईस साल के गणेश गजानन हिंगणे से एक मंदिर में शादी की थी। उसके बाद दोनों अपने परिवार से अलग मलकपुर इलाके में रहने लगे थे। शादी से नाराज़ मनीष के पिता ने कई बार आकर दोनों को धमकाया भी था, लेकिन गांव वालों के बीच बचाव के बाद मामला शांत लगने लगा था। 

पिता की नाराज़गी की वजह ये थी लड़की मनिषा हिंगणे जो धनगर समाज से आती और लड़का मराठा समाज का था। पिता के लिए ये मामला झूटी शान का बन गया था । उसे लगने लगा की बेटी की दूसरे समाज में शादी की वजह से काफी बादनामी होगी । कई बार उसने लड़के को लड़की से अलग होने के लिए भी कहा था। फिर भी वो नहीं मानें ।  मनीष के पिता की धमकियों के बाद लड़के गणेश ने कई बार थाने में शिकायत भी दर्ज कराई थी। मगर पुलिस ने इस बीच कभी लड़की के पिता के खिलाफ कोई कार्येवाही नहीं की। 

buldhana

शादी के 15 दिन बाद जब गणेश के घर पर कोई नही था तो वो घर मे घुसकर धार धार हथियार से अपनी ही लड़की पर हमला कर मौत के घाट उतार दिया। आरोपी पिता बेटी पर तब तक वार करता रहा जब तक उसकी सांसें ख़त्म नहीं हो गयी। उसने लकड़ी काटने वाले कुल्हाड़ी से बेटी के बीस टुकड़े कर डाले और फिर जाकर थाने में आत्मसमपर्ण कर दिया। पुलिस हिरासत में उसे अपने किये पर ज़रा भी पछतावा नहीं है।

police

वही इस घटना से पूरे गांव में मातम पसरा हुआ है और गांव वाले पुलिस पर भी सवाल खड़े कर रहे हैं। उनका आरोप है की वक़्त रहते अगर पिता के खिलाफ पुलिस कोई कार्येवाही करती तो साहयड आज ये घटना नहीं होती। लोग अब जल्लाद बाप को कड़ी से कड़ी सजा देने की मांग कर रहे है।

 


Close Bitnami banner
Bitnami