मुंबई में जो घर आता था पसंद, ताला तोड़ कब्जा कर लेती थी हसीना पारकर

अंडरवर्ल्ड डॉन दाऊद इब्राहिम और उसकी बहन हसीना पारकर पर बनी फिल्म ‘हसीना -द क्वीन ऑफ मुंबई’ शुक्रवार को रिलीज हुई। फिल्म में हसीना का किरदार एक्ट्रेस श्रद्धा कपूर ने निभाया है। हसीना पारकर दाऊद की बड़ी बहन थीं, जुलाई 2014 में हार्ट अटैक से उनका निधन हो गया था।  हसीना को गॉडमदर, माफिया क्वीन, लीडर और बिजनेसवुमन के नाम से बुलाया जाता है। हसीना के लिए कहा जाता है कि, उसे जो घर पसंद आता था वह ताला तोड़ उसमें कब्जा कर लेती थी। ऐसा था हसीना का साम्राज्य..

– अंडरवर्ल्ड की रिपोर्टिंग करने वाले  हुसैन जैदी ने अपनी किताब ‘माफिया क्वीन’ में हसीना पारकर को लेकर कई खुलासे किए हैं। किताब के मुताबिक, दाऊद की बहन हसीना का दक्षिण मुंबई के कई इलाकों में अच्छा खासा दबदबा था।

– हालांकि, वह सीधे तौर पर किसी आपराधिक गतिविधि में संलिप्त नहीं थी, लेकिन माना जाता है कि दक्षिण मुंबई के कुछ इलाकों में उसकी मर्जी के बगैर पत्ता भी नहीं हिल सकता था।
– मुंबई में हसीना को नागपाड़ा की ‘गॉडमदर’ के नाम से भी बुलाया जाता था।

ऐसे हुई थी पति की हत्या

– लगभग 25 साल पहले 26 जुलाई 1992 को नागपाड़ा में मुंबई के गैंगस्टर अरुण गवली के 4 शूटरों ने दाऊद इब्राहिम के बहनोई इब्राहिम पारकर की हत्या कर दी थी। हत्या के बाद यह आरोप लगा कि अरुण गवली ने अपने भाई पापा गवली की हत्या के जवाब में इब्राहिम को मारा था।

– इस हत्याकांड ने दाऊद ने बदला लेने के लिए 1992 में जेजे अस्पताल में भर्ती गवली गिरोह के शार्प शूटर शैलेश हलदनकर पर हमला कराया। हमले में शैलेश के साथ पुलिस के दो हवलदार भी मारे गए थे।

ताला तोड़ कर लेती थी घर पर कब्जा

– पति की मौत के बाद हसीना मुंबई के नागपाड़ा इलाके की गॉर्डन हॉल नाम की बिल्डिंग में शिफ्ट हो गईं। कहा जाता है कि हसीना को ये घर इतना पसंद आया था कि उन्होंने सिर्फ घर का ताला तोड़कर उसमें रहना शुरू कर दिया था। उनके खौफ के चलते किसी ने उनके खिलाफ शिकायत नहीं की थी।
– कहा जाता है कि, गार्डन हॉल इमारत के इसी शानदार फ्लैट में रहते हुए हसीना दाऊद की बेनामी संपत्तियों की देखरेख करती थी।  अपुष्ट आंकड़ों के मुताबिक, हसीना की पूरी मुंबई में 500 करोड़ की प्रॉपर्टी है।
– हसीना परकार के दो बेटे और एक बेटी है। उसके बेटे दानिश की सड़क दुर्घटना में मौत हो गई थी। हसीना की बेटी का नाम कुर्देसिया है। कुछ महीनों पहले हसीना के बेटे की शादी हुई है।

दाउद ने लिया था बहनोई की हत्या का बदला

– अंडरवर्ल्ड में गैंगवार यदि कहीं से शुरू हुआ, तो उसकी पृष्ठभूमि में हसीना का विधवा होना सबसे बड़ा कारण था। दाऊद बहनोई की हत्या का दर्द कभी भुला नहीं पाया। इसका बदला लेने के लिए दाऊद ने गवली के कई शूटरों को मारा।

– जिसके जवाब में गवली ने भी दाऊद गैंग के कई सदस्यों की हत्या करवाई। पुलिस ने भी दोनों की लड़ाई का फायदा उठाते हुए दोनों के कई गुर्गों का एनकाउंटर किया।

एेसे हुई थी हसीना की मौत

– डॉक्टरों के मुताबिक, हसीना पारकर की मौत जुलाई 2004 में दिल का दौरा पड़ने से हुई थी। हार्टअटैक के बाद उसे डोंगरी के एक अस्पताल ले जाया गया लेकिन डॉक्टरों ने हसीना को मृत घोषित कर दिया।

– हसीना की मौत की खबर के बाद से मुंबई पुलिस और केंद्रीय एजेंसी अलर्ट हो गई थी। जिसे देखते हुए दाऊद और छोटा शकील को परिजनों ने हसीना की मौत की सूचना नहीं दी गई थी।
– सूत्रों के मुताबिक, दाऊद ने स्काइप पर हसीना का अंतिम संस्कार लाइव देखा था। उसके अंतिम यात्रा में 5 हजार से ज्यादा लोग शामिल हुए थे।


Close Bitnami banner
Bitnami