मैसेज में लिखा मेरी मौत का कोई ज़िम्मेदार नहीं और लगा दी ट्रेन से छलांग

जिस पल्लवी विकम्से की खोज पूरी मुंबई कर रही थी आखिरकार वो मिल ही गयी। लेकिन सदा हँसते मुस्कुराते रहने वाली 21 साल की पल्लवी का अब कोई भी हंसमुख चेहरा नहीं देख पायेगा। पूरे एक दिन बाद उसकी लाश मुंबई के करी रोड रेलवे स्टेशन के पास पटरी पर मिली है। शव के दो टुकड़े हो गए थे लेकिन परिवार के लोगों ने उसके कपड़ों से उसकी शिनाख्त कर ली है। पुलिस की मानें तो पल्लवी ने चलती ट्रेन के सामने छलांग लगाकर अपनी ज़िन्दगी ख़त्म कर ली है। लेकिन उसने ऐसा क्यों किया ये अब तक साफ़ नहीं है। परिवार ने ये ज़रूर माना है की पल्लवी ने अपनी माँ को एक मेसेज भेजा था जिसमे उसने लिखा था की इसके लिए कोई ज़िम्मेदार नहीं है। परिवार ने कई बार उसे फोन किया लेकिन फोन बंद मिला।

पल्लवी के मैसेज मिल ने के बाद ही परिवार ने उसकी तलाश शुरू की थी। उन्हें ये अंदेशा था कि, हो सकता है की उसके साथ कुछ गलत हुआ हो। परिवार और दोस्तों ने पल्लवी की तस्वीर के साथ सोशल मीडिया पर भी कैम्पेन शुरू कर दिया था। देखते ही देखते मुंबईकर भी पल्लवी की तलाश अपने अपने तरीके से कर रहे थे।

पुलिस की मानें तो रोज़ की तरह उस शाम भी पल्लवी विकम्से फोर्ट स्थित अपने दफ्तर से करी रोड स्तिथ अपने घर के लिए निकली थी। लेकिन वो घर नहीं पहुंची। पल्लवी दक्षिण मुंबई के ही एक लॉ फर्म एसोसिएशन कौंसिल में इंटर्नशिप कर रही थी। जब देर शाम तक वो नहीं लौटी तो परिवार में थोड़ी बेचैनी हुई। जब माँ ने मोबाइल चेक किया तो मेसेज पढ़कर और बेचैनी बढ़ी। जिसके बाद परिवार ने आनन् फानन में एम आर ए मार्ग थाने में गुमशुदगी की शिकायत दर्ज कराई गयी। सीसीटीवी फुटेज की जांच की गयी तो सीएसटी स्टेशन से पल्लवी स्लो ट्रेन पकड़ती दिखाई तो दे रही थी लेकिन वो कहाँ उतरी वो साफ़ नहीं था।

इसी बीच पुलिस को ये जानकारी मिली थी की दादर और परेल के बीच एक लाश पड़ी है। मौके पर पहुंचकर ने जांच की तो उसकी पुष्टि पल्लवी के तौर पर हुई। पुलिस को इस मामले में एक प्रत्यक्षदर्शी भी मिली है। प्रत्यक्षदर्शी ने ही सबसे पहले पुलिस को फोन कर इस बात की जानकारी दी थी की उसने ट्रेन से एक लड़की को छलांग लगाते देखा है। प्रत्यक्षदर्शी ने पुलिस को दिए अपने बयान में बताया है की उन्होंने एक लड़की को परेल स्टेशन से पहले सामने से आती ट्रेन के आगे छलांग लगाते देखा था।पहले उन्हें लगा की शायद लड़की गिर गयी है लेकिन जब तस्वीर वायरल होने लगी तो उन्हें याद आया की ये वही लड़की थी।

वहीँ पल्लवी का परिवार ये मानने को तैयार नहीं है की उनकी बेटी ने ख़ुदकुशी की है। वो इस मामले की पूरी जांच चाहता है। अब मुंबई पुलिस भी पल्लवी को फ़ोन रिकॉर्ड खंगालने में जुटी है। दफ्तर से स्टेशन पहुँचने के बीच में उसने किन किन लोगों से बात की और वो किनके संपर्क में थी। साथ जल्द ही उसके परिवार और दफ्तर के लोगों का बयान भी दर्ज किया जाएगा।

21 वर्षीय पल्लवी इंस्टिट्यूट ऑफ चार्टर्ड अकाउन्टेंट्स ऑफ इंडिया (आईसीएआई) के अध्यक्ष निलेश विकमसे की बेटी थी। उसके पिता मुंबई चार्टर अकाउंटेंट संघ के अध्यक्ष भी रहे हैं और वो 35 साल से आईसीएआई के सदस्य भी हैं।


Close Bitnami banner
Bitnami