`मेरा बाप चोर है` फिल्म दीवार का ये डायलॉग और वकील का क़त्ल …

अमिताभ बच्चन की फिल्म दीवार ​का वो डायलॉग आज भी लोगों के ज़ेहन में क़ैद है, जब अमिताभ ये कहते हैं की जाओ उसका साइन लेकर आओ जिसने उनके हांथो पर ये लिखवा दिया है की ‘मेरा बाप चोर है’। सब कुछ इसी फिल्म की तरह ही चल रहा था फ़र्क़ इतना था की नागपुर की वकील ने एक नाबालिग के हांथो में ये तो नहीं लिखवाया की उसका बाप चोर है। लेकिन उसके बाप के चोर होने का इस क़दर ताना मारा की यही वकील के क़त्ल की वजह बन गई। रील लाइफ वाला ये सीन रियल लाइफ में अपमान और बदले की वजह बन गई। उसके बाद जो कुछ भी हुआ….

शुक्रवार की शाम, नागपुर के चौराहे पर जो कुछ भी हुआ उसे देखकर हर कोई सन्न था। शहर की जानी मानी वकील राजेश कुमारी उर्फ राजश्री टंडन शाम करीब साढ़े सात बजे के दौरान बस्ती में ही मेडिकल स्टोर्स में दवा लेने जा रही थीं। इसी बीच दसवीं का एक छात्र हाँथ में चाक़ू लिए उनके पीछे भागते हुए आया और उनपर हमला कर दिया। वो अपनी जान बचाने के लिए यहाँ वहां भागती रहीं और एक फोटो स्टूडियो में जाकर छुप गयीं। नाबालिग लड़का भी कहाँ मानने वाला थे वो उनका पीछा करते हुए वहां भी जा पहुंचा और  चाक़ू से गोद गोद कर उनकी हत्या कर दी। वो तब तक उन्हें मरता रहा जब तक उनकी सांसें न रुक गईं। ये दृश्य देख कर वहां खड़े लोग सन्न थे।

घटना नागपुर के गिट्टीखदान इलाके की है, पुलिस ने आरोपी युवक को अपनी हिरासत में ले लिया है। अब तक की जांच में जो बात सामने आई है उसके मुताबिक़ इस क़त्ल की वजह है अपमान। आरोप है की महिला वकील ने आरोपी युवक को आते जाते इतना ताना मारा करती थी की उसने वकील बदला लेने का ठान लिया था। दरअसल आरोपी युवक के पिता पर कई अापराधिक मामले दर्ज हैं। पुलिस ने उसके पिता को दो वर्ष के लिए शहर से तड़ीपार कर दिया है। पिता के अापराधिक छवि के कारण महिला वकील राजश्री टंडन उसके बेटे को अक्सर ताना मारा करती थी। वो आते जाते उसे चोर का बीटा पुकारा करती थीं। शाम को एक बार फिर जब वकील राजश्री टंडन ने युवक को छोरा का बीटा बुलाया तो वो उनसे उलझ गया। वकील राजश्री ने तैश में आकर लड़के को तमाचा भी जड़ दिया था। इसी बात को लेकर लड़का बेहद परेशान था और उसने बदला लेने की ठान ली थी। जब राजश्री दवा लेने जा रही थी, तभी मौका देखकर उसने हमला बोल दिया। 

वहीँ दूसरी तरफ महिला वकील पर भी कई आरोप हैं। पेशे से वकील राजश्री विवादित रही हैं। बस्ती में ही कई लोग उनसे त्रस्त थे। उनपर आरोप है की वकालत के पेशे को उन्होंने ने अपना धंदा बना रखा था। वो अक्सर लोगों को डरा धमका कर उनसे पैसे ऐंठती थी। राजश्री पर ब्लैकमेलिंग, डराने-धमकाने और गलत तरीके से पैसे वसूलने के मामले भी दर्ज हैं।