मुंबई में तेज़ रफ़्तार कार ने रिक्शाचालक को कुचला, शराब के नशे में था कार चालाक

मुंबई ट्रैफिक पुलिस भले ही ये दावा करे की उनके द्वारा चलाये जा रहे ड्रंक एंड ड्राइव मुहीम के बाद शहर में नशा कर गाडी चलाने वालों में कमी आई है. लेकिन ऐसा बिलकुल भी नहीं है। शहर में एक बार फिर एक रईस ने शराब के नशे में गाडी चलाते समय एक गरीब को अपनी गाड़ियों के पहियों तले कुचल डाला। इस हादसे में एक ऑटो ड्राइवर की मौके पर ही मौत हो गयी है।  कार चालाक एक रिटायर्ड सेना अधिकारी का बेटा है जो देर रात पार्टी कर लौट रहा था।  चश्मदीदों के मुताबिक़ कार की रफ़्तार करीब 120 किलो मीटर प्रति घंटे से काम नहीं होगी और कार चालक पूरी तरह से शराब के नशे में था। हादसा सायन-ट्रॉम्बे रोड पर सुबह करीब चार बजे के आस पास हुआ।

रिक्शा ड्राइवर मनोहर कांबले अपने रिक्शे से सुबह अपनी घर की तरफ लौट रहा । तभी सायन ट्रॉम्बे रोड पर जैसे ही वो पहुंचा पीछे से एक तेज़ रफ़्तार हुंडई कार ने उसे टक्कर मार दी। टक्कर इतनी तेज़ थी की मनोहर रिक्शे से निकल कर करीब सौ मीटर जा गिरा और उसका रिक्शा भी पूरी तरह से हवा में उछाल गया।  टक्कर मारते ही कार ड्राइवर मनोहर को अस्पताल पहुँचाने के बजाय मौके से भागने लगा। तभी सड़क की दूसरी तरफ पैट्रोलिंग कर रही पुलिस की नज़र उसपर पड़ी और उसे कुछ दूर जा कर पकड़ लिया गया।

सब इसंपेक्टर दत्ता लोंडे के मुताबिक, आरोपी कार ड्राइवर की पहचान आयेश शर्मा के तौर पर हुई है। जो एक रिटायर्ड सैन्य अधिकारी के बेटे का तौर पर हुई है। पूछताछ में उसने बताया की वो पार्टी कर लौट रहा था और अचानक उसका कंट्रोल कार से छूट गया। पार्टी में उसने शराब पी थी जिसकी पुष्टि मेडिकल जांच में भी हो गई है।

वरिये पुलिस इंस्पेक्टर शशिकांत माने ने बताया कि, आरोपी को पुलिस ने गिरफ्तार कर अदालत में पेश किया था जहाँ से उसे ज़मानत मिल गई है। उस वक़्त तक पीड़ित ज़िंदा था लेकिन ज़मानत के बाद उसकी अस्पताल में मौत हो गई है। जिसके बाद आरोपी के ऊपर कई और धाराएं जोड़ दी गयीं हैं। ये धाराएं  IPC के तहत 304 (A) (Causing death by negligence) ,279,338,337 हैं।


Close Bitnami banner
Bitnami