इस शख्स ने रची थी खौफनाक साज़िश, एक गलती के बाद 4 साल बाद पकड़ा गया

मुंबई क्राइम ब्रांच ने एक ऐसे शातिर शख्स को गिरफ्तार किया है. जिसने अपने ही कत्ल की फिल्मी कहानी लिखी और लापता हो गया. UP पुलिस की फाइल में इस आदमी का कत्ल हो चुका और उसके क़त्ल के आरोप में 4 लोगों पर FIR भी दर्ज गिरफ्तार किया जा चूका है. लेकिन अब मर चूका ये शख्स अचानक ज़िंदा हो गया और अब पुलिस की गिरफ्त में है. क्राइम ब्रांच की गिरफ्त में आए इस शख्स ने अपने क़त्ल की जो कहानी सुनाई है वो किसी फ़िल्मी प्लॉट से कम नहीं है.

क्राइम ब्रांच की गिरफ्त में आए पन्नेलाल यादव ने बड़े शातिराना अंदाज़ में अपने दुश्मनों को फंसाने की साज़िश रची थी. वो अपने रची साज़िश को अंजाम तक पहुंचाने में कामयाब भी रहा. उत्तर प्रदेश की पुलिस ने पन्नेलाल यादव के क़त्ल के आरोप में उसके ही ससुराल वालों को उठकर सलाखों के पीछे पहुंचा दिया था. मगर मुंबई क्राइम ब्रांच की नज़र से पन्नेलाल यादव बस नहीं सका. आरोप है की पन्नेलाल यादव अपनी पत्नी को साल 2016 में प्रताड़ित करता था जिसके बाद पत्नी की शिकायत पर पुलिस ने इसको गिरफ्तार भी किया था. जिसके बाद कोर्ट में केस भी चला. पन्ना इसी का बदला लेना चाहता था, वो अपने ससुराल वालों को ऐसा सबक सीखना चाहता था कि वो हमेशा याद रखें.

इसके बाद पन्नालाल यादव ने अपने एक रिश्तेदार के साथ मिल कर खुद के कत्ल की झूठी साजिश रची. जिसकी जानकारी इसने खुद के घर वालों तक को नही दी. उसके पिता ने अपने बेटे के क़त्ल का आरोप उसके ससुरालवालों पर मढ़ दिया. आखरिकार पुलिस ने गायब होने के 7 महीने बाद कत्ल का मामला दर्ज कर लिया और उन्हें गिरफ्तार भी कर लिया.

वहीँ पन्ना मुंबई में छुपकर रहने लगा और अलग अलग जगहों पर काम करने लगा. वो तो यहाँ न तो मोबाइल इस्तेमाल करता और न ही परिवार को कभी कॉल करता था. 2 साल बाद क्राइम ब्रांच ने UP पुलिस की डायरी में दर्ज मृतक को जिंदा ढूढं निकाला. जहाँ पूछताछ में इसने सारी कहानी उगल दी पुलिस ने इसकी जानकारी UP पुलिस को दे दी है.


Close Bitnami banner
Bitnami