15 साल का मासूम किलर, 70 वर्षीय महिला को बनाया शिकार

महज़ 15 साल का मासूम क्या किसी की बेरहमी से क़त्ल कर सकता है? वो इतना बेरहम हो सकता है की वो किसी को तब तक मारता रहे जब तक वो मर न जाए। मुंबई के धारावी पुलिस ने एक नाबालिग लड़को को लूट के इरादे से एक 70 वर्षीय महिला की हत्या की कोशिश के मामले में गिरफ्तार किया है। खुद पुलिस भी ये मान रही है की एक वृद्ध महिला के क़त्ल के लिए 15 साल के इस लड़के ने दरिंदगी की सभी हदें पार कर दी थी। गिरफ्तार नाबालिग शहर के एक जौहरी का बेटा है। आरोप है की वो अपनी ही इमारत में रहने वाली बुज़ुर्ग के घर लूट के इरादे से गया था। जब बुज़ुर्ग ने उसे रंगे हाँथ पकड़ लिया तो उसने महिला के क़त्ल की कोशिश की। क़त्ल भी बेहद दर्दनाक तरीके से,  युवक ने पहले उन्हें कपड़े धोने वाले बैट से पिट पिट कर मारने की कोशिश। लेकिन जब उनका दम नहीं निकला तो उसने उनपर कैंची से हमला किया। इतना ही नहीं उसने जबरदस्ती उनका मुंह खोला और उन्हें डिटर्जेंट तक पिलाया। आरोपी के तमाम कोशिश के बाद भी बुजुर्ग महिला की जान तो बच गई है लेकिन उनकी हालत गंभीर बनी हुई है।

वारदात धारावी इलाके के चित्रकूट हाउसिंग सोसाइटी की है। 70 वर्षीय सरिता बेन करिया इमारत के तीसरे माले पर अपने परिवार के साथ रहती हैं। घटना वाले दिन वो घर पर अकेली थीं। लेकिन जब रात को उनका बेटा कमलेश करिया वापस लौटे तो उन्हें उनकी माँ खून से लथपथ मिली। बुज़ुर्ग सरिता के ठीक बगल में एक चाकू के इलावा कपड़े धोने वाला बैट और कैंची पड़ी थी। कमलेश को मामला समझने में ज़रा भी देर नहीं लगी उन्होंने फ़ौरन पड़ोसियों की मदद से उन्हें सायन अस्पताल पहुंचाया। और इसकी जानकारी पुलिस को दी गई।

पुलिस ने जब अपनी तफ्तीश शुरू की तो पता चला उसी इमारत में रहने वाला पंद्रह साल के लड़के का उस घर पर अक्सर आना जाना था। वारदात वाली रात भी वो उनके घर आया था। जिसके बाद पुलिस ने फ़ौरन उसे हिरासत में लेकर पूछताछ करने लगी। कुछ ही घंटे में युवक टूट गया और उसने पूरी कहानी बयान कर दी।

आरोपी युवक ने बताया कि, उस रात वो उनके घर गया था। वहां जाते ही उसने बुज़ुर्ग कुछ खाने को माँगा। जिसके बाद बुज़ुर्ग युवक उसके लिए कुछ खाना बनाने के लिए किचेन में गयीं थी। इसी बीच युवक घर के अलमारी से कुछ पैसे और गहने निकालने की कोशिश करने लगा। लेकिन तभी बुज़ुर्ग की नज़र पड़ गई और उसने चोरी करते देख लिया। महिला ने उसे उसके घर से जाने के लिए कहा। युवक को ये लगा की अब ये बात सबको पता चल जायेगी। इसी से डरकर उसने बुज़ुर्ग महिला पर हमला कर दिया। उसने सबसे पहले महिला पर लकड़ी के बैट से कई बार हमला किया और जब वह अधमरी हो गई तो उसने पहले चाकू से और फिर कैंची से हमला किया। जब उसे लगा की महिला की सांसें चल रही थी तो उसने कपड़े से महिला का गला दबाने का प्रयास भी किया और जबरदस्ती उनका मुंह खोल उसमें डिटर्जेंट ठूस दिया।

मुंबई पुलिस ने आरोपी युवक को गिरफ्तार कर सुधार गृह भेज दिया है। डॉक्टरों की माने तो महिला गंभीर हालत में हॉस्पिटल पहुंची थी। उनकी बॉडी पर जख्म के कई निशान थे। जान बचाने के लिए पूरे शरीर पर 170 टांके लगाने पड़े। अभी भी सरिता की हालत गंभीर बनी हुई है।

 


Close Bitnami banner
Bitnami