चलती ट्रेन में बुज़ुर्ग महिला से बदसलूखी, युवक को चलती ट्रेन से नीचे उतरा

मुंबई कि लोकल ट्रेनों में सीट या जगह को लेकर मारपीट के मामले अक्सर सामने आते हैं। लेकिन इस बार जो घटना वलसाड-मुंबई सेंट्रल शटल में जो कुछ भी हुआ वो बेहद हैरान करने वाला है। ग्रुप में यात्रा कर रहे लोगों ने पहले तो सीट को लेकर एक बुज़ुर्ग महिला से बदसलूखी की और जब एक नौजवान ने महिला की मदद करनी चाही तो उसे चलती ट्रेन से नीचे फेंक दिया। लेकिन युवक ने ट्रेन में गुंडागर्दी कर रहे उस झुंड की पूरी तस्वीर अपने मोबाइल में क़ैद कर ली है। अब मामला सामने आने के बाद वसई लोहमार्ग पुलिस स्टेशन ने आरोपियों के खिलाफ मामला दर्ज लिया है।

Ganesh Bhagat went back to file a complaint with the Vasai GRP yesterday

ये पूरी वारदात 6 जून सुबह 8 बजे के की है। जब वलसाड-मुंबई सेंट्रल शटल में पालघर रेलवे  एक बुजुर्ग महिला चढ़ी थी। चढ़ते ही उन्हें दरवाजे के सामने एक सीट दिखी और वो जाकर उसपर बैठ गई। उनके बैठते ही सामने की सीट पर बैठा युवक महिला को उस सीट से उठने को कहने लगा। इस पर बुज़ुर्ग महिला ने ऐतराज़ जताया तो वो उन्हें धमकाते हुए कहने लगा की वो जाकर आगे की महिला वाले डिब्बे में बैठे ये सीट उसकी है। बुज़ुर्ग महिला ने उससे कहा कि वो इतनी जल्दी दूसरे डब्बे में नही जा सकती तब तक के लिए वो बैठने दे। तब तक लड़के के कुछ और साथी भी आ गए और वो महिला से चिल्ला चिल्ला कर बहस करने लगे। महिला ने कई बार उन्हें अपनी उम्र का हवाला दिया लेकिन लड़के नहीं माने और उनसे बदसलूखी करते रहे।

इसी बीच की सीट पर बैठे गणेश भगत नाम के युवक ने बीच बचाव करने की कोशिश कि, तब तक महिला के साथ बहस कर रहे लड़के उसपर टूट पड़े। उन लड़कों ने उसे खिंचते हुए उसकी सीट से उठाकर चलती ट्रेन से नीचे उतार दिया। लेकिन तब तक गणेश ने उन लड़कों की पूरी हरकत को अपने मोबाइल में क़ैद कर चूका था। ट्रेन से फेके जाने के बाद गणेश ने कई बार फ़ोन कर रेलवे हेल्पलाइन से मदद मांगी। लेकिन उस कई बार फोन करने के बावजूद कोई मदद नही मिली |

गणेश भगत की परेशानी यही खत्म नही हुई। जब वह उन युवकों के खिलाफ शिकायत करने पहुंचा तो उसे रेलवे पुलिस के अधिकारी एक स्टेशन से दूसरे स्टेशन भगाने लगे। हारकर परेशान गणेश ने मीडिया से मदद मांगी और उनके दखल देने के बाद वसई लोहमार्ग पुलिस ने जीरो नम्बर से मामला दर्ज पालघर पुलिस के पास आगे की कार्यवाई के लिए भेजा है |


Close Bitnami banner
Bitnami